स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर कविता - Independence Day Poem in Hindi 2022

15 August Kavita in Hindi: 15 अगस्त हमारे देश के इतिहास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है। इस दिन लंबे समय की गुलामी के बाद भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी। भारतीय हर साल इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में उत्साह के साथ मनाते हैं। यहां हम स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति कविता लेकर आए हैं, जो आप में अपने देश के प्रति प्रेम और देशभक्ति का जज्बा जगाएगी। Independence Day Poem in Hindi.

15 August Independence Day Poems in Hindi

आजादी के इस त्योहार को हर कोई बड़े हर्ष और उल्लास से मनाता है, लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि इस आजादी को पाने में हमने कितना खोया है क्योंकि भारत के लिए अंग्रेजों से आजादी पाना उतना आसान नहीं था जितनी आसानी से हम 15 अगस्त को आजादी का जश्न मनाते हैं।

लेकिन भारत के कुछ महान लोगों और स्वतंत्रता सेनानियों ने इसे सच कर दिखाया। उन्होंने अपने देश की आजादी पाने के लिए अपने आराम और आजादी का बलिदान दिया था।

उन स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने और उन्हें याद करने के लिए हम हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

ऐसी महान हस्तियों की याद में हम स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हिंदी कविता लेकर आए हैं जिन्हें पढ़ने से हर किसी के दिल में देशभक्ति जाग उठती है।

15 अगस्त पर कविता, स्वतंत्रता दिवस पर कविता - 15 August Kavita in Hindi, Independence Day Poem in Hindi 2022

हैप्पी इंडिपेंडेंस डे 2022 पोयम्स इन हिंदी, 15 अगस्त की कविता हिंदी में, स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति कविता, 15 अगस्त के लिए कविताएँ, इंडिपेंडेंस डे हिंदी कविता, 1 से कक्षा 12 तक स्कूल के बच्चों के लिए 15 अगस्त पर दिल को छु लेने वाली देशभक्ति कविता, देश के प्रति प्यार बढ़ाने वाली कविताएँ, देशभक्ति का जुनून पैदा करने वाली कविता, स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान में कविता, 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस 2022 कविता कलेक्शन हिंदी में।

Happy independence day 2022 poems in hindi for students class 1 to 12, Desh Bhakti Poem in Hindi Language, Desh Bhakti Poem on Aazadi Diwas, Mera Pyara Desh Poem on Independence Day in Hindi, Independence Day Kavita in Hindi, Bharat Desh Ki Aazadi Ki Kavita, 15 august par kavita hindi mein, Swatantrata diwas par kavita, Short poem on 15 august in hindi for kids, 15 august ke liye kavita, Heart touching poem on independence day funny poems in hindi.

Bacchon Ke Liye 15 August Par Kavita

हम नन्ने मुन्ने बच्चे है,
दांत हमारे कच्चे है,
हम भी सरहद जायेंगे,
सीने पे गोली खाएंगे,
मर जायेंगे मिट जायेंगे,
देश की शान बढ़ाएंगे,
देश की शान बढ़ाएंगे।

15 August Par Desh Bhakti Kavita

हाँ मैं इस देश का वाशी हूँ,
इस मिट्टी का कर्ज चुकाऊंगा,
जीने का दम रखता हूँ,
तो इसके लिए मरकर भी दिखलाऊंगा,
नजर उठा के देखना ऐ दुश्मन मेरे देश को,
मरूंगा मैं जरूर पर तुझे मारकर ही मरूंगा,
कसम मुझे इस मिट्टी की,
कुछ ऐसा मैं कर जाऊंगा,
हाँ मैं इस देश का वाशी हूँ,
इस माटी का कर्ज चुकाऊंगा।

15 August Poems in Hindi For School Kids

हम बच्चे आजाद देश के,
ऐसा कुछ कर जायेंगे,
हमें भी लोग युगो युगो तक याद रख पाएंगे,
जन्म लिया इस पावन धरती पर,
इस धरती का कर्ज चुकाएंगे,
नया प्रकाश नयी रौशनी चारों और फैलाएंगे,
हम बच्चे आजाद देश के,
स्वतंत्र भारत में हमने जन्म लिया,
नहीं भूले हम क़ुरबानी जिन्होंने हमें आजाद किया,
उनकी क़ुरबानी व्यर्थ जाने न देंगे,
हर सपना साकार कर दिखाएंगे,
भर्ष्टाचार, गरीबी को मिटा कर,
देश को तरक्की की राग पर ले जायेंगे,
जाति-पाति का बंधन तोड़कर भेद भाव का फर्क मिटायेंगे।

