पर्सनल डाटा को हैकर्स से कैसे बचाये - 10 बेस्ट टिप्स

अपने पर्सनल डाटा को हैकर्स से कैसे बचाएं? इंटरनेट की ऑनलाइन दुनिया में सुरक्षित रहने का यह सबसे महत्वपूर्ण सवाल है। अब हमारी जिंदगी में अधिकतर काम ऑनलाइन होते हैं और उसके लिए हमें पर्सनल डाटा का इस्तेमाल करना पड़ता है। हैकर हमारी जरा-सी गलती से हमारे पर्सनल डाटा को चोरी कर लेते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको पर्सनल डाटा को हैकर से बचाने की 10 बेस्ट टिप्स बता रहे हैं। आप इन्हें फॉलो करके अपने ऑनलाइन डाटा को सिक्योर रख सकते हैं। चलो जानते हैं, Personal Data Ko Hackers Se Kaise Bachaye - How to Secure your Personal Data from Hackers in Hindi.

पर्सनल डाटा को हैकर्स से कैसे बचाएं

पिछले कुछ समय से इंटरनेट यूजर्स का डाटा चोरी होने और हैकिंग की समस्या ज्यादा ही होने लगी है। हैकर्स लोगों के अकाउंट में सेंधमारी कर उनके निजी जाटा को चुरा रहे।

ऐसे में यह सबसे बड़ा सवाल पैदा होता है कि यूजर्स अपने पर्सनल डाटा को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं, जिससे है कर उनके डाटा को हैक नहीं कर पाए?

इस पोस्ट में हम आपको पर्सनल डाटा को सुरक्षित रखने के 10+ टिप्स, तरीके उपाय बता रहे हैं, जिन्हें खोलकर आप अपने ऑनलाइन डाटा को सेफ रख सकते हैं।

अपने पर्सनल डाटा को हैकर्स से बचाने के लिए 10 टिप्स

अगर आप चाहते हैं कि इंटरनेट आपका डाटा कोई भी हैकर एक्सेस नहीं कर पाए तो आप यहां पर बताई गई पर्सनल डाटा सिक्योरिटी टिप्स को अच्छे से पढ़ें और फॉलो करें। पर्सनल डाटा को हैकर्स से कैसे बचाएं?

1. स्पैम और फिशिंग ईमेल से बचें।

अधिकतर हैकर्स डाटा चोरी करने के लिए स्पैम ईमेल का उपयोग करते हैं। वो बहुत सारे लोगों को एक जैसे लालच देने वाले ईमेल भेजते हैं और उसमें मैलवेयर, वायरस स्क्रिप्ट शामिल कर देते हैं।

इससे जब भी कोई यूजर हैकर्स द्वारा भेजे गए मेल को ओपन करता है या फिर मेल में दिए गए लिंक पर क्लिक करता है तो उसके कंप्यूटर सिस्टम में वायरस आ जाता है।

हैकर्स अपने वायरस, मैलवेयर स्क्रिप्ट की मदद से यूजर के डिवाइस को एक्सेस कर लेते हैं और उसके पर्सनल डाटा को चोरी करना शुरू कर देते हैं।

इससे बचने का बहुत ही आसान तरीका है। आप अपने ईमेल इनबॉक्स से सिर्फ उन्हीं मैसेज को खोलें और उन में दिए गए लिंक पर क्लिक करें, जो आपके किसी जानकार के हो।

अनजाने, Unknown email messages को ओपन ही मत करें, उम्र में दिए गए लिंक पर क्लिक करना तो दूर की बात है। आपको कभी भी ईमेल फिशिंग की प्रॉब्लम नहीं होगी।

2. डोमेन स्पेलिंग चेक करें।

ऐसे बहुत सारे मामले सामने आए हैं, जब hackers ने कुछ प्रसिद्ध और पॉपुलर डोमेन नेम की स्पेलिंग में थोड़ा सा बदलाव करके यूजर्स का डाटा चुराया है।

जैसे कि, ये हैकर्स amazon की जगह amazan, google की जगह gooIe इस तरह से डोमेन की स्पेलिंग चेंज कर देते हैं। यह काम इतनी होशियारी से होता है कि यूजर को पता भी नहीं चलता है।

जब कोई यूजर उनकी वेबसाइट पर विजिट करता है तो यूजर के PC या मोबाइल में Malware Script Enter हो जाती है और उसके जरिए हैकर System Access कर लेते हैं।

इस खतरे से बचने के लिए आपको सिर्फ इतना करना है कि जब भी आप कभी ब्राउज़र में कोई वेबसाइट ओपन करो तो उसकी Domain spelling check कर ले और साथ ही यह भी चेक कर लो कि वह साइट HTTPS के साथ ओपन हो रही है या नहीं।

