Parasitic Charging क्या है इससे क्यों बचना चाहिए

मोबाइल तो जैसे लोगों के लिए उनका एक जरुरी अंग बन गया है, सोते समय मोबाइल तो खाते समय भी फोन इस्तेमाल करते है सच कहू तो मैं भी कुछ कम नहीं हु. आज पूरी दुनिया की 79 प्रतिशत आबादी स्मार्टफोन के साथ अपना समय बिताते है यहा तक कुछ की लोग तो अपने फ़ोन में तब भी लगे रहते है जब वो अपना मोबाइल चार्ज कर रहे होते है, आपको नहीं पता हो पर जब हम चार्जिंग के दौरान भी फ़ोन का इस्तेमाल करते है तो फोन पर बुरा असर पड़ता है जिसे parasitic charging कहते है इस पोस्ट में आपको यही बताने वाला हु की पैरासाइटिंग क्या है और इससे आपको क्यों बचना चाहिए।

Parasitic Charging Kya Hai Or Isse Kyo Bache

स्मार्टफोन है ही ऐसी चीज जिसे देखकर हर कोई अपनी उंगलिया स्क्रीन पर टच करने के सपने देखने लग जाता है. रोज कोई ना कोई नया स्मार्टफोन यूजर पैदा हो रहा है, कुछ लोग नया फोन लेने के बाद उसे जरुरत के खिलाफ रगड़ते है जिसकी वजह से उनका नया फोन भी पुराने के साथ चलने लग जाता है।

इसके कई कारण है जैसे आपका मोबाइल स्लो चार्ज होता हो या हैंग होता हो या फिर गर्म होता होगा. तो समझ लीजिए आपके मोबाइल को parasitic charging करते है. अगर आप इसके बारे में नहीं जानते है तो आइये जानें की पैरासाइटिंग चार्जिंग क्या होती है।

Parasitic Charging क्या है?

दरअसल, बहुत से लोग क्या, जब आप अपने मोबाइल को चार्जिंग के दौरान इस्तेमाल करते है उसे ही पैरासाइटिंग चार्जिंग कहते है. अक्सर लोग अपने दिमाग पर जौर डालते है की उनका डिवाइस काफी समय से चार्ज में लगा है पर फिर भी फुल चार्ज नहीं हुआ. अगर आपके साथ ऐसा है तो आप भी parasitic charging करते है।

मतलब चार्ज में लगाकर अपने फोन से बात करना और फेसबुक ट्विटर पर लोगों को message करते रहना parasitic charging कहलाती है. इससे आपके डिवाइस में कई दिक्कतें आ सकती है।

पैरासाइटिंग चार्जिंग से क्यों बचना चाहिए?

जब आप अपने मोबाइल को चार्ज करते - करते चलाते है तो फोन की बैटरी पर बुरा असर पड़ता है जिससे आपके मोबाइल की बैटरी कमजोर हो जाती है और इसी कारण से फुल चार्ज नहीं हो पाती है।

मोबाइल एक्सपर्ट कहते है की अगर आप मोबाइल को ज्यादा दिन इस्तेमाल करना चाहते है तो ज्यादा जरुरत के बिना फोन को चार्ज में लगाते हुए इस्तेमाल ना करे, जितना हो सके पैरासाइटिंग चार्जिंग से बचें।

अगर आपको पता चल चूका है की parasitic charging क्या और इससे क्यों बचना चाहिए तो आइये जानें की इससे आपके मोबाइल पर क्या क्या बुरे प्रभाव पड़ते है।

Parasitic Charging से मोबाइल को क्या क्या नुकसान है?

  1. पैरासाइटिंग से आपका मोबाइल गर्म होगा।
  2. घंटों तक चार्ज लगाने पर भी फुल चार्ज और जल्दी चार्ज नहीं बल्कि स्लो चार्ज होगा।
  3. हो सकता है आपका मोबाइल हैंग होने लगे।
  4. आपके मोबाइल की बैटरी फुल जायेगी।
  5. या आपकी फोन की बैटरी ज्यादा दिन तक नहीं चलेगी।

अगर ये सब गड़बड़ आपके मोबाइल में है तो समझ लीजिए आप भी पैरासाइटिंग चार्जिंग करते है पर अब आपको पता चल गया है अब से आगे ये गलती ना करे और अगर आपका कोई दोस्त या भाई है तो उसे भी चार्जिंग के दौरान मोबाइल चलाने से रोके।

मुझे उम्मीद है अब आप parasitic charging के बारे में अच्छी तरह से जान गए होंगे और आगे से मोबाइल को पैरासाइटिंग चार्जिंग नहीं करेंगे और यही सही है क्युकी इससे आप अपने मोबाइल को जल्दी खराब होने से बचा सकते है।

साथ ही अगर आप अपने मोबाइल को parasitic charging मतलब चार्जिंग के दौरान इस्तेमाल नहीं कर रहे है और फिर भी आपका मोबाइल हैंग या स्लो चार्ज हो रहा है तो आप ये पोस्ट पढ़े मोबाइल स्लो चार्ज होने के 10 कारण.

इस पोस्ट में आपको मोबाइल धीमा चार्ज क्यों होता है उसकी पूरी वजह पता चल जायेगी।

अगर आपको parasitic charging क्या है और पैरासाइटिंग चार्जिंग से क्यों बचना चाहिए के बारे में पता चल गया है तो इस जानकारी को आगे शेयर करे।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. sir aapne bahut he achche post share ki hai isse bahut sar logo ko mobile kharab ho se bach sakte hai

    Reply

Leave a Comment

×