क्रिसमस डे पर निबंध - Christmas Day Essay in Hindi

क्रिसमस ईसाईयों का सबसे बड़ा त्यौहार है। यह त्यौहार प्रतिवर्ष 25 दिसम्बर को ईसा मसीह के जन्मदिन को याद रखने और सम्मान देने के लिए मनाया जाता है। इस दिन जीसस क्राइस्ट का जन्म हुआ था। इसे मसीह के पर्व दिवस के रूप में जाना जाता है। यहाँ हम स्टूडेंट्स के लिए क्रिसमस पर निबंध शेयर कर रहे है। जिनका इस्तेमाल विद्यार्थी क्रिसमस निबंध लेखन प्रतियोगिता में कर सकते है। Christmas Day Essay in Hindi.

Christmas Day Essay in Hindi

क्रिसमस ईसाई धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार है। ईसाई धर्म के लोग हर साल 25 दिसंबर को पुरे जोर-शोर से यह दिन मनाते है। यह वह दिन है जिस दिन ईसा मसीह का जन्म हुआ था। ईसा मसीह एक महान व्यक्ति थे जिन्होंने लोगों को सत्यमार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करने में अपना सारा जीवन बिता दिया।

इसलिए प्रतिवर्ष क्रिश्चियन समुदाय के लोग ईसा मसीह या जीसस क्राइस्ट के जन्मदिन पर क्रिसमस डे मनाते है ताकि उनको सम्मान और उनके जन्मदिन का जश्न मना सकें। क्रिसमस पर कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। इस दिन विद्यालयों में भाषण, निबंध लेखन प्रतियोगिताएँ आदि होती हैं।

इस पोस्ट में हम सभी छात्रों के लिए क्रिसमस पर आसान और सरल निबंध लेकर आये है। जिन विद्यार्थियों ने क्रिसमस निबंध लेखन प्रतियोगिता में हिस्सा लिया है उनके लिए ये निबंध मददगार साबित हो सकते है। साथ ही आपको भी इनसे क्रिसमस के बारे में जानकारी मिल सकती हैं।

क्रिसमस पर निबंध - Christmas Essay in Hindi 2022

क्रिसमस २०१९ निबंध हिंदी में, विद्यार्थियों के लिए क्रिसमस डे पर निबंध, बच्चों के लिए क्रिसमस के त्यौहार पर आसान निबंध, क्रिसमस पर 10 लाइन निबंध, 1 to 12 कक्षा के छात्रों के लिए क्रिसमस पर सरल और लघु निबंध, क्रिसमस डे के लिए निबंध व् भाषण हिंदी में।

Happy christmas 2022 essay in hindi, Short and simple essay on christmas day in hindi, Christmas day essay in hindi language for students, Christmas par nibandh hindi mein, 10 lines on christmas in hindi, about jesus christ in hindi.

विद्यार्थियों के लिए क्रिसमस पर निबंध हिंदी में

क्रिसमस ईसाईयों का सबसे प्रसिद्ध त्यौहार है। यह त्यौहार हर साल 25 दिसम्बर को पूरी दुनिया में मनाया जाता है। क्रिसमस को भारत में "बड़ा दिन" कहा जाता है। क्रिसमस दिवस 25 दिसम्बर को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि 25 दिसम्बर को यीशु मसीह का जन्म हुआ था। वे ईसाई धर्म के संस्थापक थे। अर्थात् जिन्होंने ईसाई धर्म बनाया और शुरुवात की।

ईसा मसीह एक महान व्यक्ति थे। उन्होंने लोगों को मिलजुल कर प्यार और भाईचारे से रहने का पाठ पढ़ाया। ईसाई धर्म के लोग यीशु को ईश्वर का बेटा मानते थे। इसलिए ईसाईयों द्वारा ईसा मसीह के जन्मदिवस पर लोग हर साल हर्षोल्लास से क्रिसमस मनाते हैं।

