स्वतंत्रता दिवस पर निबंध - Independence Day Essay in Hindi 2022

भारत का स्वतंत्रता दिवस प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त को मनाया जाता है। सन् 1947 में इसी दिन भारत के स्वतंत्रता सेनानियों ने ब्रिटिश शासन से आजादी प्राप्त की थी। तब से, भारतीय प्रतिवर्ष 15 अगस्त के दिन हर्षोल्लास से स्वतंत्रता का जश्न मनाते हैं। इस दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हैं। यहां हम उन छात्रों के लिए 15 अगस्त पर आसान हिंदी निबंध लेकर आये हैं जिन्होंने स्वतंत्रता दिवस निबंध लेखन प्रतियोगिता में भाग लिया हैं। Independence day Essay in Hindi.15 August Independence Day Essay in Hindi

हम 15 अगस्त के दिन को भारत का पुनर्जन्म दिवस भी कह सकते हैं। यह ऐतिहासिक दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों से हमेशा के लिए उल्लेख किया गया है। हम सभी भारतीयों के लिए 15 अगस्त का दिन बहुत महत्व वे मायने रखता है। यह दिन स्वतंत्रता का स्मरण कराता है।

इस पोस्ट में हमने स्कूल के सभी वर्गों के बच्चों, छात्रों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर आसान भाषा में लिखे गए कई निबंध उपलब्ध कराए हैं। जिनमें से आप अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी भी निबंध का चयन कर सकते हैं।

यहां दिए गए निबंध 15 अगस्त के अवसर पर स्वतंत्रता दिवस निबंध प्रतियोगिता में भाग लेने वाले शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए मददगार साबित होंगे। Independence Day Essay in Hindi.

इसके अलावा, इन निबंधों के माध्यम से आप भारत के स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के बारे में विस्तार से जान जाओगे। जैसे कि, भारत के लिए 15 अगस्त के दिन का महत्व, स्वतंत्रता दिवस का महत्व, इतिहास आदि।

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर निबंध - Independence Day Essay in Hindi 2022

हैप्पी स्वतंत्रता दिवस 2022, 15 अगस्त पर निबंध, स्वतंत्रता दिवस 2022 पर निबंध, इंडिपेंडेंस डे हिंदी निबंध, छात्रों और शिक्षकों के लिए स्वतंत्रता दिवस (15 august) पर आसान निबंध, स्वतंत्रता दिवस का महत्व, 15 अगस्त का इतिहास, स्टूडेंट्स के लिए 15 अगस्त निबंध हिंदी में, बच्चों के लिए १५ अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर लघु निबंध।

Happy Indian 75rd independence day 2022 essay in hindi, 15 august essay in hindi, Independence day essay in hindi language for students and teachers, Short and simple essay on 15 august independence day in hindi for kids, Essay on 15 august hindi mein, Swatantrata diwas par nibandh, Essay on independence day in hindi language, Swatantrata diwas essay in hindi, 15 August hindi nibandh. Hindi Essay on Independence Day in Hindi 2022.

1) 15 अगस्त पर निबंध हिंदी में

हर साल 15 अगस्त के दिन को भारतवासी स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं। 15 अगस्त 1947 के दिन ही भारत को आजादी मिली थी जिसका लोगों को वर्षों से इंतजार था।

इस दिन भारत के सबसे पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। उस दिन लोग गुलामी की जंजीरें तोड़कर बहुत ज्यादा प्रसन्न थे। तब से भारत बहुत उन्नति कर चुका है।

आज भी सभी भारतीय अपना स्वतंत्रता दिवस बहुत ही हर्षों-उल्लास के साथ मनाते हैं। 15 अगस्त के दिन प्रधानमंत्री लाल किले पर तिरंगा फहराकर राष्ट्र को संबोधित करते हैं।

भाषण के माध्यम से वे राष्ट्र को मिलजुल कर रहने और अपनी आजादी को बरकरार रखने की प्रेरणा देते हैं। स्वतंत्रता दिवस के दिन देश के विभिन्न हिस्सों में कई प्रकार के समारोह आयोजित होते हैं।

इस दिन स्कूलों, कॉलेज और भवनों के उच्च पर झंडा फहराते है जो गर्व महसूस कराते हैं। लोग एक दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हैं।

स्वतंत्रता दिवस हमें अपने महान स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों की याद दिलाता है। इस दिन हम उन्हें सम्मान और श्रद्धांजलि देते हैं।

