New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

यूपीएससी (UPSC) क्या है और इसमें कितने पोस्ट होते हैं?

आज हर कोई भली भांति यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) से परिचित हैं। इतना ही नहीं यह भी आपको पता होगा कि यह भारत की सबसे शीर्ष और कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है, जिसके माध्यम से विभिन्न पदों पर अधिकारियों और अफसरों को देश की सेवा करने का मौका मिलता है। यूपीएससी अपने आप में ही एक विशाल नाम है, जो हर किसी को गौरव महसूस कराता है। आज के इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में बात करेंगे की UPSC क्या होता है और इसमें कितने पोस्ट होते है, इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए और सैलरी कितनी मिलती है? (What is the full form of UPSC in Hindi)

यूपीएससी (UPSC) क्या है और इसमें कितने पोस्ट होते हैं?

यूपीएससी की परीक्षा का आयोजन हर साल होता है। आपको इसके बारे में अधिक जानकारी दे दे कि राष्ट्रीय स्तर पर यह एक ऐसी संस्था मानी जाती है जो कि कई बड़े-बड़े परीक्षाओं का आयोजन करती है। इस परीक्षा के द्वारा जिनका चयन हो जाता है, वह काफी रूप से हर क्षेत्र में माहिर होते हैं।

आप एक स्टूडेंट है तो आपको ये बताने की जरुरत नहीं है कि प्राइवेट जॉब की तुलना में गवर्नमेंट जॉब की कितनी ज्यादा अहमियत है। अगर UPSX Exam अच्छे से क्लियर कर लिए जाये तो भविष्य सुनहरा हो सकता है।

तो आईये जानते है, यूपीएससी क्या होता है, इसकी क्वालिफिकेशन क्या होती है, upsc kya hai, aur iski kya qualification hai, what is full form of upsc in Hindi,

Table of Contents

यूपीएससी क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में (What is the UPSC in Hindi)

यूपीएससी भारत की सबसे प्रतिष्ठित केंद्रीय रिक्रूटमेंट (भर्ती करने वाली संस्था) है। यह सिविल सर्विस के बड़े अधिकारियों के तीन चरणों के कठिन परीक्षाओं के द्वारा चयन करता है। जैसे IFS, NDA, CDS, SCRA इत्यादि।

भारत में जितने भी लोग आईएएस (IAS) और आईपीएस (IPS) अफसर बनते हैं वह यूपीएससी परीक्षा के माध्यम से ही बनते हैं। इसके अलावा और भी अन्य प्रतिष्ठित पद है जो आप यूपीएससी की परीक्षा सफलतापूर्वक पास करने के बाद हासिल कर सकते हैं।

यूपीएससी की फुल फॉर्म क्या है? (What is the Full Form of UPSC in Hindi)

यूपीएससी का मतलब होता है, संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission).

UPSC परीक्षा क्लियर करने पर कौनसी जॉब मिलती है?

यदि आप यूपीएससी द्वारा आयोजित किये CSE सिविल सर्विस एग्जाम को क्लियर कर लेते हैं तो आप ग्रुप अ (A) के अधिकारी जैसे कलेक्टर, अपर कलेक्टर, सचिव आदि पदों पर जा सकते हैं।

यूपीएससी की शुरुआत कब हुयी और इसका इतिहास क्या है?

भारत में इस सिविल सर्विस की स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा 1923 में शौर्य हमके लाडली की अध्यक्षता में हुई थी। भारतीय और ब्रिटिश सदस्यों (समान संख्या के साथ) के आयोग ने 1924 में इस लोक सेवा आयोग की स्थापना की।

लोक सेवा आयोग को केवल एक सीमित सलाहकार समारोह दिया गया और स्वतंत्रता आंदोलन के नेताओं ने लगातार इस पहलू पर जोर भी दिया। जिसके चलते भारत सरकार अधिनियम 1935 के तहत यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की स्थापना हुई।

बाद में फेडरल पब्लिक सर्विस कमीशन की जगह इसका नाम बदलकर यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन कर दिया गया था।

यूपीएससी के लिए आयु सीमा कितनी है? (Age Limit for UPSC in Hindi)

इस सिविल सेवा आईएएस परीक्षा के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 साल होनी चाहिए। EWS श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए कोई उम्र में किसी तरह की छूट नहीं है। चलिए यहाँ पर हम इसके बारे में थोडा विस्तार से बता देते है।

Category Age (Maximum) Number Of Attempts
जनरल  32 वर्ष  6 बार
अन्य पिछड़ा वर्ग  35 वर्ष (3 साल की छूट)  9 बार
आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) 32 वर्ष 6 बार
अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति SC/ST 37 साल (5 साल की छूट) कोई सीमा नहीं
विकलांग उम्मीदवार 42 साल (10 साल की छूट) जनरल और ओबीसी (9 बार) SC/ST (कोई सीमा नहीं)

यूपीएससी परीक्षा में कितने चरण होते हैं?

