New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

बाल दिवस पर कविता - Childrens Day Poems in Hindi 2022

भारत में हर साल पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस १४ नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसलिए, क्योंकि नेहरूजी को बच्चों से बहुत प्यार और लगाव था। वे बच्चों को देश का भविष्य मानते थे। यहाँ हम बाल दिवस के लिए कविताएँ लेकर आये है जिन्हें आप अपने स्कूल, कॉलेज आदि में बाल दिवस के अवसर पर बोल सकते है। Bal Diwas Poem in Hindi, Childrens Day Poems in Hindi.

Childrens Day Poems in Hindi

बाल दिवस बच्चों के अधिकारों, देखभाल और शिक्षा के बारें में जागरूकता बढ़ाने के लिए पुरे भारत में मनाया जाता है। यह हर साल 14 नवंबर को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को श्रधांजलि के रूप में मनाया जाता है।

इस दिन पुरे भारत में बच्चों द्वारा प्रेरक कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। बाल दिवस के दिन सरकार (भारत देश के लिए) बच्चों के भविष्य के लिए नई नई योजनाएं बनाती हैं।

इस पोस्ट में हम चाचा नेहरू के सम्मान में और बच्चों पर कविताएं लेकर आये है जिन्हें आप बाल दिवस (Children's Day) के अवसर पर बोल सकते हैं।

बाल दिवस पर कविता हिंदी में  - Childrens Day Poems in Hindi

हैप्पी बाल दिवस 2022: बाल दिवस के लिए कविता हिंदी में, बाल दिवस पर हिंदी कविता, बाल दिवस की कविता, बच्चों के लिए बाल दिवस कविता, चाचा नेहरू के ऊपर कविता, चाचा नेहरू की कविता, जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस 14 नवंबर के लिए कविता, बचपन पर कविता, नेहरूजी के सम्मान में कविता।

Happy childrens day 2022 14th november pnadit jawahaelal nehru birthday poems in hindi, Bal diwas poem in hindi for kids, Best poem on childrens day in hindi, Bal diwas par kavita hindi mein, Childrens day par kavita in Hindi.

चाचा नेहरू पर कविता (नेहरू चाचा तुम्हें सलाम)

नेहरू चाचा तुम्हें सलाम,
अमन-शांति का दे पैगाम,
जग को जंग से बचाया,
हम बच्चों को भी मनाया,
जन्मदिवस बच्चों के नाम,
नेहरू चाचा तुम्हें सलाम,
देश को दी हैं योजनाएं,
लोहा और इस्पात बनाए,
बांध बने बिजली निकाली,
नहरों से खेतों में हरियाली,
प्रगति का दिया इनाम,
नेहरू चाचा तुम्हें प्रणाम।

Chacha Nehru Poem in Hindi (चाचा नेहरू प्यारे थे)

चाचा नेहरू प्यारे थे,
भारत माता के राज दुलारे थे,
देश के पहले प्रधानमंत्री थे,
स्वतंत्रता के सेनानी थे,
अचकन में फूल लगाते थे,
हमेशा ही मुस्कुराते थे,
बच्चों से प्यार जताते थे,
चाचा नेहरू प्यारे थे।

देश विदेश वे घूमते थे,
बहुत सारी जानकारी प्राप्त करते थे,
फिर भी अपने देश से प्यार करते थे,
चाचा नेहरू राजकुमारे थे,
बच्चे इनको सदा प्यार से,
चाचा नेहरू कहते हैं,
चाचाजी बच्चों के बीच,
बच्चे बनकर रहते थे।

एक गुलाब ही सब पुष्पों में,
इनको लगता प्यारा,
भारत का लाल यह,
सबसे ही था न्यारा,
सारे जग को पाठ पढ़ाया,
शांति और अमन का,
भारत माँ का मान बढ़ाया,
था ये ऐसा लाल चमन का।

बाल दिवस पर कविता हिंदी में

बाल दिवस है आज साथियों,
आओ खेले खेल,
जगह-जगह पर आज मची है,
खुशियों की रेलमपेल,
वर्षगांठ चाचा नेहरू की,
फिर से आई है आज,
उन जैसे नेता पर पुरे भारतवर्ष को है नाज,
दिल से इतने भोले थे, वो जितने हम नादान,
बूढ़े होने पर भी मन से थे सदा जवान,
हमने उनसे मुस्कुराना सिखा, सारे संकट झेल,
हम सब मिलकर क्यों न रचाए ऐसा सुख संसार,
जहां भाई भाई हो सभी, छलकता रहे प्यार,
न हो नफरत किसी दिल में, न द्वेष का वास,
न हो झगडे कोई, हो अंधेरों का हास,
झगड़े नहीं परस्पर कोई, सभी का हो आपस में मेल,
पड़े जरूरत देश को,
तो पहन ले हम वीरों का वेश,
प्राणों से बढ़कर है हमें अपना देश,
दुश्मन के दिल को दहला दे,
डाल कर नाक नकेल,
बाल दिवस है आज साथियों,
आओ मिलकर खेलें खेल।

