AI Content Writing करने से पहले जान लें ये 7 बातें

इस 5G युग में AI (Artificial Intelligence) तकनीक बहुत तेजी से बढ़ रही है और हाल ही में ChatGPT जैसे कई AI tool भी कंटेंट राइटिंग (content writing) के लिए लोकप्रिय हुए हैं और मीडिया में भी इस AI technology की काफी चर्चा हो रही है। केवल मार्केटिंग ही नहीं बल्कि अन्य क्षेत्रों के लोग भी इस AI तकनीक की मदद से कंटेंट बनाने के लिए उत्सुक हैं। अगर आप भी AI टूल की मदद से कंटेंट बनाना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको AI Content Writing के कुछ जोखिमों के बारे में पता होना चाहिए। Risk of AI Content Writing Tools in Hindi.

AI Content Writing

आपको बता दें कि लगभग 80% लोग अपने सवालों के जवाब खोजने के लिए गूगल करते हैं। इंटरनेट पर हर विषय से संबंधित वेबसाइट है और उन वेबसाइटों पर कई तरह के कंटेंट भी उपलब्ध हैं।

वेबसाईट और ब्लॉग्स पर कंटेन्ट लिखने के लिए पहले जहां human writers की जरूरत पड़ती थी, वही अब बहुत से ऐसे AI Content Generator / Writer Tool आ गए है, जो आपके हिसाब से आपके topic पर content write करने में सक्षम हैं।

लेकिन इंसान और मशीन में फर्क होता है और इसीलिए हम आपको यहाँ ऐसे 10 risk के बारे मे बता रहे है, जिनका सामना आपको ai content writing में करना पड़ सकता हैं।

लेकिन उससे पहले आपको ये जान लेना चाहिए कि ये AI Content Writing है क्या ?

क्या है AI Content Writing ?

एआई कंटेंट राइटिंग एक रोबोटिक राइटिंग है। दूसरे शब्दों में, AI टूल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एल्गोरिदम (artificial intelligence algorithms) की मदद से कंटेंट क्रिएट करते हैं।

अगर हम चैटजीपीटी (ChatGPT) का उदाहरण लें तो इस AI Tool में नेचुरल लैंग्वेज जेनरेशन (natural language generation) का इस्तेमाल किया जाता है ताकि कंटेंट की भाषा नेचुरल टोन (natural tone) दे और रोबोट की तरह न लगे।

AI Content Writing करने से पहले जान लें ये 7 रिस्क

AI Content writing अब बहुत ही आसान हो गई है, human और machine द्वारा लिखे कंटेन्ट मे ज्यादा फर्क नहीं लगता, लेकिन फिर भी AI Content writing की बहुत सी ऐसी कमजोरिया है जो आपको भारी पड़ सकती है।

1. Google Penalty का जोखिम

गूगल ने साफ तौर पर कहा है कि वह ऑटोमेटेड कंटेंट (automated content) के सख्त खिलाफ है। अप्रैल 2022 में वापस चलते है, Google के जॉन मुलर ने AI-generated content की वैधता पर एक स्पष्टीकरण साझा किया:

“Currently, it’s all against the webmaster guidelines. So from our point of view, if we were to run across something like that, if the webspam team were to see it, they would see it as spam.”

अर्थात ये सब google webmaster guidelines के against है और अगर webspam team को आपकी साइट पर कुछ भी spam पाया जाता है तो आप पर कारवाई होगी।

Google आपकी साइट को spam content या AI-Content के लिए penalize भी कर सकता है। लेकिन अभी वर्तमान की बात करे तो google team का कहना है कि content original होना चाहिए, अब इसे कौन लिखता है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

यानि आपके आर्टिकल मे original, unique, valuable, copyright free content होना चाहिए, फिर चाहे आप इसे खुद लिखे, किसी और से लिखवाए या AI-Tool से लिखवाए।

2. गलत दावे (Wrong Fact) का जोखिम

AI content writing करने के लिए अक्सर हम अपने सवाल AI tools में डालते हैं जिसे टेक्निकल भाषा (technical language) में कमांड (command) कहते हैं। कमांड दर्ज करने के बाद, AI tool इंटरनेट पर उस विषय से संबंधित सभी सामग्री को मिलाकर आपको दी गई शब्द सीमा में सामग्री प्रदान करता है।

लेकिन अक्सर आप AI के तथ्यों पर विश्वास नहीं कर पाते हैं क्योंकि एआई को आपके देश की नीति और नियमों की जानकारी नहीं होती है और एआई टूल खुद अपने तथ्यों के 100% सच होने की गारंटी नहीं देता है।

ऐसे में अगर आपका कंटेन्ट आपके देश / किसी भी देश के नियम का violation करता है या गलत जानकारी शेयर करता है तो आपको claim का सामना पड़ सकता हैं।