मुख्य रूप से इस परीक्षा को तीन चरण में विभाजित किया गया है। यह आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है कि आप इन तीनों चरणों को सफलतापूर्वक पास करें, तभी आप आगे जा सकते हैं।

यूपीएससी की सिलेबस (upsc syllabus in Hindi), upsc syllabus pdf, upsc syllabus 2022.

#1 Preliminary exam

यह सबसे पहला और महत्वपूर्ण चरण माना जाता है, क्योंकि यहां आपको यह ज्ञात हो जाता है कि आगे किस तरह की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इस परीक्षा में आपसे जनरल स्टडीज तथा सिविल सर्विस एप्टिट्यूड टेस्ट से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं।

कुल इस परीक्षा के लिए आपको 4 घंटे का समय दिया जाता है। जहां हर पेपर में 200 मार्क्स होते हैं, जहां सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के दिए जाते हैं।

#2 Main exam

यदि आप पहले चरण को पार कर जाते हैं तो फिर आप मेंस में प्रवेश करते हैं।इस परीक्षा में आपके पास 9 पेपर होते हैं और इसमें 180 से लेकर 200 प्रश्न होते हैं। जहां 9 पेपर के लिए 1750 मार्क्स होते हैं और समय अवधि हर पेपर के लिए 3 घंटे की होती है।

3. Interview

यह अंतिम चरण होता है जो आपका भविष्य तय करता है। अगर आप मेंस एग्जाम में पास करते हैं तो फिर आप इंटरव्यू की प्रक्रिया के लिए आते हैं। यहां पर आपकी इच्छा अनुसार भाषा में सवाल पूछा जाता है।इंटरव्यू की प्रक्रिया कुल रूप से 750 अंकों की होती है।

यूपीएससी में कितने पोस्ट होते हैं?

UPSC कई तरह के सेवाओं और पदों की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित करता है। सामान्य यूपीएससी परीक्षा में Engineering services exam, NDA exam, civil service exam और Indian statistical services परीक्षा शामिल होते हैं।

ये परीक्षा Group A और Group B level की केंद्र सरकार की नौकरियों के लिए होती हैं। इसमें निम्न पोस्ट होते है।

#1 आईपीएस ऑफिसर

इसके तहत आपको यह जिम्मेदारी मिलती है कि आप कानून व्यवस्था को पूरी तरह से बनाए रखें। वही देखा जाए तो एक आईपीएस ऑफिसर को कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभालने को मिलती है।

#2 आईएफएस ऑफिसर

इंडियन फॉरेन सर्विस ऑफिसर का एकमात्र काम होता है देश के विदेशी संबंधों को संभालना ताकि अन्य देशों के साथ कूटनीतिक, राजनीतिक और आर्थिक रूप से अच्छे संबंध स्थापित रहे।

#3 आईआरएस

इंडियन रिवेन्यू सर्विस इसके नाम से ही आप अनुमान लगा सकते हैं कि इसका संबंध राजस्व से है। जान ले कि एक रिवेन्यू सर्विस ऑफिसर का काम टैक्स इकट्ठा करने के साथ ही साथ नीति बनाने और उसे लागू करने का भी होता है।

#4 आईआरटीएस

इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस जो आज हर किसी का सपना बन गया है। इतना ही नहीं यह जॉब का एक बहुत बढ़िया विकल्प माना जाता है।यहां पर आपको अच्छी सैलरी मिलने के साथ-साथ कई जिम्मेदारियां भी उठानी पड़ती हैं।

सिविल सर्विस जॉब के लिए सैलरी कितनी मिलती है?

यह बात पूरी तरह से स्पष्ट है कि आपकी सैलरी आपको खुद के पद के अनुसार मिलती है, जितना बड़ा पद हो उतनी ज्यादा सैलरी मिलती है।सिविल सर्विस के अंतर्गत जो भी जॉब आते हैं उसमें से अधिकतर ऐसा होता है कि आपको काफी अच्छी सैलरी मिलती है।

सबसे टॉप जैसे आईएएस, आईपीएस और आईएएस ऑफिसर हो तो उनकी सैलरी 50000 से लेकर दो लाख तक प्रतिमाह होती है। वही आपको एक और महत्वपूर्ण जानकारी दें दे कि ग्रेड की बात करें तो जूनियर स्केल, सीनियर स्केल और कई अन्य ग्रेड उच्च पद वाले शामिल है। यहां केवल अच्छी सैलरी ही नहीं बल्कि आपको काफी सम्मान और लोगों का प्यार मिलता है।

यूपीएससी के लिए क्या शैक्षणिक योग्यता (क्वालिफिकेशन) होना अनिवार्य है?

