सफलता की कुंजी, प्रेरणादायक कहानी

बचपन में शेतानियाँ हम सभी करते है, किसी ने कम तो किसी ने ज्यादा। शायद आपने बचपन में पेड़ से फल भी चुराये होंगे। ऐसी एक कहानी है एक लड़के की। जब वो स्कूल जाता था तो वो एक बगीचे से होकर गुजरता था। वो आम का बाग था। आम का बाग आमों से लदा हुआ था। मीठे रसीले आम देखकर उस लड़के का मन रोज ललचाता था। Motivational Story in Hindi.

Key of success Motivational story in hindi

लेकिन उस बाग में हमेशा माली रहता था। एक दिन लड़के ने देखा माली सो रहा है। उसके लिए बहुत अच्छा मौका था। वो चुपचाप भाग कर अंदर गया। उसने देखा पेड़ों पर हर तरफ आम ही आम थे पर पेड़ों की ऊचाई थोड़ी ज्यादा थी तो उस लड़के ने सोचा, क्यों ना पत्थर मारकर आम तोड़ लिया जाए।

भगवान् ने चाहा तो एक 2 आम तो हाथ लग ही जायेंगे। यह सोचकर उसने कई सारे पत्थर इकट्ठे किए और एक आम के पेड़ पर पत्थर मारने शुरू किए, उसने बहुत सारे पत्थर मारे पर एक भी आम निचे नहीं गिरा।

फिर उसने सोचा कि इस पेड़ से शायद मुझे आम नहीं मिल पायेंगे इसलिए उसने दुसरे पेड़ पर पत्थर मारने शुरू कर दिए। उसने बहुत पत्थर आम के पेड़ पर मारे लेकिन एक भी आम उसके हाथ नहीं लगा।

सफलता की कुंजी (Key of Success) Motivational Story in Hindi

उसने कई सारे पेड़ों से आम तोड़ने की कोशिश की पर एक बार भी वो आम तोड़ने में सफल नहीं हुआ। हर बार निराश हुआ। फिर वो अपनी किस्मत को कौसने लगा, मेरी तो किस्मत ही खराब है, कितनी कोशिश की मैंने, फिर भी कुछ हाथ नहीं लगा।

भगवान् भी नहीं चाहते की मुझे एक भी आम मिले। ऐसा ही हम सब करते है। अगर हमें बार-बार प्रयास करने पर भी परिणाम नहीं मिलते है तो हम सारा दौष ईश्वर को देते हैं।

ऐसा ही वो लड़का कर रहा था। ऐसा सोचते हुए निराश होकर वो बाग से बाहर जाने लगा। दूर लेटा माली चुपचाप सबकुछ देख रहा था। उसने उस लड़के को बुलाया। लड़का पहले तो डर गया लेकिन जब माली ने प्यार से उसकी निराशा और उदासी का कारण पूछा।

तो उसने बाग़ में जो भी हुआ सब कुछ माली को बता दिया। माली भी हँसने लगा और पास बैठाकर उससे कहा कि, तुमने जब एक पेड़ को बहुत सारे पत्थर मारे और एक भी आम नहीं गिरा।

तो तुमने आम तोड़ने के तरीके को नहीं बदला बल्कि पेड़ ही बदल दिया। तुमने वही तरीका दुसरे पेड़ पर भी आजमाया पर फिर भी आम नहीं गिरे। तुमने फिर पेड़ बदल दिया, तुमने हर बार पेड़ बदला पर तुमने अपना तरीका नहीं बदला।

माना कि पेड़ अलग था पर जितने प्रयास और उर्जा तुमने अलग अलग पेड़ पर लगाईं उतनी एक पेड़ पर लगाते, अपने तरीके को बदलते, पत्थर मारने के बजाय थोड़ी हिम्मत करके पेड़ पर चढ़ जाते तो एक चोथाई प्रयासों में ही तुम सफल हो जाते।

तब तुम जितना चाहते उतने आम तोड़ सकते थे। अब आपको लग रहा होगा कि, आम तोड़ना कितना आसान था पर तुमने सोचा ही नहीं।

सीख

ऐसा ही हमारी जिंदगी में होता है। यह किस्सा school life से शुरू हो जाता है। हम अलग अलग क्षेत्रों में अपनी किस्मत आजमाते है। जब सफल नहीं होते है तो काम के तरीके नहीं बदलते है बल्कि काम ही बदल देते है।

हम जीवन में सफलता तो पाना चाहते है लेकिन हमारे प्रयास बिखरे हुए होते है। हमारा लक्ष्य तय नहीं होता है। वो एक गतिविधि जो हम सभी ने कभी ना कभी की है।

जिसमें लेंस को कागज के सामने पकड़कर रखते है और दूसरी तरफ से सूरज की रोशनी उस लेंस से गुजर कर कागज पर पड़ती है। जब कागज के छोटे से हिस्से पर वो थोड़ी देर के लिए फोकस देती है तो कागज जलने लग जाता है।

अगर कामयाबी चाहते है तो सोच समझकर पहले लक्ष्य तय करे। खुद से कहे, ये मेरा लक्ष्य है, इसी के लिए मैं बना हूं और यही मुझे हासिल करना है। फिर अपनी पूरी ताकत, पूरे प्रयास उसी पर लगा दे।

फिर दुनिया की कोई ताकत आपको आपका लक्ष्य हासिल करने से नहीं रोक सकती। बस यही है सफलता का मंत्र। Key of Success.

कोई भी motivational story केवल आपको प्रेरित कर सकती है सफल नहीं। आप सिर्फ प्रेरणा से ही अपना लक्ष्य नहीं हासिल कर सकते, आपको प्रेरणा के प्रयास करने होंगे।

आप प्रेरणादायक कहानियां पढ़ते है अच्छी बात हैं। ऐसी ही जिंदगी बदल देने वाली कहानियां पढ़ने के लिए जुड़े रहे। बताईये ये कहानी आपको कैसी लगी।

यदि आपको इस कहानी से अच्छी सीख मिले और यह पोस्ट आपको प्रेरित करें तो सोशल मीडिया पर शेयर करें।

सम्बंधित

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. बहुत ही बेहतरीन कहानी है

    Reply

Leave a Comment

×