New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

10 कारण जिनकी वजह से सभी लोग आपको नजरअंदाज करते है

यदि आप जानना चाहते है की लोग आपको नजरअंदाज क्यों करते है और इसकी वजह क्या है तो यहां मैं आपको 10 कारण बताऊंगा जिनकी वजह से लोग आपको नजरअंदाज करते है इन गलतियों को सुधार कर आप अपनी जिंदगी बदल सकते है और सबके प्यारे बन सकते है।

Sabhi Log Aapko Ignore Kyu Karte Hai

जब कोई हमे छोड़ हमारे दोस्त या किसी और की सुनता है या कोई हमारी बात नहीं सुनता है तो हम सोचते है की लोग मुझे नजरअंदाज क्यों करते है, क्यों लोग आपसे ज्यादा दूसरों को पसंद करते है यहां तक की कई बार तो आपमें अच्छाई होने पर भी कोई आपसे जुड़ना नहीं चाहता।

दरअसल, हम सभी में कुछ ना कुछ कमी या बुरी आदत होती है पर हमे उसके बारे में पता नहीं होता, ये गलत नहीं है पर अगर हम अपनी गलतियों के बारे में जानना ही नहीं चाहे वो गलत है।

यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो समझो आपकी की भी कोई बुरी आदत, लत, कमी है जिसकी वजह से लोग आपसे नफरत करते है और दिलचस्पी नहीं लेना चाहते है।

10 बुरी आदत जिनकी वजह से सब आपको नजरअंदाज करते है

हमारे अंदर कुछ कमी और कुछ बुरी आदत होती है जो लोगों को पसंद नहीं आती है जिनकी वजह से किसी को हमसे बात करना अच्छा नहीं लगता, चलिए जानते है वो 10 आदत कौनसी है।

सभी लोग आपको नजरअंदाज क्यों करते है इसकी वजह क्या है!

1. किसी की बात ना सुनना

यदि आप किसी और की बात नहीं सुनते है और सिर्फ अपनी बात करते है तो ये आदत छोड़ दें क्योंकि कोई उससे बात करना पसंद नहीं करता जो किसी और की बात नहीं सुनना चाहता, ऐसे लोगों से कोई बात करना पसंद नहीं करता।

इसलिए अपने मुंह को बंद रखो और कान को चालू रखो, लोग आपसे क्या कहते है या क्या कहना चाहते है उनकी बातें सुनो फिर उनसे बात करो ताकि लोग आपसे नफरत के बजाय मोहब्बत करें।

2. खुद की गलती नहीं मानना

दुनिया में जितने भी इंसान है हर एक इंसान से जीवन में कुछ ना कुछ गलती हो जाती है ईश्वर के अलावा कोई इंसान ऐसा नहीं है जिससे गलती नहीं होती, आप गलती नहीं करते ये हो सकता है लेकिन आप कभी गलती नहीं करते ये नहीं हो सकता ये नामुमकिन है।

हकीकत का सामना करो और जिस तरह आप अपनी जीत को स्वीकारते हो उसी तरह अपनी हार और गलतियों को स्वीकारना सीखो, यदि आप ऐसा नहीं करते है तो आने वाले समय में आपके पास बहुत कम लोग अपने होंगे।

3. हमेशा व्यस्त रहना

आपका दोस्त यही चाहता है की आप उसके साथ कुछ समय बिताएं, कोई ऐसे दोस्त को पसंद नहीं करेगा जिसके पास समय ही नहीं है और जो हमेशा व्यस्त रहता हो, ऐसा होने पर आपसे अच्छे लोग दूर हो जायेंगे और सिर्फ वो बात करेंगे जिनका आपसे कुछ काम होगा।

मुझे पता है सभी अपने जीवन में बहुत व्यस्त है और सभी को बहुत सारा काम करना होता है पर सिर्फ काम ही जिंदगी नहीं है, परिवार, दोस्त के साथ कुछ समय निकालो ताकि आपके लिए भी कोई समय रख सके।

4. दूसरों की बुराई करना

बरें लोगों की बुराई करो उससे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन किसी की बुराई करने की भी हद होती है, कोई ऐसे आदमी को पसंद नहीं करेगा जो हमेशा दूसरों की बुराई करता हो ऐसे लोगों से हर कोई दुर से बचकर निकलना पसंद करते है।

