अंग्रेजी कैसे सीखें? इंग्लिश सीखने के 4 आसान तरीके

हम अक्सर अपने आसपास देखते हैं कि कुछ लोगों को बहुत अच्छी इंग्लिश आती है तो वहीं कुछ लोग इंग्लिश का नाम सुनकर ही घबरा जाते हैं। कुछ इंग्लिश में पढ़ना, लिखना या बोलना हो तो उन्हें घबराहट होने लगती है। अगर आपके साथ भी ऐसा ही होता है ये आर्टिकल आपके लिए है। इस आर्टिकल हम आपको अंग्रेजी सिखने के आसान तरीके बताएंगे। जाने, अंग्रेजी कैसे सीखें? (How to Learn English in Hindi)

अंग्रेजी कैसे सीखें

दोस्तों, कोई भी चीज़ सीखी जा सकती है बस चीज़ को सीखने के लिए ज़रूरी होता है आपका तरीका। अगर आप सही तरीका अपनाकर कोई भी चीज़ सीखने के लिए मेहनत करते हैं तो यकीन मानिए आप ज़रूर कामयाब होंगे।

अंग्रेजी दुनिया की सबसे सरल भाषा है, बस यह आपको तब तक कठिन लगती है, जब तक आप इसे सिख नहीं जाते है। एक बार आप इंग्लिश सीख जाओ, फिर खुद कहोगे की, हां ये बहुत आसान भाषा है।

सबसे पहले हम ये जानेंगे कि अंग्रेजी का महत्त्व क्या है, ताकि हमे इसकी इम्पोर्टेंस पता चले और हम जान सके कि हमारे लिए इंग्लिश सीखन कितना जरुरी हो गया है। अंग्रेजी कैसे सीखें,

अंग्रेजी का महत्व (Importance of English)

आज के दौर में अंग्रेजी का काफी महत्व है। चाहें वो नौकरी के लिए हो या बाहर कहीं जाने के लिए, आपको इंग्लिश आना बेहद ज़रूरी है। अंग्रेजी बोलना अब एक शौक नहीं बल्कि ज़रूरत बन चुका है।

अंग्रेजी अब पूरी दुनिया में तीसरी सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषा बन गयी है। आपने गौर फरमाया होगा कि जब आप पढ़ने के लिए दूसरे देश में जाते हैं तो अंग्रेजी स्किल्स का टेस्ट लिया जाता है।

टेस्ट में आपकी राइटिंग, रीडिंग और स्पीकिंग स्किल्स को टेस्ट किया जाता है। इसी से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको अंग्रेजी आना कितना ज़रूरी है।

इतना ही नहीं, अगर आज के समय में आपकी क्वॉलिफिकेशन्स कम है और आपको अच्छी इंग्लिश आती है तो आपको प्रिफेरेंस दी जाती है। आपको हर जगह सम्मान मिलता है।

अब बात आती है कि अंग्रेजी कैसे सीखी जाए। अंग्रेजी सीखने की चाहत में अगर आप "learn English in 90 minutes" या "English speaking" जैसे कोर्सेस के इंस्टीट्यूट्स जॉइन करने का मन बना रहे हैं तो उससे पहले ये आर्टिकल पढ़ लें।

हो सकता है आपको पैसे लगाकर इंग्लिश सीखने की ज़रूरत ही महसूस ना हो। तो दोस्तो, अभी तक आप समझ ही गए होंगे हम आपको कुछ ऐसे नायाब तरीके बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप अंग्रेजी सीख सकते हैं।

तो बिना समय बर्बाद किए चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं अंग्रेजी सीखने के कुछ तरीके,

तो आईये जानते है, english kaise sikhe, angreji kaise sikhe, english bolna kaise sikhe, english likhna kaise sikhe, english padhna kaise sikhe. अंग्रेजी कैसे सीखें, इंग्लिश कैसे सीखे? 

