भारत के स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

भारत इस साल 15 अगस्त को "Nation First, Always First" विषय के साथ 75 वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए तैयार है। भारत सरकार आजादी के 75 साल के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम मना रही है जो भारतीय लोगों के लिए समर्पित है।

Interesting Facts about independence day 15 august

हमारा देश भारत 1858 से 1947 तक ब्रिटिश शासन के अधीन रहा। ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने 1757 से 1857 तक भारत को नियंत्रित किया। 15 अगस्त 1947 को भारत ने 200 साल के ब्रिटिश औपनिवेशक नियंत्रण से आजादी हासिल की।

हमारे देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों के विशाल संघर्ष और बलिदान ने 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों को बेदखल कर दिया।

75 वें स्वतंत्रता दिवस को आने में अभी कुछ दिन बाकी है, उससे पहले आईये भारत की स्वतंत्रता से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में जानते हैं।

Interesting Facts about Independence Day 15 August in Hindi

भारत के स्वतंत्रता संग्राम के बारे में रोचक तथ्य, स्वतंत्रता दिवस के बारे में रोचक तथ्य, 15 अगस्त के बारे में इंटरेस्टिंग बातें, Interesting facts about Independence Day of India in Hind, Interesting things about 15 august in hindi.

Dropping Ball from 1000ft

1. स्वतंत्रता के लिए पहला संघर्ष 1857 में हुआ था, जिसे बहुत प्रसिद्ध सिपाही विद्रोह या 1857 का भारतीय विद्रोह कहा जाता है, जिसका नेतृत्व मंगल पांडे ने किया था। इस विद्रोह में झांसी की रानी लक्ष्मीबाई, बहादुर शाह जफर, तात्या टोपे और नाना साहिब आदि भी शामिल थे जिन्होंने 1857 में ब्रिटिश सैनिकों के खिलाफ प्रतिरोध का नेतृत्व किया था।

2. भारत के स्वाधीनता आंदोलन का नेतृत्व महात्मा गांधी ने किया था, लेकिन जब देश को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली, तो वे इसके जश्न में शामिल नहीं थे क्योंकि इस दिन वे हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच हो रही सांप्रदायिक हिंसा को रोकने में व्यस्त थे।

3. उसके बाद, सन 1900 के दशक में स्वदेशी आंदोलन आया। इसके दौरान बाल गंगाधर तिलक और नेआरडी टाटा ने स्वदेशी वस्तुओं को बढ़ावा देने और विदेशी सामानों का बहिष्कार करने के लिए Bombay Swadeshi Co-p Stores Company Limited की स्थापना की। महात्मा गांधी ने इसे स्वराज (स्वशासन) के रूप में वर्णित किया।

4. हर स्वतंत्रता दिवस पर भारतीय प्रधानमंत्री लाल किले पर झंडा फहराते हैं लेकिन 15 अगस्त 1947 ऐसा नहीं हुआ था, बल्कि 16 अगस्त 1947 को लाल किले से झंडा फहराया गया था।

5. लाल, पीले और हरे रंग की तीन क्षैतिज पट्टियों वाला भारतीय राष्ट्रीय ध्वज 7 अगस्त, 1906 को कोलकाता के पारसी बागान स्क्वायर में फहराया गया था। हमारे वर्तमान राष्ट्रीय ध्वज का पहला संस्करण 1921 में पिंगली वेंकय्या द्वारा डिजाइन किया गया था। 24-स्पोक अशोक चक्र के साथ भगवा, सफेद और हरी धारियों वाला वर्तमान ध्वज आधिकारिक तौर पर 22 जुलाई, 1947 को अपनाया गया था, और 15 अगस्त, 1947 को फहराया गया था।

6. भारत छोड़ो आंदोलन, जिसे अगस्त आंदोलन के रूप में भी जाना जाता है, 8 अगस्त 1942 को महात्मा गांधी द्वारा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के बॉम्बे सत्र में शुरू किया गया एक आंदोलन था, जिसमें भारत में ब्रिटिश शासन को समाप्त करने की मांग की गई थी।

7. स्वतंत्रता के समय भारत के पास अपना आधिकारिक राष्ट्रगान नहीं था। 1911 में रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा रचित गीत 'भारतो भाग्य बिधाता' का नाम बदलकर 'जन गण मन' कर दिया गया। इसे 24 जनवरी 1950 को भारत की संविधान सभा द्वारा राष्ट्रगान के रूप में अपनाया गया था।

8. भारत और पाकिस्तान के बीच की सीमा रेखा, जिसे रेडक्लिफ रेखा के रूप में भी जाना जाता है, को 3 अगस्त, 1947 को ब्रिटिश बैरिस्टर सर सिरिल रैडक्लिफ द्वारा सीमांकित किया गया था। यह आधिकारिक तौर पर भारत को अंग्रेजों से स्वतंत्रता मिलने के दो दिन बाद 17 अगस्त, 1947 को प्रकाशित हुई थी।

9. भारत का नाम सिंधु नदी से लिया गया था। यह महान सिंधु घाटी सभ्यता की गवाही देता है जो नदी की सहायक नदियों के बीच फली-फूली।

10. भारत को 15 अगस्त, 1947 की आधी रात के 'स्ट्रोक' पर स्वतंत्रता मिली। कोरिया, कांगो, बहरीन और लिकटेंस्टीन भी इस दिन भारत के साथ अपना स्वतंत्रता दिवस साझा करते हैं।

11. बंकिम चंद्र चटर्जी द्वारा रचित भारत का राष्ट्रीय गीत 'वंदे मातरम' 1880 के दशक में लिखे गए उनके उपन्यास 'आनंदमठ' का हिस्सा था। 24 जनवरी 1950 को वंदे मातरम को भारत के राष्ट्रीय गीत के रूप में अपनाया गया था।

12. भारत के पहले प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 15 अगस्त की आधी रात को लाल किले पर तिरंगा फहराया। अपने प्रसिद्ध स्वतंत्रता दिवस भाषण में, उन्होंने कहा, "बहुत साल पहले, हमने भाग्य के साथ एक प्रयास किया था और अब वह समय आ गया है जब हम अपना उद्धार करेंगे। आज की आधी रात के समय, जब दुनिया सो रही है, भारत जीवन और स्वतंत्रता के लिए जाग जाएगा।”

निष्कर्ष,

ये थे हमारे देश भारत के स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े कुछ रोचक तथ्य, जिन्हें पढ़ें के बाद आपको आजादी के संघर्ष के बारें में पता चला होगा।

आप स्वतंत्रता दिवस पर लिखे गए भाषण और निबंध आदि पढ़कर भी स्वतंत्रता दिवस के बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

×