New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

हवाई जहाज का रंग सफेद क्यों होता है? जानिए 5 बड़ी वजह

क्या आप जानते हैं हवाई जहाज (Airplane) का रंग (Color) सफेद (White) क्यों होता है? क्या आपने कभी सोचा है कि अधिकतर हवाई जहाजों (Aeroplanes) का रंग सफेद क्यों होता है? दरअसल, प्लेन का रंग सफेद होने के पीछे कई वैज्ञानिक और इकोनॉमिकल वजहें होती हैं। इस पोस्ट में हम एरोप्लेन का रंग सफेद होने के 5 बड़े कारण के बारे में बताएंगे। एयरप्लेन का रंग सफेद होने की 5 बड़ी वजह।

Why Are Airplane Color is White

फिल्मों की बात करें या असल जिंदगी की, आपने कहीं ना कहीं हवाई जहाज (Airplane) तो देखा ही होगा और एक बात नोटिस की होगी की ज्यादातर प्लेन का कलर सफेद ही होता है।

हो सकता है आपने इसके बारे में सोचा भी हो, लेकिन शायद आपको इसका जवाब नहीं मिल पाया होगा। अगर आपको अभी भी इसके बारे में नहीं पता है तो आइए जानते हैं इसके पीछे का राज।

हमने इस बारे में इंटरनेट पर पता किया तो हमें इसके कई कारण मिले, जिनमें से पांच बड़े कारण के बारे में हम यहां बता रहे हैं। Why Aeroplane colour is white...?

Airplane का Color White क्यूँ होता है? 5 बड़े कारण

वैसे तो हवाई जहाज का रंग सफेद होने के कई कारण होते हैं। लेकिन सबसे बड़ा कारण होता है, व्हाइट कलर प्लेन को सूरज की किरणों से बचाता है।

1. सफेद रंग प्लेन को गर्म होने से बचाता है

प्लेन का रंग सफेद होने की सबसे बड़ी वजह, प्लेन को गर्मी से बचाना है। प्लेन रनवे से लेकर आसमान तक धूप में ही रहता है। ऐसे में उस पर सूरज की किरने सीधे पड़ती है।

सूरज की किरणों में इंफ्रारेड रेज होती है, जिस से भयंकर गर्मी पैदा होती है। सफेद रंग ऐसे में एयरप्लेन को गर्म होने से बचाए रखता है। White colour सूरज की किरणों को 99% तक रिफ्लेक्ट कर देता है।

सफेद रंग बाकी दूसरे सभी रंगों से ज्यादा ठंडक देने में मददगार होता है। यह प्लेन का रंग सफेद होने का पहला सबसे बड़ा कारण है।

2. क्रैक या दरारे आसानी से दिख जाती है।

सफेद रंग होने की वजह से, प्लेन में किसी भी तरह का डेंट या क्रैक होने पर आसानी से देखा जा सकता है। जबकि दूसरे रंग में क्रैक का आसानी से पता नहीं चलता है।

साथ ही सफेद रंग होने की वजह से प्लेन का निरीक्षण करने में भी आसानी होती है। यह प्लेन का रंग सफेद आने का दूसरा सबसे बड़ा कारण है।

3. Paint करने में ज्यादा लागत नहीं लगती

हवाई जहाज को पेंट करना आसान नहीं है, एक हवाई जहाज को अलग रंग से पेंट करने पर लगभग 1 करोड़ रुपए तक का खर्च आता है। जबकि सफेद रंग से पेंट करने में सिर्फ 3 लाख से 5 लाख रुपए तक का खर्चा आता है।

इसके अलावा हवाई जहाज का रंग रंगीन करने पर प्लेन का वजन सफेद रंग की तुलना में काफी ज्यादा बढ़ जाता है। इसीलिए प्लेन बनाने वाली कंपनियां ज्यादातर सफेद रंग का इस्तेमाल करते हैं।

4. प्लेन का रंग फीका नहीं  पड़ता

धूप में रहने की वजह से सफेद रंग की तुलना में कोई भी दूसरा रंग धीरे धीरे फीका पड़ जाता है। इसकी वजह से नात शरीफ प्लेन का लुक बदल जाता है बल्कि उसका पुनर्विक्रिय मूल्य भी कम हो जाता है।

जानकारों का कहना है कि अन्य रंगों की तुलना में सफेद रंग की रीसेल वैल्यू ज्यादा होती है। सफेद रंग की तुलना में दूसरा कोई भी रंग धूप में जल्दी खराब हो जाता है।

5. सफेद रंग की दृश्यता बेहतर होती है

दूसरे सभी रंगों की तुलना में सफेद रंग की विजिबिलिटी ज्यादा बेहतर होती है। इसीलिए सफेद रंग के प्लेन को आसमान में आसानी से देखा जा सकता है। एक्सीडेंट होने से बचा जा सकता है।

हवाई जहाज दिन रात और अलग-अलग मौसम में आसमान में उड़ते रहते हैं। ऐसे में उनका कलर अलग अलग होने पर विजिबिलिटी कम होने का डर रहता है। इसीलिए सुरक्षा की वजह से अधिकतर पर प्लानों को सफ़ेद रंग में रंगा जाता हैं।

ये बड़े कारण है हवाई जहाज के सफेद रंग का होने के, सफेद रंग बाकी रंगो की तुलना में ज्यादा चमकदार होता है और प्लेन हमेशा अच्छा दिखता है, जबकि रंगीन प्लेन का कलर एक समय के बाद खराब हो जाता है।

उम्मीद है अब आपको पता चल गया होगा कि ज्यादातर एयरप्लेन का रंग सफेद क्यों होता है, अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें। धन्यवाद

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 4 )

  1. बहुत अच्छी और रोचक जानकारी।

    Reply
  2. मेरे लिए तो ये बिलकुल ही नयी जानकारी थी.

    Reply
  3. बहुत खूब सर..

    Reply
    • गजब भाई जी । बोईंग व् यात्री जहाजो का कलर ऐसा होता है ।

      Reply

Leave a Comment

×