सभी भारतवासी इस दिन उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लेते हैं और अपने बच्चों को उनके बताए मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं।

15 अगस्त का दिन यानी स्वतंत्रता दिवस हम भारतीयों को आपसी मतभेद भुलाकर देश के नवनिर्माण की प्रेरणा देता हैं।

आओ, हम सब मिलकर अपने देश के नवनिर्माण में हाथ बटाएं।

2) जानिए, 15 अगस्त हिंदी निबंध के माध्यम से स्वतंत्रता दिवस का इतिहास

History of 15 august 1947, Indian Independence Day in Hindi:

भारतवासी अंग्रेजों के शासन से मुक्त होने के लिए और आजादी पाने के लिए छटपटा रहे थे। करीब 200 वर्षों से अंग्रेजों ने भारत को गुलाम बना रखा था।

इस गुलामी से छुटकारा पाने के लिए लाखों लोगों ने अपने प्राण गवाँए। जेलों में कष्ट झेलें, काला पानी की सजा भुगती और न जाने अंग्रेजों ने क्या-क्या जुल्मों-सितम ढहायें।

लेकिन हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने फिर भी हार नहीं मानी और उनके बलिदान और कठिन संघर्ष की बदौलत अतत: 15 अगस्त 1947 को उन्हें सफलता मिली और उन्होनें इस दिन हमें आजाद भारत दिलाया।

आधी रात के समय जवाहरलाल नेहरू ने जब स्वतंत्रता प्राप्ति की घोषणा की तब सारे देश में खुशी की एक सुनहरी लहर दौड़ गई। सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया।

इस अवसर पर देश-भर में उत्सव मनाए गए। राष्ट्रीय गीत गाए गए। राष्ट्रीय धुन बजाई गई। भारत माता की जय, स्वतंत्रता की जय आदि नारों से आकाश गरज उठा। दीपकों आदि से नगरों को दुल्हन की तरह सजाया गया।

तब से प्रतिवर्ष 15 अगस्त का दिन एक राष्ट्रीय पर्व के रूप में धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन दिल्ली के लाल किले पर प्रधानमंत्री झंडा फहराते है। इक्कीस तोपों की सलामी दी जाती है।

दिल्ली में 15 अगस्त के दिन एक बड़ा समारोह होता है। लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते है। यह सारा कार्यक्रम लाइव प्रसारित किया जाता है।

देश के अन्य शहरों में भी इस दिन यह पर्व हर्षोल्लास से मनाया जाता है। शहरों और गाँवों में सुबह रैली निकाली जाती है। स्कूलों में झंडा फहराने के बाद खेलकूद होते है और भी विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएँ होती है।

इस दिन तरह-तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते है। मिठाईयां वितरित की जाती है। लोग एक-दुसरे को आजादी का दिन की बधाई देते हैं।

15 august स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय पर्व है। यह हमें अपने देश को उन्नत बनाने की प्रेरणा देता हैं।

3) Essay on 15 August 2022 in Hindi

भारत में 1947 से 15 अगस्त भारतीय इतिहास में एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन बन गया है। यह वर्ष 1947 का सबसे भाग्यशाली दिन था जब भारत स्वतंत्र हुआ।

भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के कठिन संघर्ष और बलिदान के बाद, जब भारत को स्वतंत्रता मिली, भारत की जनता ने अपने पहले प्रधानमंत्री, पंडित जवाहरलाल नेहरू को चुना।

जिन्होंने दिल्ली के लाल किले में तड़के सुबह तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। सभी लोग इस विशेष दिन को हर साल बहुत खुशी के साथ मनाते हैं।

प्रत्येक वर्ष इस दिन, भारत के प्रधान मंत्री सुबह लाल किले में राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं, जहाँ लाखों लोग इस समारोह में भाग लेते हैं।

लाल किले के उत्सव के दौरान, भारतीय सेना द्वारा मार्च पास्ट सहित कई कार्य किए जाते हैं और स्कूली छात्रों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाते हैं।

राष्ट्रध्वज फहराने और राष्ट्रगान के गायन के बाद, भारत का प्रधानमंत्री अपना वार्षिक भाषण देता है।

इस दिन, एक भारतीय होने के नाते, हमें गर्व महसूस करना चाहिए और अपनी मातृभूमि को अन्य लोगों द्वारा किसी भी प्रकार के हमले या अपमान से बचाने के लिए खुद को वफादार और देशभक्त रखने की शपथ लेनी चाहिए।

