गोवा का शिगमोत्सव फेस्टिवल 2022 - Shigmotsav Festival in Hindi

गोवा का शिगमोत्सव फेस्टिवल 2022: क्या आप जानते हैं शिगमोत्सव फेस्टिवल कब है और कहां और क्यों मनाया जाता है? When is shigmotsav festival in hindi, Shigmo/ shigmotsav festival in goa, dates and history, Shigmo festival information in Hindi. इस आर्टिकल में आपको शिगमोत्सव फेस्टिवल के बारे में जानकारी मिलेगी। आईये जानते है शिग्मो, शिगमोत्सव त्योहार के बारे में।

Shigmotsav festival

शिग्मो या शिगमोत्सव भारत के गोवा राज्य में मनाया जाने वाला एक वसंत त्योहार है। यह हिन्दुओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। शिगमोत्सव गोवा में एक लोकप्रिय त्योहार है। यह होली के त्योहार के समान है। हिंदू 14 दिन तक चलने वाले इस त्योहार को मनाते हैं। इस त्योहार में गोयन हिंदू परंपराओं और पौराणिक कथाओं का प्रदर्शन किया जाता है।

सर्दियों की विदाई को चिह्नित करने के लिए शिगमोत्सव मनाया जाता है। यह त्यौहार हिन्दुओं द्वारा बसंत के मौसम के आगमन के दौरान मनाया जाता हैं। साथ ही, यह त्योहार सर्दियों को अलविदा कहने के लिए भी मनाया जाता है। गोवा में शिगमोत्सव का उत्साहपूर्वक आयोजित किया जाता हैं।

इस त्योहार के दौरान, लोग मांसाहारी भोजन और शराब के सेवन से दूर हो जाते हैं। शिग्मो या शिगमोत्सव त्योहार फाल्गुन (मार्च) के महीने में हिंदू कैलेंडर के अनुसार 9 वें चंद्रमा दिन से पूर्णिमा तक मनाया जाता है। यह गोवा में हिंदुओं के लिए सबसे बड़ा त्योहार है। पहले दिन ग्राम देवता को नहलाया जाता है और केसरिया रंग के कपड़े पहनाए जाते हैं। 5 वें दिन को 'रंग पंचमी' कहा जाता है।

गोवा का शिगमोत्सव फेस्टिवल की जानकारी - Shigmotsav Festival Information in Hindi

शिगमोत्सव का त्योहार गुरूवार 21 मार्च 2022 को है। महाराष्ट्र में शिगमोत्सव लोकप्रिय त्योहारों में से एक है। यह त्योहार भारत में होली के त्योहार से मिलता-झूलता है। यह मुख्य रूप से गोवा राज्य में बड़े उत्साह और धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन लोग पूरा दिन एक-दुसरे पर रंगीन पावडर और पानी फेंककर आनंद लेते हैं।

शिगमोत्सव का त्यौहार रंग, वेशभूषा, नृत्य, संगीन और परेड के साथ मनाया जाता है। गोवा शिगमोत्सव में पूरी मस्ती से डूब जाता है। इस दिन को 'गुलाल' या लाल पाउडर के प्रचुर उपयोग के साथ हर्षोल्लास से मनाया जाता है। 11th से 15 वीं चंद्र दिवस तक, ग्रामीण रंगीन कपड़े पहनते हैं और उत्सव के मूड के साथ बहुरंगी झंडों के साथ सजते हैं, ढोल पीटते हैं और बांसुरी बजाते हुए गाँव के मंदिरों में एकत्रित होते हैं।

इस त्योहार पर लोग एक-दुसरे को बधाई और उपहार का आदान-प्रदान करते हैं। इस अवसर पर ग्रामीण सड़क पर नृत्य कर त्योहार का आनंद लेते हैं। वे मंदिर के दरबार में ढोल की थाप पर विभिन्न लोक गीत गाते हैं और नाचते हैं। गोवा में विभिन्न दिनों में विभिन्न स्थानों पर ये झांकियां निकाली जाती हैं। जटिल रूप से तैयार की गई झांकियां त्योहार का एक प्रमुख हिस्सा हैं।

शिगमोत्सव का उत्सव एक जुलुस की तरह होता है और इसे गोवा के हिन्दू लोग कार्निवल के नाम से भी जानते हैं। जो वसंत (spring season) का स्वागत करता है और सर्दियों को अलविदा कहता हैं। शिग्मो फेस्टिवल का आयोजन 21 मार्च 2022 को किया जाएगा। यह त्योहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है। शिग्मो महोत्सव गोवा में रहने वाले हिन्दुओं के लिए सबसे बड़े समारोह में से एक है।

वसंत के दौरान गोवा का शिगमोत्सव हिन्दुओं का एक सुंदर और शुभ त्योहार है। यह त्योहार 5 दिनों तक चलता है। जैसे हिंदू लोग होली मनाते है कुछ ऐसे ही यह त्योहार मनाया जाता है। यह त्योहार अच्छा भाग्य लाने के लिए जाना जाता है। यह त्योहार वसंत के मौसम में मनाया जाता है।

इसलिए इसे अच्छी फसल लाने वाला त्योहार भी माना जाता है। शिग्मो परेड इस त्योहार का मुख्य केंद्र बिंदु और आकर्षण है। यह त्योहार देश के अन्य हिस्सों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है।

यह भी पढ़ें:

यदि आपको इस आर्टिकल में शिगमोत्सव फेस्टिवल के बारे में अच्छी जानकारी मिले तो सोशल मीडिया पर शेयर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×