शहीद दिवस पर शायरी - Martyrs' Day Shayari in Hindi 2022

Shaheed Diwas Shayari in Hindi 2022: शहीद दिवस 23 मार्च को मनाया जाता है। इस दिन (23 मार्च 1931) भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरू को फांसी पर लटकाया गया था। जिस दिन इन्हें फांसी दी गई उस दिन को पूरे देश में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। यहां हम शहीद दिवस पर शायरी शेयर कर रहे है जो शहीदों के सम्मान में लिखी गयी हैं। शहीदों के सम्मान में शहीद दिवस पर शायरी।

Shaheed Diwas Shayari in Hindi

भारत में कई तिथियाँ शहीद दिवस के रूप में मनाई जाती हैं। जिनमें 30 जनवरी और 23 मार्च मुख्य हैं। 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या हुई थी और 23 मार्च 1931 के दिन अंग्रेजों ने शहीद भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को फांसी दी थी।

शहीद दिवस के मौके पर हम देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीदों को याद करते हैं, जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए अपने जीवन का बलिदान दे दिया।

इस आर्टिकल में हम शहीद दिवस पर शायरी लेकर आए है जिन्हें पढ़कर किसी के भी दिल में देशभक्ति जागेगी। यह शायरियां आपको उन शहीदों की याद दिलाएंगी जिन्होंने देश की आजादी के लिए लड़ते-लड़ते अपने प्राणों की बलि दे दी।

Table of Contents

शहीद दिवस पर शायरी - Shaheed Diwas Shayari in Hindi, Martyrs Day Shayari in Hindi

शहीद दिवस पर शायरी, शहीदों के सम्मान में शायरी, देशभक्ति शायरी, शहीद जवान शायरी, शहीद भगत सिंह पर शायरी, शहीदों को समर्पित शायरी, शहीदों को सलाम शायरी, 23 मार्च शहीद दिवस के लिए शायरी, शहीदी शायरी, वीरों की शायरी, शहीद पर शायरी, कुर्बानी पर शायरी।

Martyrs Day 2022 Shayari in Hindi language, 23 March Shaheed diwas shayari in hindi, Shaheed diwas par shayari hindi mein, Shaheed diwas ki shayari, desh bhakti shayari in hindi, 23 march bhagat singh shayari hindi, bhagat singh par shayari, shaheed diwas 30 january 2022.

शहीद दिवस पर शायरी

मैं जला हुआ राख नही, अमर दीप हूँ,
जो मिट गया वतन पर, मैं वो शहीद हूँ।

Shaheed Diwas Shayari in Hindi

मेरी जिंदगी में सरहद की कोई शाम आए,
काश मेरी जिंदगी मेरे वतन के काम आए,
ना खौफ है मौत का ना आरजू है जन्नत की,
मगर जब कभी जिक्र हो शहीदों का,
काश मेरा भी नाम आए।

शहीदों के सम्मान में शायरी

वतन वालों वतन ना बेच देना,
ये धरती ये चमन ना बेच देना,
शहीदों ने जान दी है वतन के वास्ते,
शहीदों के कफन ना बेच देना।

शहीद जवान शायरी

जब तूम शहीद हुए थे,
तो ना जाने कैसे तुम्हारी माँ सोई होगी,
एक बात तो तय है,
तुम्हें लगने वाली गोली भी सौ बार रोई होगी।

Martyrs Day Shayari in Hindi

कभी कड़ाके की ठंड में ठिठुर के देख लेना,
कभी तपती धुप में चल के देख लेना,
कैसे होती है हिफाजत अपने देश की,
जरा सरहद पर जाकर देख लेना।

शहीद दिवस पर शेर-ओ-शायरी

आओ, झुक के सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होते है वो लोग,
जिनका खून देश के काम आता है।

शहीद दिवस पर देशभक्ति शायरी

जमाने भर में मिलते हैं आशिक कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में भी लिपट कर,
सोने में सिमटकर मरे हैं कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।

वतन पर शायरी

लड़े वो वीर जवानों की तरह,
ठंडा खून भी फौलाद हुआ,
मरते मरते भी कई मार गिराए,
तभी तो देश आजाद हुआ।