Best Poem on Childrens Day in Hindi (बचपन पर कविता)

बचपन है ऐसा खजाना,
आता है ना दोबारा,
मुश्किल है इसको भूल पाना,
वो खेलना कूदना और गाना,
वो माँ की ममता और पापा का दुलार,
भुलाएं ना भूले वो सावन की फुहार,
वो कागज की नाव बनाना,
वो बारिश में खुद को भिगोना,
वो झूले झूलना और खुद ही मुस्कुराना,
वो यारों की यारी में सब भूल जाना,
और डंडे से गिल्ली को मारना,
वो अपने होमवर्क से जी चुराना,
और टीचर के पूछने पर तरह-तरह के बहाने बनाना
वो छोटी छोटी बातों पर रूठ जाना,
वो माँ का प्यार से मनाना,
वो दोस्तों के साथ साइकिल चलाना,
वो एग्जाम में रट्टा लगाना,
ऐसा है बचपन की यादों का खजाना,
मुश्किल है इसको भूल पाना।

बाल दिवस के लिए बच्चों पर कविता (Poem on Bal Diwas in Hindi for Kids)

कितनी प्यारी दुनिया इनकी,
कितनी मृदु मुस्कान,
बच्चों के मन में बसते है,
सदा स्वयं भगवान।
एक बार चाचा नेहरू ने,
बच्चों को दुलराया,
किलकारी भर हंसा जोर से,
जैसे हाथ उठाया,
नेहरूजी भी उसी तरह,
बच्चे-सा बन करके,
रहे खिलाते बड़ी देर तक,
जैसे खुद खो करके।
बच्चों में दिखता भारत का,
उज्ज्वल स्वर्ण विहान,
बच्चे यदि संस्कार पा गए,
देश सबल यह होगा,
बच्चों की प्रश्नावलियों से,
हर सवाल हल होगा।
बच्चे गा सकते है जग में,
अपना गौरव गान,
बच्चों के मन में बसते है,
सदा स्वयं भगवान्।

Bal Diwas Par Kavita in Hindi

हमको भाता बाल दिवस,
मन महकाता बाल दिवस।

यह बाल दिवस के लिए एक शानदार कविता है जिसे आप अपने स्कूल में सुना सकते है। यह बाल दिवस कविता आपको बताएगी कि, बाल दिवस हमें क्या याद दिलाता है?

नन्हें मुन्नों के जीवन में,
खुशियां लाता बाल दिवस,
बच्चों के चाचा नेहरू की,
याद दिलाता बाल दिवस,
हमको भाता बाल दिवस,
मन महकाता बाल दिवस।

जन्म दिवस है आज देश के,
प्यारे लाल जवाहर का,
आजादी की खातिर छोड़ा,
जिसने सुख वैभव घर का।

जन जन के प्यारे नेता की,
याद दिलाता बाल दिवस,
हमको भाता बाल दिवस,
मन महकाता बाल दिवस।

शांति अहिंसा पंचशील का,
मंत्र दीया जिसने जग को,
ज्ञान और विज्ञान के पथ पर,
मोड़ा जिसने हर पग को,
उन्नति के उजले सपनों की,
याद दिलाता बाल दिवस,
हमको भाता बाल दिवस,
मन महकाता बाल दिवस।

चाचा नेहरू कहते थे,
बच्चे है कर्णधार कल के,
भावी भारत की आशा हैं,
फूल भारती आंचल के,
ह्रदय लगाये उस गुलाब की,
याद दिलाता बाल दिवस,
हमको भाता बाल दिवस,
मन महकाता बाल दिवस।

Children's Day Poem in Hindi

हमारे बच्चे प्यारे बच्चे,
नन्हे मुन्ने सारे बच्चे,
माँ की आँखों के तारे बच्चे,
भोले भाले प्यार बच्चे,
है सबसे ये न्यारे बच्चे,
नन्हे मुन्ने सारे बच्चे।

कोमल फूल ये फुलवारी के,
रंग बिरंगी सब क्यारी के,
इनके इरादे बहुत है ऊँचे,
बच्चे है ये मन के सच्चे,
इनके इरादे बहुत ही पक्के,
धागे ये नहीं है कच्चे,
सभी के है ये दुलारे बच्चे,
देश के है ये सिपाही पक्के,
मन को भाये ये सारे बच्चे,
नन्ने मुन्ने प्यार बच्चे।

ये थी बाल दिवस की कविता। हमें उम्मीद है आपको जरूर पसंद आएँगी। Childrens Day Poems in Hindi.

यदि आपको हमारे द्वारा प्रस्तुत की गयी बाल दिवस के लिए कविताएँ अच्छी लगे तो यहाँ से आप अपनी पसंद की कविता चुन सकते है और अपने स्कूल में सुना सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

साथ ही, इन बाल दिवस की हिंदी कविताओ को अपने पसंदीदा लोगों के साथ शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. बहुत अच्छा लिखा है आपने sir

    Reply

Leave a Comment

×