New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

कोरोना और आम खांसी-जुकाम में क्या फर्क है, कैसे पहचानें?

हमारी पिछली पोस्ट में हमने जाना कि कोरोना वायरस क्या है और इससे कैसे बचें? आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कोरोनावायरस और आम खांसी जुखाम में क्या फर्क होता है, आपको कोरोना वायरस है या बुखार कैसे पता करें? How to know different in Corona Virus or Normal flu in Hindi.

कोरोना वायरस और आम जुकाम-बुखार में क्या फर्क है

देश भर में कोरोना वायरस से प्रभावित लोगो की संख्या 30+ पहुंच गई है। हमारी केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर इस पर काम रही हैं और युद्धस्तर पर इससे निपटने का काम हो रहा है।

लेकिन इस बीच बाजार में मास्क और सैनिटाइजर की किल्लत देखने को भी मिल रही है। दूसरी ओर मौसम में लगातार हो रहे उतार-चढ़ाव से मौसमी बीमारियों का भी प्रकोप बढ़ गया है।

सामान्य बुखार आने पर भी लोगों में दहशत फैल रही है कि कहीं उन्हें कोरोना वायरस ने तो नहीं जकड़ लिया है। लोग डर रहे हैं, भयभीत हो रहे हैं।

ऐसे में हमने सोचा कि क्यों न इस पर एक आर्टिकल लिखकर आप सभी लोगों को बताया जाए कि कोरोनावायरस (corona virus) और सामान्य खांसी-जुखाम (normal flu) में क्या फर्क होता है।

कोरोना वायरस के लक्षण स्पष्ट समझ में न आने की वजह से काफी लोग परेशान हो रहे हैं। शायद आप भी, इसलिए इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें और बेकार की अफवाहों से बचें।

तो आइए जानते हैं,

कोरोना वायरस और सामान्य खांसी-जुकाम बुखार में क्या फर्क होता है

लेडी हॉर्डिंग अस्पताल के मेडिसिन विभाग निदेशक प्रोफेसर अनिल गुर्टू ने सामान्य खांसी-जुखाम, बुखार और कोरोना वायरस के बीच क्या फर्क है, इसको बहुत ही आसान शब्दों में बताया है।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से प्रभावित होने वालों के दो मुख्य लक्षण हैंपहला पिछले 10 दिन में 104 डिग्री बुखार आया हो क्योंकि कोरोना वायरस का असर 10 दिन में खत्म हो जाता है और दूसरा लक्षण है खांसी।

जहां आम बुखार में जुकाम, नाक बहना, बंद होना, गले का जाम होना और बुखार होता है। जबकि कोरोना में नाक बहना या बंद होना नहीं होता है यह वायरस सीधे फेफड़े पर हमला करता है।

इसकी वजह से सूखी खांसी यानी बिना बलगम के खांसी आती है। कोरोना वायरस में होने वाली सर्दी खांसी, मौसमी सर्दी खांसी और इंफेक्शन की तुलना में ज्यादा तेजी से फैलती है और कमजोर इम्यून सिस्टम वालों को आसानी से अपना शिकार बना लेती है।

कोरोना वायरस के लक्षण 2 से 10 दिनों के बीच में दिखने शुरु हो जाते हैं। वायरस के लक्षण देरी से दिखने की वजह से लोग बाहर से बीमार नहीं लगते हैं जिसके कारण संक्रमण लोगों में आसानी से फैल जाता है।

आप कोरोना वायरस से ग्रसित नहीं है, कैसे पता करें?

कोरोना वायरस और आम सर्दी जुकाम को बहुत ध्यान से देखने की जरूरत होती है। वरना आपकी जरा सी लापरवाही आपके लिए जानलेवा साबित हो सकती है।

इसलिए अगर आपको 10 दिनों में बहुत तेज बुखार आता है और बिल्कुल सूखी खांसी आ रही है तो आपको कोरोना वायरस की समस्या हो सकती है।

साधारण सर्दी-खांसी की शुरुआत गले में खराश के साथ होती है फिर नाक बहने लगती है जिससे कोल्ड हो जाता है। इनके अलावा बुखार और सिर दर्द की भी शिकायत बनी रहती है और शरीर को आराम नहीं मिलता है।

अगर आपको यह समस्या है तो आप खुद को डॉक्टर को दिखाना चाहिए। आप चाहे तो कोरोना वायरस हेल्पलाइन नंबर +91-11-23978046 पर कॉल करके मदद भी ले सकते हैं।

अंतिम शब्द,

वैसे तो कोरोनावायरस (corona virus) आम खांसी-जुखाम और बुखार (normal flu) के जैसा ही होता है। लेकिन अगर आप गौर करेंगे तो आसानी से इसका पता लगा सकते हैं।

सिर्फ अपना ही नहीं अपने परिवार, आसपास के पड़ोसियों में यह समस्या देखे तो आप उन्हें इलाज करवाने की सलाह दें। अगर वह ऐसा ना करें तो कोरोना वायरस हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करें।

यह भी पढ़ें,

इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि वह भी इस जानकारी का लाभ उठा सकें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 2 )

  1. Aapne korona virus ke bare me bahut achhi jankari di

    Reply
  2. bahut hi achhi jankari share ki hai .. thanks for sharing

    Reply

Leave a Comment

×