क्रिसमस आने से कुछ दिन पहले से ही लोग अपने घरों को सजाने में लग जाते है। बाजारों में तैयारियाँ शुरू होने लगती है। सभी नए पकड़े खरीदते है, अपने घरों को सजाते है। चर्च को तरह-तरह की लाइट्स से चमकाया और महकाया जाता है। इस दिन चर्च में भारी संख्या में लोग जमा होते है।

क्रिसमस के दिन चर्च में 12 बजें तक पूजा की जाती है। उसके बाद लोग एक-दुसरे को क्रिसमस की शुभकामनाएँ देते है। साथ ही क्रिसमस पर लोग अपने घर के सामने क्रिसमस ट्री लगाते है।

इसके अलावा ईसाई धर्म के लोगों के लिए इस दिन केक बहुत मायने रखता है। इस दिन लोग जन्मदिन की तरह केक काटते है और अपने परिवार के लोगों को केक खिलाकर क्रिसमस और यीशु के जन्मदिन की बधाई देते है।

बच्चों के लिए क्रिसमस डे बहुत खुशी और मौज-मस्ती का दिन होता है। कहा जाता है की इस दिन सांता क्लोज़ आते है और गिफ्ट देकर जाते है। इसलिए सभी बच्चे Santa Claus का इंतजार करते है।

क्रिसमस दिवस के अगले दिन भी चर्च में प्रार्थना की जाती है। सभी अपने लिए अच्छी जिंदगी की कामना करते है।

Christmas Essay in Hindi

क्रिसमस ईसाई धर्म का बहुत प्रसिद्ध त्यौहार है जो 25 दिसम्बर को प्रतिवर्ष पुरे विश्व में हर्षोल्लास से मनाया जाता है। यह त्यौहार ईसा मसीह (Jesus Christ) के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। ईसा मसीह ईसाई धर्म के संस्थापक थे। ईसाई धर्म के लोग यीशु को भगवान् का बेटा मानते थे।

ईसा मसीह एक महापुरुष थे। वे दुनिया में दुखी लोगों का दुःख दूर करने और ईश्वर के रूप को लोगों के सामने प्रकट करने के लिए अवतरित हुये थे। शुरू में उन्हें बहुत परेशानियाँ झेलनी पड़ी लेकिन धीरे-धीरे उनके साथी बढ़ने लगे। उन्होंने अपने उपदेशों से दुनिया में दुःख, अज्ञानता, अंधविश्वास आदि को खत्म करने की कोशिश की।

इस तरह धीरे-धीरे ईसा मसीह की लोकप्रियता बढ़ने लगी। कहा जाता है की ईसा मसीह की लोकप्रियता देखकर यहूदियों को जलन होने लगी। उन्हें लगा की अगर ऐसा ही चलता रहा तो ईसा मसीह हमसे सत्ता छीन लेगा। इस सब साजिश के चलते ईसा मसीह को सूली पर चढ़ा दिया गया।

ईसाई धर्म के लोग विश्वास करते है की ईसा मसीह तीसरे दिन फिर जीवित हो गये थे। उन्होंने कई ऐसे चमत्कार किये जो लोगों के लिए असंभव थे। कहा जाता है की ऐसा करने की शक्ति उन्हें ईश्वर ने दी थी।

उन्हीं की याद में मनाया जाने वाला क्रिसमस डे आज ईसाई धर्म के लोगों का सबसे लोकप्रिय त्यौहार है। इसलिए इसे बड़ा दिन भी कहा जाता है। ईसाईयों के लिए यह दिन उतना ही महत्व रखता है जितना हिंदू धर्म के लोगों के लिए दिवाली और दशहरा महत्व रखता है।

क्रिसमस के दिन लगभग पुरे विश्व में अवकाश रहता है। क्रिसमस आने से कुछ दिन पहले से ही लोग अपने घरों और चर्च को सजाने में जूट जाते है। इस खास अवसर पर कई प्रकार के व्यंजन बनाये जाते है। सभी नये कपड़े पहनते है। इस दिन को लोग बड़ी खुशी और उत्साह के साथ गाते, नाचते मनाते हैं।

