Piracy क्या है और कैसे बनाई जाती है? पूरी जानकारी हिन्दी में

Piracy या Pirated website के बारे में तो आपने सुना ही होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये Piracy क्या है और कैसे बनाई जाती है? शायद नहीं, क्योंकि तभी तो आप ये आर्टिकल पढ़ रहे हैं। दरअसल, ये मूवी मेकर्स के लिए सरदर्द बनी हुई है, क्योंकि इनकी वजह से उन्हें करोड़ों का नुकसान होता है। इस आर्टिकल में, फिल्म पायरेसी क्या है, ये कैसे की जाती है? Piracy Meaning in Hindi इस सबकी जानकारी मिलेगी।

Piracy kya hai

Piracy पूरी दुनिया के लिए सरदर्द है और इसे रोक पाना बहुत मुश्किल काम है। कई देशों की सरकारें इसे रोकने की कोशिश कर चुकी है लेकिन फिर भी ये active है। अगर आप इंटरनेट से फ्री मूवी डाउनलोड करते हैं तो आपको इसके बारे में जरूर जाना चाहिए। क्योंकि आपको पता होना चाहिए कि कहीं कोई आप गलती तो नहीं कर रहे है।

फिल्म पायरेसी के बारे में जानने से पहले आपको ये जान लेना चाहिए कि पायरेसी क्या होती है? तभी आपको इस पोस्ट में दी गई आगे की जानकारी पसंद आएगी। इस आर्टिकल में हम निम्न टॉपिक के बारे में बात करेंगे। Piracy kya hai, piracy kaise banai jati hai, piracy ki jankari hindi mein, Piracy definition in Hindi, Piracy meaning in Hindi.

पायरेसी क्या है? (Piracy Definition in Hindi)

Piracy का मतलब होता है समुद्री डकैती। यानी समुद्र पर यात्रा कर रही नौका और उसके मुसाफिरों पर हुई डकैती या हिंसात्मक चोरी को पायरेसी कहते हैं। जैसे कि Theatre में किसी movie को record करके free download करने के लिए वेबसाइट पर उपलब्ध कराना।

Piracy (समुद्री डकैती) करने वाले अपराधियों को समुद्री डाकू (Pirates) या जल दस्यु (Pirate) कहा जाता है। 'समुद्री डाके' अंग्रेजी में 'पायरेसी' और 'समुद्री डाकुओं' को 'पायरेट' कहते हैं। फ़ारसी में 'समुद्री डाकुओं' को 'दुज़्द दरियाई' (دزد دریایی‎) यानि 'दरियाई चोर' या 'समुद्री चोर' कहते हैं। यूनानी भाषा में इन्हें 'पेइरातेस' (πειρατής) कहते हैं।

Piracy Meaning in Hindi

Piracy समुद्री डकैती को कहते हैं लेकिन इसके की मतलब निकलते हैं। जैसे की किसी के copyright content को बिना उसकी अनुमति के इस्तेमाल करना या बेचना भी piracy कहलाता हैं। इसके कुछ अन्य मतलब निम्न हैं।

  • चोरी
  • समुद्री चोरी
  • समुद्री डाका
  • साहित्यिक चोरी
  • समुद्री की डकैती

जिन वेबसाइटों पर piracy का काम किया जाता है उन्हें piracy website या pirated website कहा जाता है। उदाहरण के लिए, TamilRockers एक पायरेटेड वेबसाइट है। ऐसे अपराध की रोकथाम करना मुश्किल होता है, क्योंकि समुंदर का क्षेत्रफल विशाल (पूरे भूमि के क्षेत्रफल से 3 गुना) है और ये समुद्री डाकू अक्सर अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के पार काम करते हैं।

इसलिए किसी एक देश की पुलिस या सेना उन्हें नहीं रोक सकती। इसको रोकने के लिए कई देशों को एक साथ आने की जरूरत है, जो कि थोड़ा मुश्किल कार्य है। ऐसे में सरकार इनकी website link को block कर देती हैं, मगर ये फिर से नए domain name के साथ नहीं साइट बना लेते हैं।

फिल्म पायरेसी (Movie Piracy) क्या है? हिंदी में जानिए

Film piracy का मतलब उस डिजिटल चोरी से है जिसमें original content का unauthorized duplication करके market में कम कीमत yअ फ्री में बेचा जाता है। यानी फिल्म निर्माताओं की Permission के बिना free movie download करने के लिए उपलब्ध करना, फिल्म पायरेसी कहलाता है।