हमेशा दूसरों की गलतियों को लोगों के सामने पेश करना गलत है किसी की अच्छाईयों पर भी ध्यान देना सीखो, कभी चुप भी रहा करो और दूसरों की अच्छाई भी किया करो, और लोगों को खुश करना सीखो ताकि आपको कोई पसंद करें।

5. अपनी सफलता की बढ़ाई, अच्छाई करना

हम सभी अपनी सफलता और उपलब्धियों पर बात करते है और एक दुसरे को उसके बारे में बताते है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते है जो हमेशा अपनी कामयाबी के बारे में सभी को सुनाते फिरते है ऐसे लोगों को सभी उबाऊ समझते है और कोई उनसे बात नहीं करना चाहता।

अपनी सफलता पर बात करना बुरी बात नहीं है करो लेकिन इसकी भी एक सीमा बनाओ और उस सीमा से ज्यादा अपनी अच्छाई मत करो, नहीं तो लोग आपको पागल समझ कर नजरअंदाज करने लग जायेंगे।

6. सिर्फ नकारात्मक सोच रखना

यदि आप उन लोगों में से एक है जो हमेशा मुसीबत में रहते है जिन पर हमेशा कोई ना कोई आफत आई रहती है, आपकी जिंदगी कभी काले बादलों से काली नहीं होती और आप हमेशा दूसरों से मदद मांगते फिरते हो।

मुसीबतों का सामना करो और अपनी समस्याओं को दूसरों के साथ साझा मत करो बल्कि अपनी समस्या का समाधान खुद करो, हर मामलें को नकारात्मक सोच से मत देखो, सकरात्मक बनो ताकि लोग आपको पसंद करें।

7. किसी भी मामलें को गंभीर ना समझना

खुश रहना सभी चाहते है जो लोग हमेशा खुश रहते है उन्हें सभी पसंद करते है लेकिन कुछ किसी भी मामलें को गंभीरता से नहीं लेना चाहते, ऐसे लोगों के जीवन में सब कुछ मजेदार होता है ऐसे लोगों से सभी बचना पसंद करते है।

खुश रहना गलत नहीं है पर जरुरत पढने पर किसी मामलें को गंभीरता से ना लेना भी सही नहीं है आप खुश रहो और सभी को खुश रखो लेकिन गंभीर मामलें को गंभीरता से लेना सिखों।

8. आप बात करने के काबिल नहीं है

यदि आप सभी के साथ बुरा बर्ताव करते है और दूसरों को गाली देते हो और दूसरों की बेईज्जती करते हो तो शायद कोई ही ऐसा होगा जो आपको पसंद करता हो, आपके साथ कोई 2 पल बिताना पसंद नहीं करेगा।

ऐसा मत करो, अगर आप किसी से समहत नहीं है तो सही शब्दों का इस्तेमाल करो और उसे समझाओ, अगर वो फिर भी ना मानें तो उसे अपने हाल पर छोड़ दें, उसे गाली दे कर अपमानित मत करो, उसकी बुराई मत करो, लायक बनो।

9. लोग आपको बेईमान मानते है

जब भी कुछ लोग एक जगह इकठ्ठा होते है तो उनके बीच अच्छे बुरे लोगों की चर्चा जरुर होती है, एक आदमी अच्छा होता है जिसके बारे में सभी कहते है की वो सचमुच बहुत ईमानदार है और हमेशा सच बोलता है उसके साथ दोस्ती करना अच्छा है।

लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनको सभी बेईमान मानते है जिन पर कोई उम्मीद और विश्वास नहीं करता है, अगर आप वो आदमी नहीं बनना चाहते है तो ईमानदार बनो, झूठ मत बोलों ताकि आप दुश्मनों से ज्यादा दोस्त बना सको।

10. आप स्वार्थी है

सभी दोस्त बनाते है और जाहिर सी बात है जब दोस्ती गहरी होती है तो पैसों का लेन-देन भो होता है पर कुछ लोग अपने दोस्त से पैसा लेकर वापस देने का नाम ही नहीं लेते, ऐसे लोगों से कोई ना तो दोस्ती करना पसंद करेगा और ना ही बात।

