दिवाली पर कविता – Poem on Diwali in Hindi 2023

Diwali Poem in Hindi: यहाँ हम छोटी और अच्छी-अच्छी दिवाली की कविताएं हिंदी में स्पेशल आपके लिए लेकर आए हैं ताकि आप अपने प्रिय लोगों को दिवाली की शुभकामनाएं दे सके। Short Poem on Diwali in Hindi Language for 1 to 12 class Students, Happy Diwali Poems in Hindi 2023.

Poem on Diwali in Hindi

दिवाली क्यों मनाई जाती है? यह तो आप जानते ही होंगे इसलिए मैं दिवाली के बारे में ज्यादा रामायण लिख कर आपका समय खराब नहीं करना चाहता।

आईये पढ़ते हैं, बच्चों के लिए दिवाली पर छोटी हिन्दी कविताएं, दिवाली की शुभकामना और बधाई कविता, दीपावली कविता हिंदी में, दिवाली पर बाल कविता।

यदि आपको इस पोस्ट में दिवाली के लिए कविता अच्छी लगे तो आप इन्हें व्हाट्सएप, फेसबुक आदि पर शेयर भी कर सकते हैं।

दिवाली की कविता हिंदी में – Best Diwali Poem in Hindi, Short Poem on Diwali 2023 in Hindi

Happy diwali poem in hindi font for 1, 2, 3, 4, 5 to 12 class students, Short Poem on diwali 2023 in hindi, Best Poem on diwali festival in hindi, Diwali par kavita hindi mein, Diwali ki kavita, wishing shayari etc.

शुभ दीपावली, दिवाली की कविता

दीपों का त्योहार दिवाली आयी है,
खुशियों का संसार दिवाली आई है,
घर आंगन सब नया सा लगता है,
नया नया परिधान सभी को फबता है,
नए नए उपहार दिवाली लायी है,
खुशियों का संसार दिवाली लायी है।

दीपावली पर बाल कविता

दिवाली आई रे,
खुशियाँ खूब लाई रे,
बंट रही मिठाई रे,
गाओ बहन-भाई रे।

Diwali Poem in Hindi for Kids

आई दिवाली आई दिवाली,
खुशियों को संग लाई दिवाली,
बच्चे आए बड़े भी आए,
सबने सुंदर दीप जलाए,
दीपों से जगमगा संसार,
एक-दूजे से बढ़ता प्यार।

दिवाली त्यौहार पर हिन्दी कविता

दिवाली त्योहार दीप का,
मिलकर दीप जलाएंगे,
सजा रंगोली से आंगन को,
सबका मन हर्षाएंगे,
बम-पटाखे भी फोड़ेंगे,
खूब मिठाई खाएंगे,
दिवाली त्यौहार मिलन का,
घर-घर मिलने जाएंगे।

Diwali Kavita in Hindi

फिर खुशियों के दीप जलाओ,
यह प्रकाश का अभिनंदन है,
अंधकार को दूर भगाओ,
पहले स्नेह लुटाओ सब पर,
फिर खुशियों के दीप जलाओ।

Short Hindi Poem on Diwali Festival 2023

आओ मिलकर दीप जलाएं,
अंधेरा घर से दूर भगाएं,
रह न जाए अँधेरा कही,
घर का कोई सुना कोना,
सदा ऐसा कोई दीप जलाते रहना,
हर घर-आँगन में रंगोली सजाएं,
आओ मिलकर दीप जलाएं।

Emotional Poem on Diwali in Hindi

साथी घर-घर आज दिवाली,
फैल गई दीपों की माला,
मंदिर मंदिर में उजाला,
परंतु हमारे घर को देखो,
दर काला दीवारें काली,
हास उमंग हृदय में भर भर,
घूम रहा ग्रह ग्रह पथ पर,
किंतु हमारे घर के अंदर,
डरा हुआ सूनापन खाली,
आंख हमारी नभ मंडल पर,
वही हमारा नीलम का घर,
दीप मालिका मना रही है,
रात हमारी तारों वाली,
साथी घर-घर आज दिवाली।

दिवाली पर छोटी कविता

रुपया लाई पैसा लाई,
लाई ढेरों मिठाई,
एक नहीं भाई, दो नहीं भाई,
थाली भर भर लाई,
भैया खूब दिवाली आई।

दिवाली की शुभकामनाएं कविता

दिवाली के दीपक जगमगाए आपके आंगन में,
सात रंग सजे इस साल आपके आंगन में,
आया है यह त्यौहार खुशियां लेके,
हर खुशी सजे इस साल आपके आंगन में,
रोशनी से हो रोशन हर लम्हा आपका,
हर रोशनी सजे इस साल आपके आंगन में।

आपके लिए हमारे और से कविता के रूप में दीपावली की शुभकामना

पल-पल सुनहरे फूल खिले,
कभी ना हो कांटो का सामना,
जिंदगी आपकी खुशियों से भरी रहे,
दिवाली पर हमारी यही शुभकामना।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस पोस्ट में दिवाली की कविताएं अच्छी लगेगी। हमारा मकसद भी यही था कि आपके लिए दीपावली पर अच्छी-अच्छी कविताएं पेश की जाए।

खैर, अगर आपके पास भी ऐसी ही दिवाली के लिए कविता है तो आप हमें कमेंट के जरिए भेज सकते हैं ताकि हम उसे इस पोस्ट में शामिल कर सकें। धन्यवाद.

साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

संबंधित आर्टिकल

Avatar for Jamshed Khan

by: Jamshed Khan

मैं इस ब्लॉग का एडिटर हु और मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. बेहतरीन कविता संग्रह

Comments are closed.