अंग्रेजी कैसे सीखें? (How to Learn English in Hindi)

मैं आपको अंग्रेजी सीखने का मंत्र बताउंगी और वो मंत्र है practice and consistency यानि अभ्यास और नियमित होना। मतलब ये कि जब आप अंग्रेजी सीखने का प्रोसेस शुरू करते हैं तो आपको हर रोज़ अभ्यास करना होगा।

इसी से आप जल्द से जल्द अंग्रेजी सीख पाएंगे। अंग्रेजी सीखने के लिए आपको इन तीन-चार चीजों में स्ट्रॉन्ग होना पड़ेगा।

  • Reading (पढ़ना)
  • Writing (लिखना)
  • Listening (सुनना)
  • Speaking (बोलना)

अब चलिए इन सबके बारे में आपको विस्तार से बताती हु, ताकि आपको सबकुछ क्लियरली समझ आ जाये। लेकिन उससे पहले आपको बता दें की आपको इंग्लिश सिखने के लिए english grammar की अच्छी पकड़ होनी चाहिए।

GRAMMAR सीखें?

इन चारों का आधार है Grammar यानि अंग्रेजी व्याकरण। अक्सर हम देखते हैं कि लोगों को इंग्लिश लिखनी, पढ़नी और बोलनी तो आती है। लेकिन वो उसमें बहुत GRAMMATICAL ERROR करते हैं। आप कोई भी भाषा सीखें, लेकिन ज़रूरी है आप सही सीखें।

अगर आप अंग्रेजी लिखते, बोलते हुए ये गलतियां कर देंगे तो आपको IMPRESSION खराब हो जाएगा। इसीलिए आप गूगल की मदद से या किसी ENGLISH GRAMMAR की मदद से अपनी GRAMMAR को सुधारें।

इससे आप बिना गलतियां के शुद्ध भाषा सीख सकेंगे। चलिए अब एक एक करके बात करते हैं READING, WRITING, LISTENING और SPEAKING की।

1. Reading

अंग्रेजी सीखने के लिए अपनी English reading habits को develop करें। हो सकता है पहले दिन आपको पढ़ने में कठिनाई होगी। आप 1 पैराग्राफ को आधे से 1 घंटे में पढ़ पाएंगे। लेकिन जैसे-जैसे आप रेगुलर अंग्रेजी को पढ़ना शुरू करेंगे।

आपकी रीडिंग इम्प्रूव होगी। आप हर रोज़ बुक्स, न्यूज़पेपर आदि पढ़कर अपनी रीडिंग सुधार सकते हैं। अगर आपको किसी शब्द का उच्चारण नहीं आता है तो आप किसी से पूछ सकते हैं, डिक्शनरी से शब्द की pronunciation सीख सकते हैं या फिर आप उस शब्द का उच्चारण गूगल पर भी ढूंढ सकते हैं।

इस तरह आप हर रोज़ नियमित रूप से रीड करते रहेंगे तो आपको कई नए शब्द सीखने को मिलेंगे। एक महीने में आप ज़्यादातर शब्दों को जान पाएंगे, उनका उच्चारण और उनका मतलब सीख जाएंगे।

आपको जिस भी शब्द का मतलब नहीं पता है उसका तुरंत मीनिंग ढूंढे और अपनी एक डायरी में नोट कर लें। पूरे दिन के दौरान आप जो भी शब्द डायरी में नोट करेंगे। दिन के अंत में एक बार फिर से सही उच्चारण के साथ उन शब्दों का मीनिंग पढ़ें। नियमित रूप से ऐसा करने पर आपकी रीडिंग स्किल्स बेहतर हो जाएंगी।

2. Writing

अंग्रेजी पढ़ने के साथ साथ आपको लिखनी भी आनी चाहिए। इसके लिए आप हर रोज़ अपनी एक आदत बनाएं जैसे किसी भी टॉपिक पर 4-5 लाइन्स लिखना शुरू करें। कोशिश करें कि आप अंग्रेजी व्याकरण के नियमों को ध्यान में रखकर ही लिखें।

लिखने के बाद किसी से उसे चेक कराएं। अगर कोई गलती निकलती है तो उसका सुधार करें। 4-5 लाइन्स से लिखते-लिखते 4-5 पेज लिखने की आदत डालें। कोशिश करें कि अपने आर्टिकल्स में नए-नए शब्दों का प्रयोग करें।