लेने का नाम देना होता है इस हाथ से लो और उस हाथ से दो, आपने कब किसी से क्या लिया और कब वापस दिया किसी को इसके बारे में पता नहीं चलना चाहिए, ऐसा काम मत करो जिससे आप स्वार्थी कहलाओ, लालची और स्वार्थी मत बनो।

निष्कर्ष

अगर आप इन आदतों और गलतियों में सुधार कर लेते है तो मुझे यकीन है आपको कोई नापसंद नहीं करेगा बल्कि सभी आपको पसंद करेंगे और प्यार करेंगे और कोई आपको नजरअंदाज नहीं करेगा, सभी आपसे बात करना पसंद करेंगे।

उन गतिविधियों पर ध्यान दो जो आप करते है या आप दूसरों के साथ क्या करते है अगर आपमें कमियां है तो उन्हें खत्म करो, अगर आप अपने आप को सुधार नहीं सकते तो आपको किसी के बारे में कुछ कहने का हक़ नहीं है।

अगर आप खुद को सही समझते हो पर लोग आपको ऐसा नहीं समझते है तो सोचो की इस दुनिया में सबसे ज्यादा गलती करना वाले आप है अगर आप खुद में सुधार कर लेंगे तो समझो पूरी दुनिया सुधर जाएगी।

जब ऐसा होगा तो आपको चाहने वाले कुछ ही नहीं बल्कि लाखों होंगे और लोग आपसे बात करने के लिए तरस रहे होंगे, अगर आप ऐसा ही चाहते है तो अभी से खुद को सुधारने में लग जाओ और उन सभी कमियों को निकल फेको जो लोगों को आपमें दिखती है।

अब अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 28 )

  1. Aur agar kisi me ye sab na ho mean jo selfish na ho sabki care krte ho , baro ki baat maante ho , ability ho sab kaam krne ki
    Phir bhi agar family ke hi kisi member ki wajah se baar baar insult feel ho ya wo sabke saamne aapko ignore kr rha ho to kya krna chahiye
    Sath hi family ke member ko aise chhora bhi nhi ja sakta
    To plzz reply aise condition me kya krna chahiye

    Reply
    • मध्यम मार्ग यथार्थ हैं इसका कोई विकल्प नहीं
      अर्थात्
      आपको हमेशा बीच का रास्ता अपनाना चाइए

      Reply
  2. Mere sath aisa hota h ki phle mere kaam ko haan bola jata h ki kr dunga dungi frr critical situation m naa bol dete h Or paisa mangte h dene prr v na bolte h
    Mujhe kya krna chahiye

    Reply
    • Paise kaam hone ke baad diya karo aur koi mana kare to uske nakhre mat uthao.

      Reply
    • Aur better logo ke options hone chahiye aapke pass... log milte hain thoda time lagta hai

      Reply
    • आत्मनिर्भर बनो
      खुद से और खुद के काम से प्यार करो
      उसमें खुद को खुश पाओ

      Reply
  3. Muje bahut Rona aata Hai jb koe Mera dil ka kribi muje ignore kre or muje time na de to

    Reply
    • आप हर किसी को सीरियस लेना छोड़ दो

      Reply
    • Jab meri glti ko sabke samne insult krta h mera kribi dost to mujhe bhut bura lgta h

      Reply
      • गलती हर किसी से होती हैं और जो दूसरों की गलतियों पर हंसता है वह बेवकूफ होता है।

        Reply
      • Bura lagta hai jab koi apke bina hi sab krle and bas apke saath formalty kare.. ki ye dekho ye lekr aye hai.. baki ghar ka sara kaam kro and jab importance leni ki bari ko to kuch v na mile

        Reply
  4. nice post Brother

    Reply
  5. Yah main reasons he jinki vajah se log hume ignore karate he, koun chahta he ki uska friend yaa relative selfish, ghamandi, dishonest, rude, negative, feku etc ho, khud hum bhi nahi chahte, isliye yadi hum chahte he ki hum logo me apni aek alg pehchan-imprestion khadi kare, log hume chahne or psnd karne lage to hume in sabhi chijo se dur rehna chahiye.

    Reply
    • बहुत ही शानदार पोस्ट हे

      Reply

Leave a Comment

×