ईसाईयों के लिए इस दिन क्रिसमस ट्री बहुत महत्व रखता है। सभी अपने-अपने घरों के सामने खूबसूरत क्रिसमस पेड़ लगाते है। इस दिन हर परिवार क्रिसमस ट्री के चारों तरफ जमा होकर ईसा मसीह की प्रशंसा और प्रार्थना करते है और अपनी गलतियों के लिए क्षमा माँगते है।

प्रार्थना खत्म होने के ठीक 12 बजे केक काटकर एक-दुसरे को क्रिसमस की बधाई देते है। इस दिन सांता आता है और बच्चों को अच्छे-अच्छे गिफ्ट्स देकर जाता है। इस तरह ईसा मसीह की याद में क्रिसमस मनाया जाता है।

ईसा मसीह एक ऐसे महान व्यक्ति थे जिन्होंने सादा जीवन जीते हुये भी संसार को अच्छे और उच्च आदर्श दिये थे और वे हमेशा अच्छे आदर्शों के अनुकरणीय रहेंगे।

ईसा मसीह ने दुनिया के दुःख, अज्ञानता और अंधविश्वास को खत्म करने के लिए प्रयास करते-करते अपना पूरा जीवन ईश्वर को समर्पित कर दिया था।

Short Essay on Christmas in Hindi

क्रिसमस ईसाईयों का एक त्यौहार है जो प्रभु यीशु के जन्म का प्रतीक है। यह दुनिया भर में हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है। जीसस क्राइस्ट का जन्म आज के दिन मदारी में बाथलेहम में हुआ था।

ईसाई धर्म में, यीशु मसीह को ईश्वर का पुत्र माना जाता है। क्रिसमस का त्योहार धर्म की सीमाओं को पार कर गया है और सभी को उनके धर्म और राष्ट्रीयता के बावजूद मनाया जाता है।

यह विश्व भर में बहुत उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है। इस त्योहार को बड़े हो चुके बच्चों द्वारा समान रूप से प्यार और पोषित किया जाता है।

क्रिसमस से पहले सभी घरों और चर्चों की सफाई की जाती है। वे क्रिसमस के उत्सव के लिए सुंदर रूप से झाड़ियों और फूलों से सजाए गए हैं।लोग अपने घरों में रंगबिरंगे गेंदों, रिबन और लाल मोजे के साथ एक क्रिसमस ट्री सजाते हैं।

धार्मिक लोग चर्च में जाते हैं और मोमबत्तियाँ जलाकर प्रभु यीशु की पूजा करते हैं। लोग क्रिसमस के दौरान अपने घर पर दोस्तों और रिश्तेदारों को आमंत्रित करते हैं।

वे उपहार वितरित करते हैं, क्रिसमस कार्ड का आदान-प्रदान करते हैं, दावतों का आयोजन करते हैं और इस अवसर पर क्रिसमस कैरोल गाते हैं।

बच्चों को बहुत सारे उपहार और नए कपड़े मिलते हैं। उन्हें शराबी लाल और सफेद पोशाक पहने हुए सांता क्लॉज़ से उपहार और मिठाई भी मिलती है।

क्रिसमस प्यार, खुशी और देखभाल का त्योहार है। यह जरूरतमंदों को बांटने और उनकी मदद करने के बारे में है। यह त्योहार हमें प्रार्थना, प्रेम और बलिदान का एक महान जीवन जीना सिखाता है।

निष्कर्ष,

ये थे क्रिसमस पर निबंध हिंदी में, हमारे द्वारा यहाँ उपलब्ध कराए गए निबंध छात्रों के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं। क्रिसमस निबंध लेखन प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यार्थी इनकी मदद से क्रिसमस के लिए एक बढ़िया निबंध लिख सकते हैं।

अगर आपको क्रिसमस पर भाषण चाहिए तो निचे वाले आर्टिकल में से आप अपनी आवश्यकता के अनुसार कोई भी क्रिसमस स्पीच का चयन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

यदि आपको Christmas Essay in Hindi पसंद आए तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×