इसके अलावा सोशल मीडिया पर अंग्रेजी लिखने की कोशिश करें। फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप पर अंग्रेजी में स्टेटस डालें। किसी भी टॉपिक पर अपने विचार लिखने हों तो अंग्रेजी भाषा में लिखें।

यहां तक कि आप अपने दोस्तों से अंग्रेजी में चैट करके भी अपनी अंग्रेजी को सुधार सकते हैं।

3. Listening

अंग्रेजी सीखने के लिए आप ज़्यादा से ज़्यादा अंग्रेजी के माहौल में रहें। अंग्रेजी गाने सुनें, subtitles के साथ अंग्रेजी मूवी देखें या फिर इंग्लिश में न्यूज़ सुनना शुरू करें। इसके अलावा ऐसे दोस्तों का सर्कल बनाएं जो ज्यादातर अंग्रेजी में बात करते हों।

जब आप हर समय अपने आसपास अंग्रेजी सुनेंगे तो आप जल्दी ही grab कर पाएंगे और उस भाषा को सीख जाएंगे। इसके अलावा आप खुद का अपना एक टेस्ट ले सकते हैं। जिससे आपकी listening and writing skills काफी इम्प्रूव करेंगी।

आप कोई भी इंग्लिश न्यूज़ या कोई भी इंग्लिश conversation सुनें और फिर उसको पूरा समझकर इंग्लिश में लिखें। इससे आपकी listening power तो बढ़ेगी ही साथ में आप इंग्लिश में बेहतर ढंग से लिख भी पाएंगे।

4. Speaking

इंग्लिश स्पीकिंग का सबसे पहला नियम है कि आपको अंग्रेजी बोलने में झिझक महसूस नहीं करनी है। हो सकता है आप शुरू में थोड़ा अटककर बोलेंगे या फिर गलत बोलेंगे लेकिन धीरे-धीरे हररोज़ बोलने से आपकी स्पीकिंग स्किल्स बेहतर हो जाएंगी।

अगर शुरू में आपको दूसरों के सामने अंग्रेजी बोलने में hesitation हो भी रही है तो उससे पहले आप खुद से अंग्रेजी में बात करें। एक अकेले कमरे में आइने के सामने खड़े होकर खुद से इंग्लिश में बात करें।

इससे आपको पता चलेगा कि आपका कहां इम्प्रूव करने की ज़रूरत है और साथ ही आपमें कॉन्फिडेंस भी आएगा। इन सबसे भी बढ़कर है अंग्रेजी में सोचें। ((Think in English)) मान लीजिए आपको कोई वाक्य अंग्रेजी में बोलना है तो उसे अंग्रेजी में ही सोचें।

पहले उसे हिंदी में सोचकर अंग्रेजी में ट्रांसलेट न करें। ठीक ऐसे ही, बोली गई किसी भी बात को अंग्रेजी में ही समझे, उसे अपनी ट्रांसलेट करके ना समझें।

Conclusion,

तो दोस्तों, ये कुछ बेहद आसान से तरीके थे जिनसे आप एक महीने के अंदर अंग्रेजी सीख सकेंगे। ध्यान रहें कि कोई भी भाषा सीखनी मुश्किल नहीं होती अगर आप मेहनत और लगन से उसपर काम करें।

इस आर्टिकल में हमने आपको अंग्रेजी कैसे सीखें? की बेसिक्स से लेकर समझाया है कि कैसे आप रीडिंग, राइटिंग, लिस्निंग और स्पीकिंग स्किल्स को बेहतर कर सकते हैं।

हर रोज़ इन बताए गए तरीकों पर काम करना शुरू करना। एक महीने के बाद जब आप खुद फर्क महसूस करेंगे तो हमें कॉमेंट के ज़रिए ज़रूर बताएं।

ये भी पढ़े,

इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे ताकि वो भी इसका लाभ उठा सके।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Leave a Comment

×