ज़िंदगी में ये 10 फैसले आपको खुद की मर्जी से लेने चाहिए

जिंदगी में कुछ फैसले ऐसे होते है जो हमे खुद लेने चाहिए, क्युकी कई बार हमारी ज़िंदगी में ऐसा वक्त भी आता है जब हम अपने लिए डिसीज़न नहीं ले पाते है और दुसरो की बातों में आकर फैसला कर लेते है। इसका नतीजा ये होता है की हम उस फैसले के लिए फिर जीवनभर पछताते रहते है। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिनके फैसले आपको खुद से लेने चाहिए, तो आइए और जानते हैं कि वह कौन-कौन सी बातें हैं जिनके फैसले हमें स्वयं लेने चाहिए, जीवन में किन-किन कामों को खुद के हिसाब से करना चाहिए?

ज़िंदगी में कुछ ऐसे फैसले जो आपको खुद लेने चाहिए

अहम फैसलों के लिए बड़ों पर निर्भर रहना ठीक हो सकता है लेकिन हर काम में नहीं। जिंदगी में कुछ काम ऐसे भी होते हैं जिनमें हम अपने मां-बाप, रिश्तेदारों और दोस्तों की सलाह के बिना खुद फैसले लेने होते हैं।

इन जिंदगी से जुड़े फैसलों के बारे में बहुत से लड़के या लड़की को पता नहीं होता है और वह दूसरों की बातों में आकर दूसरों की इच्छा अनुसार निर्णय ले लेते हैं और फिर जीवन भर उन्हें इसका पछतावा होता है।

ज़िंदगी में कुछ ऐसे फ़ैसले होते हैं, जो हमें ख़ुद लेने चाहिए और क्यों, इस सब के बारे में हम आपको इस पोस्ट में विस्तार से बताएंगे।

जिंदगी में निम्न काम आपको अपनी मर्जी से करना चाहिए

इन कामों को दूसरे की मर्जी से या दूसरे की परमिशन लेकर करते हो तो आपको जिंदगी भर पछताना पढ़ सकता हैं। हालांकि हर बार ऐसा नहीं होता है लेकिन अगर ऐसा होता है तो आप बस जीवन भर यही सोचते रहोगे कि मैंने ऐसा क्यों किया?

इन निम्न कामों में आपको खुद से फैसले लेने की जरूरत होती है।

1. कैरियर (Career)

एक स्टूडेंट के सामने सबसे बड़ा सवाल यही होता है कि वह अपना कैरियर किसमें बनाएं? इसके लिए वो हमारा, आप, अभिभावक, दोस्त, रिश्तेदार और पता नहीं किन-किन लोगों की मदद लेता है।

मान लीजिए आपको इंजीनियरिंग करनी है और आप इसके बारे में सब लोगों से सवाल पूछते हैं तो लोग आपको वही बताएंगे जो उन्होंने अनुभव किया होगा।

हो सकता है उनका अनुभव आपको डरा दे औरआपको पीछे हटने पर मजबूर कर दे। इसलिए बेहतर यही है कि आपको क्या करना है और क्या नहीं वो ख़ुद सोचे, दूसरों पर निर्भर ना रहें।

2. दिल की सुनना (Listen your Heart)

हमारा दिल या फिर हमारी आत्मा हमेशा हमें सही रास्ता दिखाती है लेकिन हम दिल की बात नहीं सुनते हैं। जबकि हमें दूसरों की बातें सुनकर अपने दिमाग से फैसला लेना चाहिए और अगर आपका दिमाग भी काम ना करे तो दिल की सुननी चाहिए।

हमें अपनी जिंदगी से ज्यादा दूसरे लोगों की फिक्र होती है। हम हमेशा सोचते रहते हैं कि " लोग क्या कहेंगे" बस इसी उधेड़बुन में खो जाते हैं और अपना रास्ता भटक जाते हैं।

3. एनर्जी का सही इस्तेमाल (Use your Power)

अक्सर ऐसा होता है कि हम जब भी कोई काम शुरू करते हैं तो उसे अधूरे मन से करते हैं और फिर लोग हमें आपके बारे में गलत गलत बोलते हैं और हम उनकी बातों का यकीन कर लेते हैं।

