दिवाली कब और क्यों मनाई जाती है (When and Why is Diwali Celebrated?)

दीपावली का अर्थ है दीपों की माला। इसे रौशनी का त्यौहार कहा जाता है। यह त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। क्या आप जानते हैं कि दिवाली कब और क्यों मनाते है? अगर नहीं तो इस पोस्ट में हम यही जानेंगे। दीपावली क्यों मनाई जाती है? When is Diwali and Why Celebrated in Hindi?

When is Diwali and Why Celebrated in Hindi

दिवाली हिन्दुओं का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है जो बुराई पर अच्छाई की जीत, अँधेरे में रौशनी की चमक और जीवन में निराशा को छोड़कर आशा की तरफ बढ़ने की प्रेरणा देता हैं।

अगर आप विद्यार्थी हैं और आपको दिवाली पर निबंध चाहिए तो नीचे वाले आर्टिकल में आपको दीपावली पर बेस्ट हिंदी निबंध मिल जाएंगे।

आइए जानते हैं दिवाली कब और क्यों मनाई जाती है?

दिवाली कब है? दीपावली क्यों मनाई जाती है? When is Diwali and Why Celebrated?

2022 में दिवाली कब है? दिवाली क्यों मनाई जाती है? दीपावली क्यों मनाते हैं? दिवाली की कहानी, दीपावली से जुड़ी कहानियां, दीपावली कब मनाई जाती है? दिवाली कब क्यों और कैसे मनाते हैं।

When is diwali 2022 in hindi, Why celebrated diwali in hindi, Diwali kab hai, Diwali kyu/kyo manai jati hai, deepawali kab hai 2022 mein, Deepawali kyu manai jati hai.

दिवाली कब है?

इस त्योहार की तारीख हिंदू चंद्र कैलेंडर द्वारा गणना की जाती है। इसलिए दिवाली की तारीख हर साल बदलती रहती है।

जैसे 2022 में दिवाली 14 नवंबर को मनाई गई थी और इस साल दिवाली 2022 में 4 नवंबर को मनाई जाएगी।

दिवाली क्यों मनाई जाती है?

दिवाली मनाने के पीछे कई सारी और अलग-अलग कहानियां और परंपराएं है।

सबसे पहली तो यह है कि जब भगवान राम 14 वर्ष के वनवास के बाद अयोध्या लौटे थे तो लोगों ने दीप जलाकर उनका स्वागत किया था। इसलिए लोग 14 साल बाद वनवास से राम के लौटने की खुशी में दीपों की रौशनी करके दीपावली मनाते हैं

दूसरी कहानी के अनुसार, दिवाली का त्योहार राक्षस नरकासुर पर भगवान कृष्ण की विजय के रूप में मनाया जाता है। इस त्यौहार पर धन की देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है।

राक्षस राजा रावण को भगवान राम ने मार दिया था। इसलिए बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाने के लिए और अयोध्या में भगवान राम की वापसी का जश्न मनाने के लिए पूरे शहर को रोशन किया गया था। उस दिन से भगवान राम के नाम पर दीपावली मनाई जाती है।

कहानियां चाहें जो भी हो, दीपावली का त्योहार बुराई पर अच्छाई की विजय, अँधेरे पर उजाले की जीत और अज्ञान पर ज्ञान की विजय के लिए मनाया जाता है।

अब आप जान गए होंगे कि दिवाली कब और क्यों मनाई जाती है।

आखरी लाइनें

आशा है कि रोशनी का यह पवित्र त्यौहार दुनिया के हर कोने में शांति और सम्रद्धि का उजाला भर देगा। हमारी शुभकामना है कि यह दिवाली नए सपने, नई उम्मीदें लेकर आएगी और सबकुछ चमकदार और सुंदर बना देगी।

सभी के साथ मिलजुल कर खुशी से दिवाली मनाए, पूरे जोश और उल्लास के साथ लेकिन सावधानी से। पटाखों का कम से कम इस्तेमाल करें। बच्चों को बड़े पटाखे मत दे।

यदि आपको दिवाली पर शायरी क्या कविताएं चाहिए तो नीचे वाला आर्टिकल स्पेशल आपके लिए हैं।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगे तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

×