अगर आपको कोई भी शक हो तो तुरंत ऐसी साइट को बंद कर दें और ब्राउजर हिस्ट्री क्लियर कर ले। अगर आपके डिवाइस में एंटीवायरस है तो तुरंत अपने डिवाइस को स्कैन कर ले।

3. मजबूत पासवर्ड उपयोग करें।

सिक्योरिटी के तहत एक रिपोर्ट के अनुसार लाखों लोग अपने पासवर्ड के लिए "12345" नंबर इस्तेमाल करते हैं। सोचिए उनके अकाउंट को हैक करना कितना आसान होता है।

अधिकतर लोग ऐसा करते हैं या फिर जिन्हें डाटा चोरी होने के बारे में पता ना हो वह लोग ऐसा करते हैं। और जो भी हो यह गलत है, हमें स्ट्रांग पासवर्ड उपयोग करना चाहिए।

अपने अकाउंट के लिए मजबूत पासवर्ड बनाने में आपको सिर्फ 2 मिनट का समय लगेगा। ऑल से ना करें और मजबूत पासवर्ड बनाएं, इससे हमेशा आपका अकाउंट सिक्योर रहेगा।

वो आपको बता देना चाहता हूं कि डाटा चोरी और हैकिंग की जितनी भी प्रॉब्लम होती है उसमें से अधिकतर केस कमजोर पासवर्ड ही होता है। यानी हैकर कमजोर पासवर्ड यूज करने वाले यूजर्स पर ज्यादा फोकस करते हैं।

4. अलग-अलग पासवर्ड प्रयोग करें।

हम में से अधिकतर लोग अपने अधिकतर ऑनलाइन अकाउंट के लिए एक जैसा ही पासवर्ड उपयोग करते हैं। इसका मतलब अगर है कर्ज को आपके किसी एक अकाउंट की डिटेल मिल जाए तो वह आपके सारे अकाउंट को हैक कर सकता है।

अपने सभी ऑनलाइन अकाउंट के लिए सेम पासवर्ड उपयोग करना ठीक वैसा ही है जैसे अपने घर के सारे कमरों के लिए एक ही ताली का इस्तेमाल करना।

इस खतरे से बचना बहुत ही आसान है। आपको अपने हर एक अकाउंट के लिए अलग-अलग पासवर्ड इस्तेमाल करना है। इससे अगर कोई आपके किसी एक अकाउंट को एक्सेस कर भी लेता है।

तो वो फिर भी आपके बाकी अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पाएगा और आपके एक अकाउंट के सिवा बाकी सभी अकाउंट का डाटा चोरी होने से बच जाएगा।

अगर आपको अलग-अलग पासवर्ड याद नहीं रहते हैं तो आप अलग-अलग अकाउंट्स के पासवर्ड को मैनेज करने के लिए पासवर्ड मैनेजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

5. टू-स्टेप वेरीफिकेशन इनेबल करें।

आज के समय में लगभग सभी वेबसाइट, फोरम, एप और सोशल मीडिया साइट्स 2 step verification सेवा प्रदान करती है। इससे आपके अकाउंट पर लॉगइन करने के लिए OTP Password की जरूरत होती है।

और OTP पासवर्ड सिर्फ आपके मोबाइल नंबर पर आ सकता है। मतलब आप की अनुमति के बिना कोई भी आपके अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पाएगा।

यहां पर मैं आपके लिए कुछ पॉपुलर वेबसाइट पर टू-स्टेप वेरीफिकेशन enable करने की जानकारी वाले पोस्ट के लिंक ऐड कर रहा हूं।

इन आर्टिकल्स की मदद से आप अभी भी अकाउंट में 2 factor authentication enable कर सकते हो।

6. सावधान रहे कि आप क्या क्लिक कर रहे हैं।

सिर्फ ईमेल ही नहीं, बल्कि आपको इंटरनेट पर वेबसाइट पर किसी भी लिंक करने से पहले सावधान रहना है कि आप इस लिंक पर क्लिक कर रहे हैं वह सही भी है या नहीं।

हो सकता है आप किसी अच्छी साइट पर विजिट करें, और उस साइट को पहले से ही किसी हैकर ने हैक कर रखा हो, आपके किसी भी लिंक पर क्लिक करते ही आपके सिस्टम में वायरस आ जाएंगे।

इसके अलावा है कर्ज की खुद की भी अपनी कई वेबसाइट होती हैं, जिन पर वह मैलवेयर स्क्रिप्ट डाल कर रखते हैं, जो स्वचालित रूप से चुपचाप आपके कंप्यूटर में इंटर हो जाते हैं।