"मुझे भारतीय होने पर गर्व है।"

हैप्पी इंडिपेंडेंस डे २०१९

4) स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

15 august भारत का एक राष्ट्रीय त्यौहार है। 15 अगस्त 1947 का दिन भारत के लिए सोने के पात्र है और इस दिन को भारत के इतिहास में स्वर्णाक्षरों से लिखा गया है।

इसी दिन हमारा देश हजारों वर्षों की अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ था। तभी से सभी भारतवासी इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में बड़े हर्षोल्लास से मनाते हैं।

इस दिन दिल्ली के लाल किले की प्राचीर पर प्रधानमंत्री राष्ट्रीय ध्वज फहराते है और भाषण देते है। 15 अगस्त के दिन राष्ट्रीय ध्वज को 21 तोपों की सलामी दी जाती है और उसके बाद राष्ट्रगान होता है।

आजादी और उन्नति का प्रतीक यह दिवस देश के सभी हिस्सों में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के दिन सुबह नेतागण पहले राजघाट आदि समाधियों पर जाकर महात्मा गाँधी आदि राष्ट्रीय नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते है।

उसके बाद लाल किले के सामने सेना के तीनों अंगों (वायु, जल और थलसेना) और अन्य बलों के परेड का अवलोकन करते है और उन्हें सलामी देते हैं।

15 अगस्त के दिन सभी सरकारी कार्यालयों पर तिरंगा फहराया जाता है और सभी लोग अपने घरों, दुकानों आदि पर भी राष्ट्रीय ध्वज लगाते है।

स्कूलों, कॉलेजों आदि में इस दिन बच्चों को फल, मिठाईयां आदि बाँटी जाती हैं।

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस भारत के गौरव और सौभाग्य का त्यौहार है। यह पर्व हम सभी के दिलों में नयी ताकत, नयी उम्मीदें, उत्साह और देशभक्ति का जुनून पैदा करता हैं।

स्वतंत्रता दिवस हमें याद दिलाता है कि, इतने बलिदान और कुर्बानियां देकर हमने जो आजादी पायी है उसकी रक्षा हमें हर कीमत पर करनी है।

इस तरह, इस राष्ट्रीय पर्व को उमंग और उत्साह के साथ मनाकर हम राष्ट्र की स्वतंत्रता की रक्षा का संकल्प लेते हैं।

5) Essay on Independence Day in Hindi

स्वतंत्रता दिवस भारत के लिए एक महत्वपूर्ण दिन है। यह हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन 1947 में भारत ब्रिटिश से स्वतंत्र हुआ। यह एक राष्ट्रीय त्योहार है।

स्वतंत्रता सेनानियों में से हजारों ने देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया, इसे राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जब सभी स्कूल, कार्यालय, कॉलेज बंद रहते हैं।

महात्मा गान्धी, शहीद भगत सिंह, पंडित जवाहर लाल नेहरू, नेताजी सुबाष चन्द्र बोस और अन्य नायकों ने भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया।

यह भारत के सबसे महान त्योहारों में से एक है। इस दिन हर जगह राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है और राष्ट्रगान गाया जाता है।

१५ अगस्त के दिन हमारे देश के प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराते हैं। इस दिन हम सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हैं और राष्ट्रीय ध्वज को अपना सम्मान देते हैं।

स्वतंत्रता दिवस पूरे भारत में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। स्वतंत्रता दिवस हम सभी को याद दिलाता है कि हम देश के नागरिक हैं।

हमें अपने राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान का सम्मान करना चाहिए।

हमें उन लोगों की तरह देशभक्त होने की कोशिश करनी चाहिए जो हमारे देश की आजादी के लिए लड़े थे।

आइए, हम सब भारत पर गर्व करें।

6) बच्चों के लिए 15 अगस्त पर 10 लाइनें लघु निबंध

15 August Essay in Hindi for Kids and Students

1. 15 वां अगस्त भारत के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण दिन है।
2. हमें 15 अगस्त 1947 को अपनी स्वतंत्रता मिली।
3. इसलिए, हम इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं।
4. हम इस दिन अपार खुशी महसूस करते हैं।
5. यह सभी स्कूल, कॉलेज और कार्यालय के लिए एक छुट्टी है।
6. 14 अगस्त को हम सुबह-सुबह स्कूल जाते हैं।
7. वहां हम राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं।
8. वहाँ हम अपना राष्ट्रीय गीत गाते हैं।
9. हम राष्ट्रीय ध्वज को अपना सम्मान देते हैं।
10. अंतिम मिठाई वितरण में और फिर हम अपने घर वापस चले जाते हैं।

