New Year Giveaway | Get OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

बाल दिवस पर भाषण - Children's Day Speech in Hindi 2022

भारत में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। 14 नवंबर भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित श्री जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिवस है। वे बच्चों से बहुत प्यार करते थे। बच्चे भी उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहते थे। यहाँ हम विद्यार्थियों के लिए बाल दिवस पर भाषण शेयर कर रहे है। जिनका इस्तेमाल आप अपने स्कूल में बाल दिवस पर भाषण प्रतियोगिता में कर सकते हैं। Children's Day Speech in Hindi.

Children's Speech in Hindi

14 नवंबर 1889 को पैदा हुए जवाहरलाल नेहरू को सम्मान और श्रद्धांजलि के रूप में भारत में Children's day मनाया जाता है। इस दिन स्कूलों, कॉलेजों में संगीत और नृत्य प्रदर्शन जैसे विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। विद्यार्थी भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लेते हैं।

अगर आपने भी अपने स्कूल में बाल दिवस के अवसर पर भाषण प्रतियोगिता में भाग लिया है तो आप इस पोस्ट में दिये गये बाल दिवस पर आसान शब्दों में भाषणों में से एक भाषण चुन सकते है और बाल दिवस पर बोल सकते हैं।

बाल दिवस पर हिंदी भाषण - Children's Day Speech in Hindi, Speech on Bal Diwas 2022

विद्यार्थियों के लिए बाल दिवस पर भाषण हिंदी में, बाल दिवस के लिए भाषण व् निबंध, छात्रों के लिए बाल दिवस 2022 आसन हिंदी भाषण, बाल दिवस हिंदी स्पीच, बच्चों के लिए चाचा नेहरू के जन्मदिवस पर भाषण हिंदी भाषा में, 14 नवंबर के लिए भाषण।

Happy childrens day 2022 14th november 1889 jawaharlal nehru birthday in india, Childrens day speech in hindi for students and children, Bal diwas speech in hindi language, Chacha nehru speech in hindi, Chacha nehru par bhashan, Bal diwas par bhashan, Best speech on bal diwas in hindi.

Best Speech on Children's Day in Hindi

आदरणीय मुख्य अतिथि, प्राचार्य, शिक्षकों और मेरे प्रिय मित्रों को सुप्रभात।

आज मैं बाल दिवस के बारे में कुछ शब्द कहना चाहूंगा। मैं अपने सभी दोस्तों को बच्चों के दिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।

आज 14 नवंबर है, इस दिन को पूरे भारत में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। नवंबर में भारत के पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती है।

पंडित नेहरू को बच्चों के प्रति बहुत प्यार और लगाव था, इसलिए उनके जन्मदिन को हर साल बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

वह हमेशा बच्चों के बीच रहना पसंद करते थे। वह बच्चों के प्रति बहुत प्यार और देखभाल करते थे, इसलिए बच्चे उन्हें अंकल नेहरू कहते थे।
पंडित नेहरू ने हमेशा कहा कि बच्चे राष्ट्र का भविष्य हैं और इसलिए उन्हें प्यार, देखभाल और स्नेह के साथ उठाया जाना चाहिए।

भारत में लगभग सभी स्कूलों में बाल दिवस बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन कई गतिविधियों जैसे फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता, गायन प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया जाता है।

छात्र पंडित नेहरू के बारे में भाषण देते हैं। बच्चे सभी प्रतियोगिताओं में बड़े उत्साह के साथ भाग लेते हैं। बच्चे इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं क्योंकि इसमें ढेर सारी खुशियां और मजा आता है।

यह दिन सभी को याद दिलाता है कि बच्चों को बेहतर बचपन प्रदान किया जाना चाहिए और सभी को सुरक्षा प्रदान की जानी चाहिए।
बच्चे निस्संदेह राष्ट्र की मूल्यवान संपत्ति हैं, इसलिए उन्हें अच्छी शिक्षा और बुनियादी अधिकारों के साथ उचित प्यार और देखभाल मिलनी चाहिए।