अज्ञात वेबसाइट पर विजिट करने और अविश्वसनीय सोर्स से ऐप डाउनलोड करने से बचें। यदि लिंक किसी भी कारण से अनपेक्षित और संदेहास्पद लगे तो उस पर क्लिक ना करें।

7. हमेशा बैकअप लेकर रखें।

हैकिंग के अधिकतर मामलों में हैकर्स का मकसद होता है आपके कंप्यूटर सिस्टम से आपके महत्वपूर्ण डाटा को मिटाना या फिर उसको चुरा कर आप से फिरौती मांगना।

इस समस्या से बचने के लिए आपको अपने पर्सनल डाटा का हमेशा बैकअप लेकर रखना चाहिए। ऐसे में अगर कभी आपको हैकिंग की प्रॉब्लम होती भी है तो आपका डाटा लॉस्ट नहीं होगा।

इसीलिए नियमित रूप से बेकर ले और Wanna Cry Ransomware Attack जैसी समस्याओं से खुद को बचा कर रखें।

8. सुरक्षित वाईफाई का इस्तेमाल करें।

मोबाइल यूजर्स में यह समस्या आम होती है कि जैसे ही उन्हें कोई फ्री वाई-फाई सेवा मिलती है तो वह बिना कुछ सोचे समझे उसका इस्तेमाल करना शुरू कर देते हैं।

उन्हें इसकी खबर तक नहीं होती है कि उनका पर्सनल डाटा चुराया जा रहा है। हैकर्स Wi-Fi नेटवर्क को पहले से ही है करके रखते हैं और जैसे ही कोई उसका इस्तेमाल करता है तो वह उसके डिवाइस को एक्सेस कर लेते हैं।

आपको इसे बचाना चाहिए और केवल सुरक्षित वाईफाई का ही उपयोग करना चाहिए। यहां दिए गए लिंक से आप फ्री वाई-फाई के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान ओं के बारे में जान सकते हैं।

अब अगर आपको जानना है कि वाईफाई का इस्तेमाल कैसे करें की है कस्टमर डाटा को चोरी ना कर पाए तो उसकी जानकारी यहां है, पब्लिक फ्री वाईफाई का इस्तेमाल कैसे करे?

9. सॉफ्टवेयर को अपडेट करके रखें।

आपके ऑपरेटिंग सिस्टम और प्रोग्राम्स की सुरक्षा के लिए उन्हें up to date रखना बेहतर होता है। हमेशा अपने उपकरणों के लिए नवीनतम संस्करण उपयोग करें।

अपने सिस्टम में स्वचालित अपडट को इनेबल करें। वेब ब्राउजर जैसे क्रोम, फायरफॉक्स और ओपेरा ब्राउज़र को update करके ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

ब्राउज़र प्लगइन को भी अपडेट करके रखें और अगर आप मोबाइल्स यूजर हैं तो आपको ओल्ड वर्जन वाले ऐप का इस्तेमाल नहीं करना है। हमेशा अप टू डेट एप का ही उपयोग करना है।

10. एंटीवायरस स्थापित करें।

अगर आप सीरियसली अपने डिवाइस को हैकर से सुरक्षित रखना चाहते हैं तो मेरी आपको सलाह है कि आप एक अच्छे एंटीवायरस का इस्तेमाल करें।

एंटीवायरस के इस्तेमाल करने से आप की बहुत सारी समस्याओं का समाधान खुद ब खुद हो जाता है। जैसे कि यह है आपको Spam Links, Spam Mail, Malware Websites से बचा कर रखता है।

सस्ते के चक्कर में थर्ड क्वालिटी एंटीवायरस का इस्तेमाल ना करें। एक उचित और सही एंटीवायरस शब्द का इस्तेमाल करें। मैं Quick Heal Anti-virus उपयोगकर्ता करता हूं।

निष्कर्ष,

इस आर्टिकल में हमने अपने पर्सनल डाटा को हैकर से बचाने के 10 बढ़िया तरीके के बारे में जाना। इन तरीकों को अपनाकर आप अपने मोबाइल, कंप्यूटर और लैपटॉप या किसी भी डिवाइस को हैकर से सुरक्षित रख सकते हैं।

मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आएगी और अब आप अपने पर्सनल डाटा को बचाने वाले इन उपायों के बारे में जानने के बाद इनको फॉलो जरूर करेंगे।

इंटरनेट पर ऑनलाइन अपने पर्सनल डाटा को हैकर्स से कैसे बचाएं? की जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें और इसने बताए तरीके ध्यानपूर्वक फॉलो करें, आपको कभी है क्योंकि कॉल नहीं होगी।

ये भी पढ़ें,

अगर आपको जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 1 )

Leave a Comment

×