हम नन्ने मुन्ने राही यों की तरफ से आपको स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं।

7) Independence Day Essay in Hindi Language for School Students

15 वां अगस्त भारत के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। यह भारतीय लोगों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि 15 अगस्त 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी।

यह अहिंसा का एक अनूठा युद्ध था जिसका नेतृत्व नेताजी सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आज़ाद, सरदार वल्लभभाई पटेल, भगत सिंह, लाला लाजपत राय, मंगल पांडे, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर, महात्मा गाँधी, जवाहर लाला नेहरू आदि ने किया था।

15 अगस्त 1947 को, देश ने पहला स्वतंत्रता दिवस मनाया, हमारे पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने नई दिल्ली में लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

भारतीय लोग 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में भारत का स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। प्रधानमंत्री लाल किले पर 21 तोपों की सलामी के साथ तिरंगा राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं।

झंडा फहराने के बाद प्रधानमंत्री अपना वार्षिक भाषण देते हैं। प्रधानमंत्री स्वतंत्रता संग्राम के नेताओं को श्रद्धांजलि भी देते हैं।

इस दिन सभी राज्यों की राजधानियों में ध्वजारोहण समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं।

इस दिन नृत्य कार्यक्रम, मार्च पास्ट, परेड, सेना शो, विभिन्न राज्यों से अलग-अलग झाकियां अपनी नवीनतम धुनों को दिखाते हुए अपनी ताकत दिखाती हैं।

पूरे देश में स्थानीय प्रशासन, स्कूल और कॉलेजों द्वारा ध्वजारोहण समारोह भी आयोजित किए जाते हैं।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर स्कूल और सार्वजनिक स्थानों पर विभिन्न समारोह आयोजित किए जाते हैं, जैसे भाषण, निबंध, प्रश्नोत्तरी, नृत्य, गीत आदि। और विजेताओं को पुरस्कार भी प्रदान किए जाते हैं।

इस दिन को भारत में हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है।

-: Happy Independence Day :-

8) छात्रों और शिक्षकों के लिए स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर निबंध

Essay on Independence Day (15 August) in Hindi:

भारतीय इतिहास में 15 अगस्त सबसे यादगार दिनों में से एक है। यह वह दिन है जिस दिन भारत को लंबे संघर्ष के बाद स्वतंत्रता मिली। भारत में केवल तीन राष्ट्रीय त्यौहार हैं जिन्हें पूरे देश को एकजुट करने के लिए मनाया जाता है।

एक स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) और दूसरा गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) और 2 अक्टूबर गांधी जयंती।

स्वतंत्रता के बाद, भारत दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र बन गया। हमने अंग्रेजों से अपनी आजादी पाने के लिए बहुत संघर्ष किया। लगभग दो शताब्दियों तक अंग्रेजों ने हम पर शासन किया।

हमारे देश के नागरिक को इन उत्पीड़कों के कारण बहुत नुकसान उठाना पड़ा। ब्रिटिश अधिकारी हमारे साथ गुलामों की तरह व्यवहार करते रहे जब तक कि हमने उनके खिलाफ वापस लड़ने का प्रबंधन नहीं किया।

हमारे नेताओं जवाहर लाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गांधी, चंद्र शेखर आजाद और भगत सिंह इनका अंतिम उद्देश्य अंग्रेजों को देश से भगाना था और 15 अगस्त 1947 को, लंबे समय से प्रतीक्षित सपना सच हो गया।

आजादी का जश्न मनाने के लिए हम स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। एक और कारण हम अपने उन स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद करने और उन्हें सम्मान, श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए स्वतंत्रता दिवस मनाते है जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए संघर्ष में बलिदान दिया।

इसके अलावा, १५ अगस्त के दिन आजादी का जश्न मनाते समय हमें यह याद रखना चाहिए की हमें स्वतंत्रता कितने कठिन संघर्ष से मिली। हमें अपनी जान की परवाह किए बिना अपनी स्वतंत्रता की रक्षा करनी चाहिए।