पहले ये काम CD, DVD के द्वारा होता था, लेकिन अब इंटरनेट का जमाना है और हर कोई Internet का इस्तेमाल करता है। इसीलिए piracy team भी इसका फायदा उठाते हैं। अब pirated sites बनाकर movie piracy की जाती है। ये लोग वेबसाइट बनाकर उसमें movies का pirated version अपलोड करके free download उपलब्ध कराते हैं।

इसकी वजह से फिल्म निर्माताओं को करोड़ों का नुकसान होता है। इसलिए कई देशों में पायरेसी को गैरकानूनी माना जाता है और इसको रोकने की Government कोशिश कर रही है। नई फिल्म को release date से पहले ही या रिलीज होने के कुछ हिन घंटों बाद online leak कर दिया जाता हैं।

पायरेसी (Piracy) कैसे बनाई जाती है?

Piracy बनाने के अलग अलग तरीके हैं। फिल्म पायरेसी की बात करें तो थिएटर में जाकर मूवी रिकॉर्ड की जाती है। इसके लिए छुपा हुआ कैमरा या मोबाइल कैमरा का इस्तेमाल किया जाता है। यानि पायरेसी का काम थिएटर में जा कर फ़िल्म को रिकॉर्ड कर के उसमे अलग-अलग भाषा जोड़ कर उसको अपनी website पर ऑनलाइन डाल देना होता है।

लेकिन Cinema Hall से record की गई video की quality अच्छी नहीं होती है, इसीलिए ये लोग हैकिंग या अन्य तरीके से movie की एचडी कॉपी चुरा लेते हैं और उसे अपनी साइट पर उपलब्ध कराते हैं। पहले, जैसे ही कोई फिल्म टोकीज़ में लगती थी उसके 1-2 week में उसकी पायरेटेड सीडी बाजार में उपलब्ध करा दी जाती थी, लेकिन अब सब कुछ बदल गया है।

अब फिल्म रिलीज होने के कुछ समय पश्चात ही उसका pirated version फ्री मूवी डाउनलोड torrent website पर free डाउनलोड करने के लिए अपलोड कर दिया जाता है। केवल इतना ही नहीं कई बार तो फिल्म को रिलीज होने से पहले ही online leak कर दिया जाता है। जैसे ही सरकार को इनकी वेबसाइट के बारे में पता चलता है उसे block कर देती है।

लेकिन इनकी टीम फिर से नए domain name के साथ नई वेबसाइट बनाकर अपना काम करना शुरू कर देती है। सिर्फ वेबसाइट ही नहीं बल्कि यह Telegram जैसे सोशल प्लेटफॉर्म का भी फायदा उठाते हैं।

Film Piracy क्यों बनाई जाती है?

Piracy के बारे में जानने के बाद आपके दिमाग में यह सवाल जरूर आएगा कि आखिर ये पायरेसी क्यों बनाई जाती है। तो चलिए मैं आपको इसके बारे में भी बता देता हूं। पारसी का मतलब समुद्री डकैती से है जिसमें डकैतों को मुसाफिरों से चुराया हुआ माल मिलता है। ठीक वैसे ही फिल्म पायरेसी करने से भी इनकी लाखों-करोड़ों रुपए की कमाई होती है।

Hollywood, Bollywood, Tollywood यानि English, Hindi, Tamil, Telugu, Malayalam, Punjabi, Bhojpuri और ऐसी कोई भाषा की फिल्म नहीं हैं, जिसे pirated websites ने online leak न किया हों।

जब ये किसी फिल्म को लीक करते हैं तो उसके मालिकों से फिरौती के लिए संपर्क करते हैं। उदाहरण के लिए, इन्होंने बाहुबली के makers से भी फिरौती की मांग की थी। ऐसा इसलिए क्योंकि मूवी के लीक हो जाने पर उसे थिएटर में पर्याप्त दर्शक नहीं मिल पाते हैं, इससे मूवी को करोड़ों का नुकसान होता है और एक अच्छी-खासी फिल्म भी फ्लॉप हो जाती है।

अब चूँकि फिरौती बहुत कम लोगों से मिल पाती है इसीलिए ये लोग free movie downloading site बनाकर सभी leaked movies को फ्री में डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध कराते हैं। अब आप जानते ही हैं कि दुनिया में कितने सारे लोग सिनेमा हॉल जाने की बजाय घर बैठे ही इंटरनेट से फ्री में मूवी डाउनलोड पसंद करते हैं।