3. ब्रांड खोने का जोखिम

यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए AI content writing करते हैं तो आप अपने ब्लॉग की विशेषता खो रहे हैं क्योंकि हर वेबसाइट और ब्लॉग का अपना टोन और भाषा होती है जो आपके ब्लॉग को खास बनाती है लेकिन AI कंटेंट राइटिंग नेचुरल लैंग्वेज जेनरेशन है। आपके पाठक इसे रोबोटिक मानेंगे और नेक्स्ट टाइम आपकी साइट पर विज़िट करने से बचेंगे।

AI कंटेंट राइटिंग की मदद से आप अच्छा कंटेन्ट तो बना लेंगे, लेकिन कहीं न कहीं यह आपके ब्लॉग की प्रतिष्ठा को गिरा सकता है क्योंकि जैसा कि हमने बताया कि नेचुरल लैंग्वेज जेनरेशन के बाद भी AI कंटेंट राइटिंग पाठकों को रोबोटिक लुक देगी। जिससे पाठक आपके कंटेंट से भावनात्मक रूप से जुड़ नहीं पाता है और वह आपके कंटेंट को ज्यादा समय तक पढ़ भी नहीं पाता है।

4. Plagiarism का जोखिम

एक और जोखिम साहित्यिक चोरी है। ChatGPT-3 जैसे कई AI टूल आपको 100% प्लेगरिज्म फ्री कंटेंट (plagiarism free content) प्रदान करने के दावे करेंगे जो कि कुछ हद तक सही भी है।

लेकिन AI कंटेंट राइटिंग की इस लोकप्रियता को देखते हुए इंटरनेट पर कई AI Content Detector भी मौजूद है जो आपको बता सकते हैं कि कितना प्रतिशत कंटेंट AI टूल की मदद से लिखा गया है और कितना प्रतिशत कंटेंट वास्तविक है।

5. Original Ideas कम होने का जोखिम

एआई टूल की मदद से आप अच्छी भाषा में कंटेंट तैयार कर सकते हैं, लेकिन इसके कारण आपके कंटेंट में ओरिजिनल आइडिया (Original Ideas) की कमी हो सकती है और साथ ही एआई कंटेंट किसी देश में चल रहे ट्रेंड्स और इमोशंस से जुड़े आइडियाज नहीं देता है।

6. तथ्यात्मक त्रुटियों का जोखिम

आप एआई का उपयोग कर रहे हैं या नहीं, इसकी परवाह किए बिना तथ्य-जांच आपके सामग्री वर्कफ़्लो का हिस्सा होनी चाहिए। लेकिन एआई का उपयोग करना महत्वपूर्ण है क्योंकि एआई तथ्य बनाना एआई सामग्री से जुड़े सबसे बड़े जोखिमों में से एक है।

यहाँ तक कि सर्वोत्तम भाषा मॉडल, जैसे GPT-3, गलतियाँ करते हैं। इन त्रुटियों का पता लगाना मुश्किल है क्योंकि वे अक्सर तथ्यात्मक अनुच्छेदों के बीच दबी रहती हैं।

7. Bias Content का जोखिम

AI Content writing आपको पूर्वाग्रह सामग्री भी मुहैया करा सकता है क्योंकि एआई टूल आपके कमांड के मुताबिक सिर्फ खास एरिया में ही सर्च करेगा जिससे आपका कंटेंट भी बायस्ड हो सकता है। बायस कंटेंट से बचने के लिए आपको एआई टूल पर विशेष कमांड देनी होगी।

एआई केवल उतना ही अच्छा है जितना इसे प्रशिक्षित किया जाता है। यदि डेटा पक्षपाती है, तो भाषा मॉडल भी होगा। जबकि अधिकांश एआई मॉडल में इससे बचने के लिए अंतर्निहित सुरक्षा उपाय हैं, पूर्वाग्रह हमेशा रेंग सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि प्रशिक्षण डेटा पक्षपाती है या लोगों के समूह को कम आंकता है, तो मॉडल पक्षपाती होगा। इसलिए किसी भी AI सामग्री को प्रकाशित करने से पहले आपको हमेशा मानवीय निरीक्षण की आवश्यकता होती है।

The future of AI-content writing – एआई-कंटेंट राइटिंग का भविष्य

यदि आप अपनी सामग्री उत्पन्न करने के लिए पूरी तरह से AI पर निर्भर हैं, तो आपके पास बहुत सारा टेक्स्ट होगा जो बहुत कुछ नहीं कहता है। लेकिन यह सामग्री विपणक के लिए अभी भी एक शक्तिशाली उपकरण हो सकता है – खासकर जब मानव विशेषज्ञता के साथ मिलकर। तो जानवर को वश में करना सीखें, और आप कुछ बहुत ही अनोखी सामग्री बनाने में सक्षम होंगे।

Conclusion,

आप भले ही कोई भी टूल का इस्तेमाल करके कंटेन्ट लिख लें लेकिन उसे सार्वजनिक करने से पहले उसके तथ्यों की जांच कर लें, ताकि भविष्य मे आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।

Avatar for Jumedeen Khan

by: Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Leave a Comment