इसी के साथ मैं अपना भाषण समाप्त करता हूं।

मेरे विचारों को व्यक्त करने का इतना अच्छा अवसर देने के लिए आप सभी को धन्यवाद और शुभकामनाएं।

आपका दिन शानदार गुजरे।

बाल दिवस के लिए भाषण हिंदी में

आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षकों और मेरे प्यारे दोस्तों को सुप्रभात।

मेरा नाम ............ है मैं .....कक्षा का छात्र/छात्रा हूँ आज इस बाल दिवस के शुभ अवसर पर मैं आपसे कुछ कहना चाहता/चाहती हूँ।

बच्चा चाहे किसी भी देश का क्यों ना हो उसे देश का भविष्य माना जाता है। इस तरह हमारे देश के बच्चे हमारा भविष्य है। आज की पाठशालाओं में पढ़ रहे बच्चे ही आने वाले समय में आदर्श नागरिक बनेंगे। इसलिए जरूरी है की हमारी विधेयक संस्थाओं का स्तर बहुत ऊँचा होना चाहिए।

भारत के शिक्षकों का कर्तव्य है की वे हमारे बच्चों की सोचने की और काम करने की शक्ति में इस तरह का बतलाव लाये की यही बच्चे बड़े होकर सदाचारी, योग्य नेता, सफल उद्योगपति, निपुण कलाकार, ईमानदार इंजीनियर, योग्य डॉक्टर, देशभक्त सैनिक, निस्वार्थ अधिकारी, कर्मचारी और व्यापारी बनें।

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल लाल नेहरू बच्चों की इस भावी शिक्षा को समझते हुए उनसे बहुत प्रेम करते थे। बच्चे भी उनकी इस भावना की बहुत कदर करते थे और उन्हें चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे। इसलिए हर साल 14 नवंबर को नेहरू का जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

बाल दिवस (Children's day) के अवसर पर भारत में सभी स्थानों पर, विशेषतौर पर स्कूलों और कॉलेजों में बच्चों के लिए मनोरंजन कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। स्कूलों में बाल दिवस का कार्यक्रम कई दिनों तक चलता रहता है। कई जगहों पर बाल मेले भी लगाये जाते है।

भारत के प्रधानमंत्री और अन्य नेता बच्चों को संबोधित करते हुए उनको शुभ सन्देश देते है। इस तरह बाल दिवस का कार्यक्रम खुशी-खुशी खत्म होता है। आज का बाल दिवस सभी के लिए बहुत ही खुशियों भरा और शुभ हों। धन्यवाद।

विद्यार्थियों के लिए बाल दिवस पर भाषण

आदरणीय अध्यापकगण और मेरे प्यारे मित्रों आज हम सब यहाँ बाल दिवस यानि चिल्ड्रेन डे मनाने के लिए जमा हुए है। बाल दिवस (बच्चों का दिन ) बच्चों को समर्पित भारत का राष्ट्रीय त्यौहार है। यह त्यौहार हर साल 14 नवंबर को पुरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री और महान स्वतंत्रता सेनानी पंडित जवाहरलाल लाल नेहरू पैदा हुए था।

पंडित नेहरू जी का देश की आजादी में महान योगदान था और प्रधानमंत्री के रूप में भी उन्होंने देश को अच्छा मार्गदर्शन दिया। उन्हें बच्चों से बहुत लगाव था। वे बच्चों से बहुत प्यार करते थे। बच्चे नेहरू जी को प्यार से चाचा नेहरू बुलाते थे। पंडित नेहरू बच्चों को देश का भविष्य मानते थे उनका मानना था की बच्चे देश के विकास और कल्याण की नीवं है।