भगत सिंह पर शायरी

इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने,
ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाए रखना।

Shahid Diwas Shayari in Hindi

तैरना है तो समंदर में तैरो,
नदी नालों में क्या रखा है,
प्यार करना है तो वतन से करो,
इन बेवफा लोगों में क्या रखा है।

Top Shayari on Martyrs Day in Hindi

खूब बहती है अमन की गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटों हमको,
मेरे छत एक तिरंगा रहने दो।

शहीदों को सलाम शायरी

तिरंगे में लिपटी लाशो में दो थे नाम,
एक था "अली" तो एक था "श्याम"
हिंदुस्तान-ए-मोहब्बत में दोनों ने दी थी जान,
फिर भी हमने उन्हें बांट दिया,
कहकर हिंदू और मुसलमान।

शहीद दिवस की शायरी

ने हमारे बाजूओं में है दम कम,
ने ही है हमारे हौसलों में दरारें,
इन सरहदों की जंगो में,
हम अपने ही हमवतनों से हारे हैं।

शहीद पर शायरी

जब देश में थी दीवाली,
वो खेल रहे थे होली,
जब हम बैठे थे घरों में,
वे झेल रहे थे गोली।

शहीदों को समर्पित शायरी

उड़ जाती है नींद ये सोचकर,
की सरहद पे दी गयी वो कुर्बानियाँ,
मेरी नींद के लिए थी।

Martyrs' Day par shayari

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले,
शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला वो याद कर ले,
जिसमे बहकर आजादी पहुंची थी किनारे पे,
देशभक्तों के खून की वो धरा याद कर लें।

शहीदों को नमन शायरी

चलो फिर से खुद को जगाते है,
अनुशासन का झंडा फिर से घुमाते है,
सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहूँ से,
ऐसे शहीदों को हम सर झुकाते है।

शहीद दिवस पर बोलने के लिए शायरी

प्रेम गीत कैसे लिखूँ,
जब चारों तरफ गम के बादल छाये है,
नमन है मेरा उन शहीदों को,
जो तिरंगा ओढ के आये है।

शहीद दिवस पर देशभक्ति शायरी

मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा,
ये मुल्क मेरी जान है,
इसकी रक्षा के लिए,
मेरा दिल और मेरी जां कुर्बान हैं।

23 मार्च पर शायरी

न पूछो जमाने को,
क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है,
की हम सिर्फ हिंदुस्तानी है।

शहीदों की शायरी

दुश्मन की गोलियों का सामना हम करेंगे,
आजाद है आजाद ही रहेंगें।

कुर्बानी शायरी

लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा,
मेरे लहू का हर कतरा इंकलाब लाएगा,
मैं रहूँ या ना रहूँ पर एक वादा है तुमसे मेरा,
की मेरे बाद वतन पे मरने वालों का सैलाब आएगा।

वीरों की शायरी

ना जाने किस मिट्टी के बने थे,
देश की सेवा में हर दिन तने थे,
जवानियाँ उन्होनें जेलों में गुजार दी,
देश की खातिर अपनी जान वार दी।

देश के लिए मर-मिटने वालों पर शायरी

मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन की शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ,
क्यों पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा किसी और का,
देशभक्त हूँ दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ।

लेटेस्ट देशभक्ति पर शायरी

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू-मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे,
हम मिल-जुल कर रहे ऐसे की,
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे।

ये शायरियां उन सभी देश के वीर सपूतों को समर्पित जो देश के लिए फांसी पर झूल गए। जिन्होंने अपने लहूँ का बलिदान दे कर इस देश को कभी झुकने ने दिया।

अगर आप स्वतंत्रता दिवस या गणतंत्र दिवस पर शायरी पढना चाहते है तो निचे वाली आर्टिकल पढ़ें।

साथ ही, शहीद दिवस की शायरी (Shaheed Diwas Shayari) को सोशल मीडिया पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 5 )

  1. Very nice syari

    Reply
  2. बहुत अच्छी शायरी हैं

    Reply
  3. bahut hi sundar aur dil ko chhune wali shayariya hai...

    Reply
  4. Bharat mata ki jay

    Reply
  5. jay hind

    Reply

Leave a Comment

×