School Students Ke Liye Swatantrata Diwas Par Kavita

आजादी की खुली हवा में,
हम निकले सीना तान के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
हम जिस मिट्टी के अंकुर है,
उसकी शान निराली है,
उसके खेतों में सोना,
बागों में हरियाली है,
धन दौलत से ज्यादा ऊँचे,
रिश्ते माँ संतान के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
हवा हमारी धुप हमारी,
नीर हमारा पावन है,
तन मन जिसके सौ बसंत से,
मन हरियाला सावन है,
भारत माँ के बेटे बेटी,
जीते है हम शान से,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
सत्य अहिंसा पर आधारित,
मौलिक धर्म हमारा है,
परहित सच्चा धर्म है भाई,
यही हमारा नारा है,
पथ कोई हो विधि कोई हो,
बलिहारी भगवन के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
आजादी की खुली हवा में,
हम निकले सीना तन के,
हम बच्चे हिंदुस्तान के,
हम बच्चे हिन्दुस्थान के।

Heart Touching Desh Bhakti Poem on Independence Day in Hindi

कस ली है कमर अब तो,
कुछ करके ही दिखाएंगे,
आजाद ही हो लेंगे,
या सर ही कटा देंगे,
हटेंगे नहीं कभी पीछे,
डरकर कभी जुल्मों से,
तुम हाथ उठाओगे,
हम पैर बढ़ा देंगे,
बेशस्त्र नहीं हैं हम,
बल है हमें चरखे का,
चरखे से जमीं को हम,
ता चर्ख़ गुंजा देंगे,
परवाह नहीं कुछ दम की,
ग़म की नहीं, मातम की,
है जान हथेली पर,
एक दम में गंवा देंगे,
उफ़ तक भी जुबां से हम हरगिज़ न निकालेंगे,
तलवार उठाओ तुम,
हम सर को झुका देंगे,
सीखा है नया हमने लड़ने का यह तरीका,
चलवाओ गन मशीनें,
हम सीना अड़ा देंगे,
दिलवाओ हमें फांसी,
ऐलान से कहते हैं,
खून से ही हम शहीदों के,
फ़ौज बना देंगे,
मुसाफ़िर जो अंडमान के,
तूने बनाए, ज़ालिम,
आज़ाद ही होने पर,
हम उनको बुला लेंगे।

15 August Sad Emotional Desh Bhakti Kavita

हम आजाद हुए लड़कर पर,
आजादी के बाद भी लड़ रहे है,
पहले अंग्रेजो से लड़े थे,
अब अपनों से लड़ रहे है,
आजादी से पहले कितने ख्वाब,
आँखों में संजो रखे थे,
अब आजादी के बाद वो ख्वाब,
ख्वाब ही रह गए है,
अब तो अंग्रेजी राज और
इस राज में फर्क न लगे,
पहले की वह बद स्थिति,
अब बदतर हो गई हैं।

स्वतंत्रता दिवस पर दिल को छु जाने वाली कविता

होठों पे सच्चाई रहती है,
जहां दिल में सफ़ाई रहती है,
हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है,
मेहमान जो हमारा होता है,
वो जान से प्यारा होता है,
ज्यादा की नहीं लालच हमको,
थोड़े मे गुजारा होता है,
बच्चों के लिए जो धरती माँ,
सदियों से सब कुछ सहती है,
हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

कुछ लोग जो ज़्यादा जानते हैं,
इन्सान को कम पहचानते हैं
ये पूरब है पूरब वाले,
हर जान की कीमत जानते हैं
मिलजुल के रहो और प्यार करो,
एक चीज़ यही जो रहती है,
हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

जो जिससे मिला सिखा हमने,
गैरों को भी अपनाया हमने,
मतलब के लिये अंधे होकर,
रोटी को नही पूजा हमने,
अब हम तो क्या सारी दुनिया,
सारी दुनिया से कहती है,
हम उस देश के वासी हैं,
जिस देश में गंगा बहती है।

आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

ये थी स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त की कविता हिंदी में।

निष्कर्ष,

हम उम्मीद करते हैं कि, आपको स्वतंत्रता दिवस की कविता पसंद आएँगी। यहाँ दी गयी 15 अगस्त कविताओं में से आपको जो अच्छी लगे, आप उसे चुन सकते हैं।

आप चाहे तो, अपने प्रिय दोस्तों को स्वतंत्रता दिवस के लिए 15 अगस्त की कविता भेज सकते हैं और साथ ही उन्हें स्वतंत्रता दिवस की शुभकामना भी दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें

अगर आपको 15 August Kavita Hindi Mein अच्छी लगे तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×