अगर देश का हर बच्चे शिक्षित हो जाये तो भारत पुरे विश्व को अपनी मुट्ठी में कर सकता है। उन्होंने शिक्षा के द्वारा भारत के सुधार (नवनिर्माण) का सपना देखा था। सभी बच्चे बाल दिवस को हर्षोल्लास से मनाते है। इस दिन स्कूलों, कॉलेजों में कई प्रकार के कार्यकम आयोजित किये जाते है। कई स्थानों पर बाल मेले भी लगाये जाते है।

लेकिन यह दिन केवल खुशी मनाने का नहीं है। इस दिन हमें यह प्रण करना चाहिए की हमें खुद को पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के आदर्शों पर खरा उतरना है और पढ़ लिख कर कामयाबी की ऊँचाइयों को छूना है जिससे भारत का कल्याण हो सकें।

बच्चे देश का भविष्य है। देश का कल है। इसलिए सभी बच्चों की शिक्षा की तरह ध्यान देना चाहिए। उन्हें योग्य नागरिक बनाने के लिए हर संभव कोशिश करनी चाहिए। बच्चों का सही स्थान कारखाने नहीं है बल्कि स्कूल है। यही बाल दिवस का सन्देश है। धन्यवाद।

Children's Day Speech in Hindi for Students

भारत में हर साल 14 नवंबर को बच्चों का दिन, बाल दिवस (children's day) मनाया जाता है। इस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म हुआ था। उनके जन्मदिन के दिन बाल दिवस इसलिए मनाया जाता है क्योंकि नेहरू जी को बच्चों से बहुत लगाव और प्रेम था। वे बच्चों से बहुत स्नेह करते थे।

इसलिए उन्होंने अपना जन्मदिन देश के बच्चों को समर्पित किया और इसी लिए नेहरू जी को सम्मान और श्रद्धांजलि देने के लिए उनके जन्मदिन 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। इस दिन को बच्चे बड़ी खुशी के साथ मनाते है और कई तरह के कार्यक्रमों में हिस्सा लेते है।

इस दिन स्कूल, कॉलेजों में बाल दिवस पर भाषण दिये जाते है। बाल दिवस पर बाल श्रम जैसी समस्या पर बात की जाती है। चिल्ड्रेन डे का मुख्य उद्देश्य बच्चों को नेहरू जी के आदर्शों से जागरूक करना और सभी माता-पिताओं और लोगों को बच्चों के प्रति जागरूक करना है।

Bal Diwas Speech in Hindi

हमारे देश में अनेक महापुरुष हुए है जिनके जन्मदिन हम त्यौहार के जैसे मनाते है। उन्ही में से एक भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित श्री जवाहरलाल नेहरू, जिनका जन्मदिन हम बाल दिवस के रूप में मनाते है। उन्होंने बच्चों को उत्साहित करने के लिए यह दिन बच्चों को समर्पित किया था की मेरे देश के सभी बच्चे जो मेरे देश का भविष्य है वे खुशी और गर्व से अपना एक दिन मनाये।

इसलिए हर साल चाचा नेहरू को सम्मान और श्रद्धांजलि देने हेतु बाल दिवस मनाया जाता है लेकिन चाचा नेहरू को सच्ची श्रद्धांजलि तब मिलेगी जब आप उनके जैसे व्यक्ति बन जाएंगे और हमारे देश में योगदान देंगे। आज इस बाल दिवस पर प्रण ले की आप चाचा नेहरू के जैसे महान नेता और ईमानदार व्यक्ति बनेंगे।

हमारी सभी माता-पिताओं से भी यह गुजारिश है की वे अपने बच्चों को एक योग्य और बेहतर इंसान बनायेंगे और सरकार से भी यह निवेदन है की वे बाल श्रम में रहने वाले बच्चों और दुनिया के हर बच्चे का साथ दें उन्हें मजबूत बनाए क्योंकि बच्चे हमारे देश का भविष्य है।

आप सभी को बाल दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं। अगर आपको इस पोस्ट में बाल दिवस पर भाषण (Children's day speech in hindi) पसंद आये तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×