रक्षा बंधन पर भाषण - Raksha Bandhan Speech In Hindi 2022

रक्षाबंधन भाई बहन का त्योहार हैं। साथ ही, यह हिंदुओं के सबसे प्रमुख त्योहारों में से एक है। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बाँधती है। यहाँ हम रक्षा बंधन पर भाषण लेकर आए हैं जिन्हें आप रक्षा बंधन के अवसर पर अपने स्कूल, कॉलेज आदि में सुना सकते हैं।

Raksha Bandhan Speech In Hindi

2022 में रक्षाबंधन 11 अगस्त को मनाया जाएगा। यह पर्व भाई बहन के रिश्ते को मजबूत बनाता है। यह त्योहार हर धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाना चाहिए।

यहाँ से आप अपनी पसंद और आवश्यकता के अनुसार रक्षा बंधन के लिए भाषण का चयन कर सकते हैं।

रक्षाबंधन पर भाषण 2022: Raksha Bandhan Speech In Hindi

रक्षाबंधन पर भाषण, रक्षा बंधन के लिए भाषण, राखी पर भाषण, Sample Speech on Raksha Bandhan In Hindi, Raksha Bandhan Speech In Hindi, Speech on Rakhi In Hindi, Raksha Bandhan par Bhashan Hindi Mein.

रक्षा बंधन पर भाषण

सभी को सुप्रभात,

आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय, शिक्षकों, माता-पिता और मेरे प्यारे दोस्तों। हम इस अवसर पर रक्षा बंधन मनाने के लिए यहां हैं।

रक्षा बंधन श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस शुभ अवसर पर, एक बहन अपने भाई की कलाई पर "राखी" नामक एक पवित्र धागा बांधती है।

भाई अपनी बहन को एक उपहार देता है और वह उसे मिठाई देती है।

यह वह दिन है जब भाई अपनी बहन से सभी मुसीबतों से रक्षा करने का वादा करते हैं और बहनें अपने भाइयों के भलाई के लिए भगवान से प्रार्थना करती हैं।

रक्षा बंधन केवल भाई-बहन के रिश्ते तक ही सीमित नहीं है, यह केवल एक धागा बांधने के बारे में नहीं है, यह बंधन और अन्य बाहरी कारकों के बावजूद हर पहलू में सुरक्षा के बारे में भी है।

आप सभी को धन्यवाद।

रक्षाबंधन पर भाषण

सुप्रभात!

आदरणीय मुख्य अतिथि, प्रधानाचार्य, शिक्षकगण, अतिथिगण और मेरे प्यारे साथियों!

आज रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर मैं आप लोगों के समक्ष अपने कुछ विचार व्यक्त करने जा रहा हूँ।

"राखी का त्योहार है,
हर तरफ खुशियों की बौछार है,
बंधा एक धागे में,
भाई बहन का अटूट प्यार है।

राखी शब्द संस्कृत के रक्षा शब्द से बना है। बंधन का तात्पर्य बाँधने से है।

इस प्रकार रक्षा बंधन वह सूत्र है, जिसका संबंध रक्षा के लिए तत्पर रहने से है।

रक्षाबंधन हिंदुओं का प्रमुख त्योहार है। रक्षाबंधन को राखी का त्योहार भी कहते हैं।

यह त्योहार पर भाई बहन का सबसे अनोखा त्योहार है। इस त्योहार पर सभी का मन हर्ष और उल्लास से भरा होता है।

रक्षाबंधन सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस पर्व पर बहनें सुबह स्नान करके पूजा की थाली सजाती हैं।

पूजा की थाली में कुमकुम, राखी, रोली, अक्षत, दीपक और मिठाई राखी जाती है।

उसके बाद घर के पूर्व दिशा में भाई को बैठाकर उसकी आरती उतारी जाती है।

सिर पर अक्षत डाला जाता है। माथे पर कुमकुम का तिलक किया जाता है। उसके बाद दाहिने हाथ पर राखी बाँधी जाती है, फिर मिठाई खिलाई जाती है।

भाई बहनों को उपहार देते हैं। रक्षाबंधन के दिन बहन भाई की कलाई पर राखी बांधकर अपने भाई की लंबी उम्र की दुआ करती है।

भाई अपनी बहन की पूरे जीवन भर रक्षा करने का वचन देता है। इस दिन खीर, सेवई आदि कई पकवानों को बनाया जाता है।

भाई से दूर होने पर बहनें अपने भाई के लिए कोरियर करके राखी भेजती हैं।

यह त्योहार भाई बहन को भावनात्मक तौर पर जोड़ता है। भाई बहन का रिश्ता खट्टा-मीठा होता है।

वे आपस में झगड़ते भी हैं पर एक दूसरे से बात किए बिना रह भी नहीं सकते।

रक्षाबंधन का त्योहार की परंपरा भाई बहन के रिश्ते को मानबूत बनाती है।

अत: हम सभी को यह उत्सव परंपरागत विधि से मनाना चाहिए।

रक्षा बंधन की कहानी

आइए अब रक्षाबंधन के इतिहास की कहानी देखते हैं।

राखी का इतिहास बहुत पुराना है। राखी की कहानियों में यह कहानी सर्वाधिक प्रचलित है।

एक बार श्री कृष्ण की उंगली कट जाने पर द्रौपदी ने अपनी साड़ी के एक कोने को फाड़कर कृष्ण के हाथ पर बांध दिया।

कथनानुसार द्रौपदी के सबसे मुश्किल समय में श्रीकृष्ण ने उस साड़ी के एक टुकड़े का कर्ज द्रौपदी का चीर हरण होने से बचाकर निभाया।

वह साड़ी का टुकड़ा कृष्ण ने राखी समझकर स्वीकार किया था।

एक और कहानी यह है कि चित्तौड़गढ़ की रानी कर्णावती ने जब देखा कि उनके सैनिक बहादुर शाह के सैन्य बल के आगे तिक नहीं पाएंगे तब रानी ने बहादुरशाह से अपने राज्य की रक्षा हेतु हुमायूँ कू राखी भेजी।

सम्राट हुमायूँ अन्य धर्म से संबंध रखने के बावजूद भी रानी कर्णावती की ओर से बहादुर शाह के विरुद्ध लड़ा।

आजकल महिलाएं देश की सुरक्षा में तैनात सैनिकों को सीमा पर जाकर राखी बाँधती है क्योंकि वह हमारी रक्षा करते हैं।

निष्कर्ष,

तो दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपके लिए रक्षा बंधन पर भाषण प्रस्तुत किए। अगर आपने अपने स्कूल में राखी पर भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लिया है तो यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित हो सकती है।

भाषण के अलावा यहाँ हमने आपको रक्षाबंधन की कहानी भी बताई, जिसे पढ़ने के बाद आपको रक्षा बंधन के त्योहार के बारे में बहुत सीखने और जानने को मिला होगा।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको रक्षा बंधन पर भाषण अच्छे लगे तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×