जैसे कि "तुमसे यह ना हो पाएगा" और फिर यह सब सोचकर हम अपनी एनर्जी का सही से उपयोग नहीं कर पाते हैं। नतीजन हम फ़ैल हो जाते हैं।

अगर आप कोई ऐसा काम कर रहे हैं, जिसमें आपको ख़ुशी नहीं मिल रही है और आपको लग रहा है कि उसमें आपका टाइम और एनर्जी वेस्ट हो रही है तो उसे फ़ौरन छोड़ देना चाहिए. वो करो जो आपको पसंद हो।

अगर आप अपनी पसंद का काम करोगे तो आप उसमें अपनी पूरी एनर्जी का इस्तेमाल कर पाओगे और अगर आप अपनी पूरी एनर्जी का इस्तेमाल करोगे तो सीधा सा मतलब है कि आपको कामयाबी जरूर मिलेगी।

4. आत्मनिर्भर बने (Be Self Sufficient)

अगर आप आजादी की जिंदगी जीना चाहते हो और आजादी को महसूस करना चाहते हो तो आपका सेल्फ़ डिपेंड होना ज़रूरी है। जब आप किसी और पर depend रहोगे तो वो आपकी ज़िंदगी में न चाहते हुए भी शामिल हो जाएंगे।

इससे होगा यह है कि वो आपके फ़ैसलों में भी अपनी राय रखेंगे और आप उनकी वजह से गलत फैसले कर बैठोगे। इसलिए सही रास्ता चुनो और सेल्फ़ डिपेंड बनो।

5. खुद को खुश रखो (Be Happy)

दुनिया का सबसे बड़ा सच है कि आप सबको ख़ुश नहीं रख सकते हैं हैं। अगर आप सबको ख़ुश करने की कोशिश कर रहे हैं तो आप कहीं न कहीं किसी के ग़लत में उसका साथ दे रहे हैं।

दूसरों के लिए अपने आपको मत बोलो। जब आप कामयाब हो जाएंगे तो दुनिया आपके पीछे होगी। इसलिए ख़ुद को ख़ुश करो और दूसरों के बारे में ज़रूरत से ज़्यादा मत सोचो।

6. समय बर्बाद ना करें (Don't Waste Time)

दूसरों से अप्रूवल लेने में समय और सपने दोनों की बर्बादी होती है। जब आप किसी से अपनी बात को शेयर करेंगे तो वो सुनेंगे फिर उस पर सोचेंगे और फिर उसके बाद जवाब देंगे।

इसलिए ना तो दूसरों के कहने पर अपना समय बर्बाद करो और ना ही किसी को समझाने के लिए अपना समय बर्बाद करो। जब तक आप सफलता हासिल नहीं कर लेते तब तक आपके लिए आराम हराम होना चाहिए।

7. आपकी खुशियां आपकी हैं (Your Happiness is Yours)

जिस काम को करने में आपको ख़ुशी मिलती है, उसमें दूसरों को भी खुशी मिले ये ज़रूरी नहीं है। आपको जो पसंद है वह दूसरों को भी पसंद हो यह जरूरी नहीं है। यहां हर किसी की सोच अलग होती है।

इसलिए खुद के लिए ख़ुद ही प्लान बनाओ और उन पर लगातार चलते रहो। हो सकता है थोड़ी दिक्कतें आएं, लेकिन आखिर में वो मंज़िल तुम्हारी होगी और उस पर पहुंचने की मेहनत भी तुम्हारी होगी। तब आपके लिए उस ख़ुशी से बड़ी कोई ख़ुशी नहीं होगी।

8. खुद को पहचाने (Identify Yourself)

किसी को भी आपको define करने का मौका ना दें। किसी से भी रिश्ता बनाने से पहले ख़ुद के साथ एक रिश्ता बनाओ और खुद से ही प्यार करो। ख़ुद को समझने की कोशिश करो।

ऐसा तभी होगा जब आप ख़ुद को कुछ समय के लिए दूसरों से अलग कर अपने दिल और दिमाग़ को सुनने की कोशिश करेंगे। आप दुनिया में सबसे स्पेशल हैं यह बात आपको समझनी होगी।

लोग पता नहीं आपको क्या क्या बोलेंगे, मगर आपको ध्यान रखना होगा कि जो लोग आपके बारे में बोलते हैं आप वो नहीं हो। आप वह हो जो कभी हिम्मत नहीं हारता।