किसी भी परीक्षा के लिए एक अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता बनाई गई है जिसके तहत ही आपका सिलेक्शन किया जाता है। वैसे भी यह तो एक बड़े स्तर की परीक्षा है।

यहां पर उम्मीदवार के लिए कुछ मुख्य और महत्वपूर्ण योग्यता का होना लाजमी है। पर यह आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी हो सकती है कि यूपीएससी के अधिकतर एग्जाम देने के लिए आपको किसी बड़ी डिग्री या डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं होती है।

यह जानकारी आपके लिए काफी रूप से आवश्यक है कि इस परीक्षा के लिए आपके पास स्नातक की शिक्षा और डिग्री होना महत्वपूर्ण है। यदि आप 12वीं के बाद इसकी परीक्षा देने का सपना देख रहे हैं तो ऐसा होना संभव नहीं है, क्योंकि आपको इसके लिए ग्रेजुएशन तक अवश्य इंतजार करना होगा।

आप यह अवश्य कर सकते हैं कि ग्रेजुएशन के शुरुआत में आप इसकी तैयारी शुरू कर सकते हैं और जब ग्रेजुएशन खत्म हो तो पूरी तैयारी के साथ आप यूपीएससी की परीक्षा देने में पूरी तरह से सक्षम महसूस कर सकते हैं।

युपीएससी (UPSC) की तैयारी कैसे करें?

यह एक बहुत बड़े लेवल पर होने वाली परीक्षा हैं और इस परीक्षा में बहुत बड़ा प्रतिस्पर्धा (tough competition) रहता हैं। इसीलिए कई लोग सालों की मेहनत के बाद भी इस परीक्षा में सफल नहीं हो पाते हैं।

How to start preparing of UPSC in Hindi,अगर आप वाकई में इस यूपीएससी एग्जाम में सफल होना चाहते हैं तो निम्न बातों का विशेष ध्यान रखे।

#1 कोचिंग ज्वाइन करें

देश में कई सारी आईएएस/आईपीएस की तैयारी के लिए कोचिंग हैं जो आप ज्वाइन कर सकते हैं। वहां पर आपको हर नई जानकारी/न्यूज़/सूचना आदि से अपडेट रखा जायेगा, साथ ही आपको एक पढ़ने का माहोल भी मिलेगा। इसके अलावा कई वर्षों के पेपर एवं स्टडी मटेरियल आपको कोचिंग के द्वारा मिल जायेंगे।

#2 इन्टरनेट की मदद ले

आज इन्टरनेट हर व्यक्ति के पास मौजूद हैं, हर कोई अपने स्मार्टफ़ोन में नेट जरुर चलाता है, तो बेहतर होगा कि आप उसका उपयोग अपने ज्ञान को बढ़ाने में करे और पिछले वर्षों के पेपर, जनरल नॉलेज, न्यूज़ आदि पढ़ते रहें।

#3 समाचार (न्यूज़ पेपर) पढ़े

यह एक सबसे बेहतरीन तरीका होता है, अपनी नॉलेज को बढ़ाने (increase) के लिए। आप हिन्दी एवं इंग्लिश (Hindi & English) के कई सारे अखबार रोज पढ़ने की आदत डालें।

हो सके तो कोई नजदीकी लाइब्रेरी ज्वाइन कर लें। जहाँ से आपको एक साथ कई सारे अख़बार पढ़ने को मिल जाएँ।

निष्कर्ष,

प्रोफेशनल सरकारी नौकरी के लिए एग्जाम की परीक्षाओं में यूपीएससी की मान्यता सबसे अधिक मानी जाती है। लेकिन आज भी बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें यह नहीं मालूम होता है कि यूपीएससी क्या है (What is UPSC in Hindi) और इसके अंदर कितने पोस्ट होते हैं?

इसीलिए इस पोस्ट में हमने आसान भाषा का उपयोग करते हुए आपको यूपीएससी की जानकारी दी है और यह भी बताया कि यूपीएससी के लिए क्वालिफिकेशन कितनी होनी चाहिए।

साथ ही हमने जाना कि इस जॉब के लिए कितनी आयु सीमा होनी चाहिए, तथा upsc exam clear करने के बाद कौनसी जॉब मिलती है और किन लोगो को कितनी छूट है?

ये भी पढ़े,

हम उम्मीद करते है आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा, अगर हां तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे।

Avatar for निशु राज

मेरा नाम निशु है और मैं एक कंटेंट राइटर हु। मैं एजुकेशन, मनोरंजन, दैनिक जीवन, रिश्ते और स्वास्थ्य जैसे टॉपिक पर लिखना पसंद करती हूँ।

Comments ( 5 )

  1. sir me bhi apke blog pr guest post krna chahta hu

    Reply
    • अभी हम गेस्ट पोस्ट एक्सेप्ट नहीं कर रहे है

      Reply
  2. Upsc exam pass karne ke baad rajya ki naukri milti hai ya kendra ki naukri milti hai.

    Reply
  3. UPSC के बारे में बहुत ही अच्छी जानकारी दी है| इससे बहुत सारे लोगो को help मिलेगा जैसे की मुझे खुद नहीं पता था की एक person UPSC exam को कितना बार attempt कर सकता है|

    Reply
  4. Gajab ka Article likhte hain bhaiya ap bhi.

    Reply

Leave a Comment

×