इसके अलावा, स्वतंत्रता दिवस का उत्सव हमारे अंदर देशभक्त को जगाता है। १५ अगस्त का दिन युवा पीढ़ी को उस समय के लोगों के संघर्षों से परिचित कराता है।

हालाँकि यह एक राष्ट्रीय अवकाश है लेकिन देश के लोग इसे बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं। स्कूल, कार्यालय, समाज और कॉलेज इस दिन को विभिन्न छोटे और बड़े कार्यक्रमों का आयोजन करके मनाते हैं।

इस दिन लाल किले में हर साल भारत के प्रधान मंत्री राष्ट्रीय ध्वज की मेजबानी करते हैं। इस मौके के सम्मान में, 21 तोपें चलाई जाती हैं।

स्कूल और कॉलेजों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों, भाषण, वाद-विवाद और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन करते हैं।

9) स्वतंत्रता दिवस, पंद्रह अगस्त पर निबंध

स्वतंत्रता दिवस, 15 अगस्त को देश की स्वतंत्रता दिवस का जन्मदिन भी कह सकते हैं। क्योंकि इसी दिन देश को गुलामी से आजादी मिली थी। अंग्रेजों ने 15 अगस्त 1947 से पहले लगभग 200 सालों तक हमारे देश पर राज किया।

अंग्रेजों से पहले करीब 1200 वर्षों तक मुगलों ने भारत पर शासन किया। इसके बाद अंग्रेजों ने मुगलों को खदेड़ कर भारत पर अपना शासन स्थापित किया।

इसके काल में वैज्ञानिक उन्नति से देश प्रगति पर अग्रसर हुआ। उन्होंने अपनी कूटनीति के चलते भारत से श्रीलंका और बर्मा को अलग करके उन्हें स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में प्रतिशिष्ट किया।

बंगाल को भी वे दो भागों में बाँटना चाहते थे लेकिन जनमत विरोध के कारण इसमें उन्हें सफलता नहीं मिली। इसी दिन दिल्ली के लालकिले पर पहली बार यूनियन जैक के स्थान पर सत्य और अहिंसा का प्रतीक तिरंगा झंडा लहराया गया था।

यह राष्ट्रीय पर्व हर साल हर शहर में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। स्कूलों, कॉलेजों में छात्र इस उत्सव को बड़े हर्षोल्लास के साथ कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

शिक्षक और 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में भाग लेने वाले छात्र सडकों पर रैली निकालते है। रैली में सबसे आगे चल रहे छात्र के हाथ में तिरंगा झंडा रहता है। सभी छात्र देश भक्ति से संबंधित गीत गाते हुए चलते हैं।

स्कूल के प्रधानाचार्य ध्वजारोहण करते हैं और सभी छात्रों को तिरंगे की सलामी देते हैं। इसके बाद खेलकूद और सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू होते हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से जलियांवाला बाग पर आधारित एक नाटक किया जाता है।

कुल छात्र देश भक्ति से संबंधित अपनी रचनाएं सुनाते हैं, स्वतंत्रता दिवस भाषण देते हैं। कार्यक्रम के अंत में अव्वल रहे छात्रों को प्रमुख समाजसेवी व स्वतंत्रता सेनानी पुरस्कार देकर सम्मानित करते हैं। उसके बाद छात्रों के बीच मिष्ठान वितरण होता है।

इस पर्व का मुख्य आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली के लाल किले में होता है। इस समारोह को देखने के लिए भारी मात्रा में जनसमूह इकठ्ठा होता हैं। लालकिले का मैदान और सडकें जनता की भीड़ से लबालब भर जाती हैं।

प्रधानमंत्री के आने के बाद 15 अगस्त समारोह का शुभारम्भ होता हैं। सेना के तीनों अंगों जल, थल और नौसेना की टुकड़ियां और एन.सी.सी के कैडिट सलामी देकर प्रधानमंत्री का स्वागत करते हैं।

प्रधानमंत्री लालकिले की प्राचीर पर बने मंच पर पहुँच कर जनता का अभिनंदन स्वीकार करते हैं और राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। ध्वजारोहण के समय राष्ट्र ध्वज को सेना द्वारा 21 तोपों की सलामी दी जाती हैं।