शायद लाखों, नहीं करोड़ों लोग ऐसा करते हैं, या फिर यूं कहें कि अधिकतर लोग ऐसा ही करते हैं क्योंकि इनसे उन्हें सिनेमा हॉल जाने में लगने वाले समय और पैसे दोनों की बचत होती है। अब आपको यह बताने की जरूरत नहीं है कि piracy websites पर लाखों में ट्रैफिक होता है, करोड़ों लोग इन वेबसाइटों का free movie download करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

Movie free में download कराते हैं फ्री इनकी कमाई कैसे होती है? अब यह सवाल आपके दिमाग में जरूर आ रहा होगा। चलिए मैं आपको इसके बारे में भी संतुष्टि करा देता हूं।

Piracy Webites की कमाई कैसे होती है?

Earning के लिए ये third-party ads का इस्तेमाल करते हैं। इनके पास ट्रैफिक इतना ज्यादा होता है कि हर दिन इनकी लाखों रुपए की कमाई होती हैं। और अधिक कमाई के लिए यह लोग अधिक से अधिक advertisement इस्तेमाल करते हैं। इतना ज्यादा की इनसे movie download करना मुश्किल हो जाता है।

Movie download को कई सारे pages पर redirect किया जाता है और हर एक पेज में download link के साथ multiple ads लगाए जाते हैं। ज्यादा ऐड होने की वजह से download link की बजाए ads पर ज्यादा क्लिक मिलते हैं। भले ही ऑडियंस मूवी डाउनलोड ना कर पाए, क्योंकि इनका मकसद केवल Income करना होता है।

अब चूँकि piracy करना गैर-कानूनी होती है। इसीलिए Top Ad Network तो इन sites पर ads allow नहीं करते हैं इसलिए यह लोग third-party एडवर्टाइजमेंट इस्तेमाल करते हैं, जो कि खतरनाक होते हैं।

इनमें से अधिकतर ads में malware, virus होते हैं जो कि ad पर क्लिक करते ही user के system में automatically ही download & install हो जाते हैं। इससे hackers ऑडियंस के personal data को चोरी कर लेते हैं और फिर उन्हें गलत तरीके से इस्तेमाल करके या बेच कर पैसा कमाते हैं।

क्या Pirated Website से Movie Download करना सही है?

नहीं, बिल्कुल सही नहीं हैं, भारत सहित कई देशों में Piracy को Illegal माना जाता है और इस प्रकार का कार्य करने वाले लोगों के लिए 50,000 का जुर्माना या 3 साल तक की जेल की सजा का प्रावधान है। आपको बता दे कि यह सजा केवल इस प्रकार की वेबसाइट बनाने वालों के लिए ही नहीं है बल्कि इन pirated sites से movie download करने के लिए भी same कानून है।

किसी भी प्रकार की Pirated site से मूवी डाउनलोड करना करना अपराध है और ऐसा करते हुए पाए जाने पर पुलिस आप को गिरफ्तार भी कर सकती है और आपको जेल भी हो सकती है। अगर आपको इसके बारे में अभी तक पता नहीं था और आप अब तक बहुत बार ऐसा कर चुके हैं तो हमारी आपको सलाह है कि अब आगे से आप ऐसा बिल्कुल भी ना करें।

निष्कर्ष,

इस आर्टिकल में हमने piracy, film piracy के बारे मे जाना। साथ ही हमने आपको यह भी बताया कि ये कैसे काम करती हैं और इस प्रकार की वेबसाईट का इस्तेमाल करने से आपको समस्या हो सकती हैं। उम्मीद है आपको ये जानकारी पसंद आएगी, और अगर आपका इससे संबंधित कोई सवाल हैं तो आप नीचे कमेन्ट सेक्शन में पुछ सकते हैं।

Piracy गैर-कानूनी है और इस प्रकार की website बनाने के साथ-साथ इनका इस्तेमाल करना भी कानूनन जुर्म है। इसीलिए इनसे बचे और दुसरे लोगो को भी इनसे बचने के लिए कहें। अगर आपको फिल्म डाउनलोड करनी ही है तो इसके लिए legal movie download websites का इस्तेमाल करें।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 4 )

  1. legal websites kaun kaun si hai? Film download karne ke liye

    Reply
    • YouTube, Netflix, Hotstar, Amazon Prime etc.

      Reply
      • Yani ki jisme bhi paisa lagta hai wo sb

        Reply
        • No, जो site original content (movie maker की permission ले कर) उपलब्ध कराती है, वो Legal है

          Reply

Leave a Comment

×