गणतंत्र दिवस पर कविता - Republic Day Poem in Hindi

Republic Day Poem in Hindi: आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। यहाँ हम रिपब्लिक डे पर कई सारी बढ़िया- बढ़िया कविता लेकर आए हैं। जिनका इस्तेमाल आप अपने स्कूल में 26 जनवरी के दिन कर सकते हैं। यह देश-प्रेम गणतंत्र दिवस की कविता सबके अंदर देश के प्रति प्यार जगायेंगी। 26 January Poem in Hindi.

Republic Day Poem in Hindi

इस साल भारत अपना ७१वाँ गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा हैं। 26 जनवरी १९५० को भारत का संविधान लागु हुआ था। इस दिन को याद करने के लिए गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।

अगर आप गणतंत्र दिवस के बारें में विस्तार से जानना चाहते हैं तो निचे वाली पोस्ट से जानिए गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

अगर आप गणतंत्र दिवस के लिए कविता ओं की तलाश में आए तो यह पोस्ट आप ही के लिए हैं।

गणतंत्र दिवस पर कविता, 26 जनवरी के लिए कविता - Republic Day Poem in Hindi for 26 January 2022

रिपब्लिक डे पोएम इन हिंदी, रिपब्लिक डे पर कविता, गणतंत्र दिवस पर कविता, 26 जनवरी पर कविता, 26 जनवरी के लिए कवितायेँ, रिपब्लिक डे कविता, शायरी हिंदी में।

Happy 73th republic day 26 january 2022 poems in hindi, Republic day poem in hindi, 26 January poem in hindi, Gantantra diwas par kavita, 26 january ke liye kavita or shayari in hindi.

Republic Day Poem in Hindi

मुझको मेरा देश पसंद है

मुझको मेरा देश पसंद है,
इसका हर संदेश पसंद है,
इसकी मिट्टी में मुझको,
आती सोंधी सी सुगंध है,
इसकी हर एक बात निराली,
इसकी हर सौगात निराली,
इसके वीरों की गाथा सुन,
आती एक नई उमंग हैं,
कितनी भाषा कितने लोग,
हर एक की एक नई है सोच,
संस्कृति सभ्यता भले ही हो भिन्न,
मिलते एकता के चिन्ह,
जो गर देश पर आ जाये आंच,
एक होकर सब आते साथ,
मेरा देश है बड़ा महान,
ये है एक गुणों की खान,
देखली हमने सारी दुनिया,
पर देखा ना भारत जैसा,
इस मिट्टी में जन्म लिया है,
इसकी हवाओं की ठंठक से,
साँसे पाती नया जन्म है,
मुझको मेरा देश पसंद हैं।

Best Poem for Republic Day in Hindi

कोशिश कर हल निकलेगा,
आज नहीं तो कल निकलगा।

कोशिश कर हल निकलेगा,
आज नही तो कल निकलेगा,
अर्जुन सा लक्ष्य रख निशाना लगा,
मरुस्थल से भी फिर जल निकलेगा,
मेहनत कर पौधों को पानी दे,
बंजर में भी फिर फल निकलेगा,
ताक़त जुटा, हिम्मत को आग दे,
फौलाद का भी बल निकलेगा,
सीने में उम्मीदों को ज़िंदा रख,
समन्दर से भी गंगाजल निकलेगा,
कोशिशें जारी रख कुछ कर ग़ुज़रने की,
जो कुछ थमा-थमा है चल निकलेगा,
कोशिश कर हल निकलेगा,
आज नहीं तो कल निकलगा।

26 January Poem in Hindi

देश हमारा सबसे प्यारा,
बच्चों इसे प्रणाम करो।

देश हमारा सबसे प्यारा,
बच्चों इसे प्रणाम करो,
हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई,
साथ यहाँ सब रहते हैं,
सुख-दुःख जो भी इनको मिलते,
सारे मिल कर सहते हैं,
सबने मिलकर ठान लिया हैं,
भारत का यशमान मान करो,
बच्चों इसे प्रणाम करो।
होली, दिवाली, क्रिसमस सब त्यौहार हम मनाते हैं,
और ईद के अवसर पर हम सबको गले लगाते हैं,
यह भारत की परंपरा है,
इसका तुम सम्मान करो,
बच्चों इसे प्रणाम करो,
मानवता की रक्षा करते,
मानव धर्म निभाते हैं,
ठुकराया हो जिसको जग ने,
हम उसको अपनाते हैं,
ऐसा भारत अपना भारत,
इसका तुम गुणगान करो,
बच्चों इसे प्रणाम करो,
देश हमारा सबसे प्यारा,
बच्चों इसे प्रणाम करो।

गणतंत्र दिवस पर कविता

गणतंत्र दिवस का है अवसर,
हिस्सा लें इसमें बढ़ चढ़ कर,
निकाल के अपने सारे डर,
बढ़ते चले जीवन पथ पर,
इस पावन दिन ये ध्यान करें,
संविधान का सब सम्मान करें,
इतने सारे अधिकार जो दे,
सदा समर्पित उसको प्राण करें,
संविधान ने हर अधिकार दिया,
सबका सपना साकार किया,
शोषित वर्षों से था भारत,
उसको एक नया आकार दिया,
लोगों के मन में ना हो भय,
इसलिए सरकार की सिमा तय,
अधिकारों से जो वंचित हैं,
जा सकता है वो न्यायालय,
पुरखों ने पुख्ता काम किया,
संविधान हमारे नाम किया,
चर्चा हर एक धारा पर,
सुबह से लेकर शाम किया,
देश की ऊँची शान करें,
तिरंगे का गुणगान करें,
राष्ट्र हित में जो अनिवार्य,
बिना कहे योगदान करें।

ये थी गणतंत्र दिवस के अवसर पर 26 जनवरी के लिए कवितायेँ।

अंतिम शब्द

यहाँ दी गयी रिपब्लिक डे पर कविता ओं का इस्तेमाल आप अपने स्कूल कॉलेज में गणतंत्र दिवस के अवसर पर 26 जनवरी के दिन कर सकते हैं।

अगर आपको रिपब्लिक डे शायरी चाहिए तो निचे वाले आर्टिकल में Republic day Shayari मिल जाएँगी।

यहाँ भी पढ़ें:

यदि आपको इस पोस्ट में Republic Day Poem in Hindi पसंद आए तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×