इसके बाद प्रधानमंत्री राष्ट्र की जनता को बधाई देने के बाद देश की भावी योजनाओं पर प्रकाश डालते हैं। साथ ही, गत 15 अगस्त से इस वर्ष तक की काल में घटित प्रमुख घटनाओं पर चर्चा करते हैं।

भाषण के अंत में वे तीन बार जय हिन्द का नारा बोलते हैं। जिसे वहां इकठ्ठा जनता का समूह बुलंद आवाज में दोहराता हैं। 15 अगस्त के अवसर पर लालकिले को रौशनी से चमकाया जाता हैं।

10) Short & Simple Essay on 15 August in Hindi

1947 में 15 अगस्त के दिन भारत को आजादी मिली, इसलिए भारत के लोग हर साल इस खास दिन 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं।

राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम समारोह में, भारत के प्रधान मंत्री लाल किले पर सुबह जल्दी राष्ट्रीय ध्वज फहराते है।स्वतंत्रता दिवस समारोह में लाखों लोग भाग लेते हैं।

नई दिल्ली के लाल किले में 15 अगस्त के उत्सव के दौरान भारतीय छात्रों द्वारा मार्च पास्ट सहित कई कार्य किए जाते हैं और स्कूली छात्रों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाते हैं।

राष्ट्रीय ध्वज की मेजबानी और राष्ट्रीय गान (जन गण मन) का गायन करने के बाद, भारत के प्रधान मंत्री अपना वार्षिक भाषण देते हैं।

भारत के स्वतंत्रता दिवस पर, हम उन सभी महान हस्तियों का स्मरण करते हैं जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व - Importance of Independence Day in Hindi

15 August Importance in Hindi:

हर भारतीय स्वतंत्रता के बारे में एक अलग दृष्टिकोण रखते है। कुछ के लिए, यह लंबे संघर्ष की याद दिलाता है जबकि युवाओं के लिए यह देश के गौरव और सम्मान के लिए एक अवसर है।

इन सब के अलावा, १५ अगस्त का दिन देश भर में देशभक्ति की भावना पैदा करता हैं। देश भर में राष्ट्रीयता और देशभक्ति की भावना के साथ भारतीय स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

यह दिन एकता का प्रतीक है। यह न केवल स्वतंत्रता का उत्सव है, बल्कि लोगों को एकजुट करके देश को उन्नति की राह पर चलाने वाला उत्सव है।

भारत के लिए, 15 अगस्त उसके पुन: जन्म, एक नई शुरुआत का दिन है। 15 अगस्त 1947 की आधी रात को, ब्रिटिश शासकों ने वर्षों तक चले संघर्ष को समाप्त करते हुए देश को अपने भारतीय नेताओं को वापस सौंप दिया।

यह 15 अगस्त 1947 की वह ऐतिहासिक तारीख थी, जिस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने लाल किले पर राष्ट्र का तिरंगा झंडा फहराया था।

भारत के ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन को समाप्त करने के रूप में भारत के इतिहास में यह दिन महत्वपूर्ण है।

हमें किसी भी कीमत पर अपनी स्वतंत्रता की रक्षा करनी चाहिए। हमें अपने आर्थिक विकास के लिए हाथ मिलाना चाहिए और इस महान देश को उत्पादक और समृद्ध बनाने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

आशा करते हैं कि, आपको स्वतंत्रता दिवस पर आसान भाषा में लिखे गए निबंध पसंद आएंगें। इन निबंधों के माध्यम से आप स्वतंत्रता दिवस के बारे में विस्तार से जान जाएंगें।

निष्कर्ष,

आशा करते हैं कि, आपको स्वतंत्रता दिवस पर आसान भाषा में लिखे गए निबंध पसंद आएंगें। इन निबंधों के माध्यम से आप स्वतंत्रता दिवस के बारे में विस्तार से जान जाएंगें।

अगर आपने अपने स्कूल में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर निबंध लेखन प्रतियोगिता में भाग लिया है तो यहाँ दिये गये, 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) पर निबंध आपके लिए उपयोगी साबित होंगे।

अगर आपको स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) पर भाषण या 15 अगस्त की शायरी चाहिए तो नीचे वाले आर्टिकल्स में जाएं।

यह भी पढ़ें

अगर आपके लिए 15 अगस्त (इंडिपेंडेंस डे) पर निबंध मददगार साबित हो तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. Bahot he umda or la jawab hai.. hamari our se sabhi ko 15 August ki........jay hind

    Reply

Leave a Comment

×