9. अपनी लाइफ को खुद कंट्रोल करो (Control your Life Yourself)

अक्सर हम दूसरों की इच्छा अनुसार जिंदगी जीते हैं और हमारी लाइफ का कंट्रोल बटन दूसरों के हाथों में होता है। हम वही करते हैं जो दूसरे लोग हम से करवाना चाहते हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए।

अपनी लाइफ़ का कंट्रोल बटन अपने हाथ में रखो। जब हम दूसरों पर ज़्यादा निर्भर होने लगते हैं तो वो हमें कंट्रोल करने की कोशिश करते हैं। तब आपको ये मत करो, वो मत करो जैसे सवालों से घेर लिया जाता है।

इसलिए जितना हो सके दूसरों से मतलब भर का ही मतलब रखो। उन्हें अपनी जिंदगी में इतनी अहमियत मत दो कि आप उनके लिए कुछ भी करने के लिए मजबूर हो जाए।

10. आखरी फैसला आपका होना चाहिए (Last Decision is Yours)

अक्सर ऐसा होता है कि हम बहुत सी चीजों की शुरुआत करने के बारे में सोचते हैं लेकिन फिर उसके बारे में दूसरे लोगों से सलाह लेते हैं और फिर उनकी नेगेटिव बातें सुनकर अपना इरादा बदल लेते हैं।

आपको कभी भी ऐसा नहीं करना है। हां आप दूसरों से सलाह लीजिए, यह गलत नहीं है। मगर आखरी फैसला आपका होना चाहिए, जो कि आपको अपने दिलो दिमाग से लेना है।

निष्कर्ष,

इस आर्टिकल में बताई गई इन 10 बातों में आपको हमेशा खुद से फैसले लेने होंगे वरना आपको 1 दिन पछतावा हो सकता है। उदाहरण के लिए एक छात्र दूसरों की सलाह पर गलत सब्जेक्ट का चुनाव कर लेता है।

वो उस सब्जेक्ट को चुनता है जिसमें उसका बिल्कुल भी इंटरेस्ट नहीं होता। उसे दूसरों से सलाह मिली थी कि अच्छे से पढ़ाई करने पर सब समझ आ जाता है।

मगर यह बात उसे तब समझ आती है जब एग्जाम नजदीक आ जाता है। तब उसे दूसरों की सलाह से लिए गए गलत निर्णय का पछतावा होता है और वह सोचता है कि काश उस वक्त मैं अपने दिल की सुन लेता।

इसलिए हमेशा जीवन में आगे बढ़ने से संबंधित फैसलों को आपको अपनी मर्जी से लेना चाहिए। हमारा मतलब यह नहीं है कि आप बड़ो से सलाह लेना बंद कर दे। आप बिल्कुल ऐसा करें मगर फैसला आपका ही होना चाहिए।

यह भी पढ़ें.

अगर आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 9 )

  1. very good content sir

    Reply
  2. Waaa Kay artical hain, main puri motivate hogai hyu... thanks a lot

    Reply
  3. काफी अच्छा सुझाव दिए है, धन्यवाद साझा करने के लिए !

    Reply
  4. बेहतरीन और लाजवाब मोटिवेशनल लेख...

    Reply
  5. Kya baat hai sir maja aa gya read karke...Bahut motivation mila mujhe is post se.

    Reply
  6. Amazing post thanks for sharing this article I am truly motivated by you for blogging

    Reply
  7. जुमेदीन सर, आपने सच में बहुत ही बेहतरीन और लाजवाब मोटिवेशनल लेख लिखा है. आपको दिल से शुक्रिया..

    Reply
  8. Bhot hi lajwab sir..

    Y hum sbhi k liye bhot jruri h qki khud ka decision hona chahiye...

    Bhot s log dusre log kya khenge sochke kuch krne s ruk jate h ya grwale support nhi krte en sb s presan ho jate h...

    Unko itna to open minded hona chahiye ki khud ka carrer khud decide kr ske

    Reply
  9. वा सरकार बहुत ही लाजवाब आर्टिकल लिखा है ऐसे ही लिखते रहे और हमे एक सही दिशा दिखाने का कष्ट करे
    लव यू गुरु लव यू

    Reply

Leave a Comment

×