जीपीएस (GPS) क्या है और काम कैसे करता है?

आज एडवांस होती टेक्नोलॉजी ने हमारी ज़िदंगी को कितना आसान बना दिया है, इस बात का अंदाजा हम इसी से लगा सकते हैं कि आज हमें किसी भी लोकेशन पर पहुंचने के लिए लोगों से रास्ता पूछने की ज़रूरत नहीं पड़ती। बल्कि हम अपने मोबाइल पर सिर्फ एक क्लिक करने से ही अपने डेस्टिनेशन की रास्ता जान सकते हैं। और ये सब संभव हो सकता है GPS के कारण। आपने अक्सर इसे इस्तेमाल किया होगा। लेकिन क्या आप जानते है कि ये जीपीएस क्या है और कैसे काम करता है, इसका इस्तेमाल कैसे करे?

GPS क्या है और कैसे काम करता है?

जब भी अपने घर से बाहर निकलते हैं तो सबसे पहले मोबाइल में GPS को ऑन करते हैं क्योंकि हमें रास्ता और पहुंचने में लगने वाले समय की पूरी डिटेल मिल जाती है। यहां तक रास्ते में ट्रैफिक कहां होगा, इसकी जानकारी भी हमें GPS के ज़रिए मिल जाती है।

लेकिन क्या कभी सोचा है कि GPS कैसे काम करता है? आपकी लोकेशन को कैसे ट्रैक करता है? अगर आप ये सब नहीं जानते तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद जान जाएंगे।

जी हां, आज हम आपको GPS की पूरी जानकारी देंगे। तो चलिए जानते है, जीपीएस क्या होता है, जीपीएस काम कैसे करता है, जीपीएस का उपयोग कैसे करे, GPS kya hai aur kaam kaise karta hai, GPS ka use kaise kare?

जीपीएस क्या है? (What is GPS in Hindi)

GPS की फुल फॉर्म है - "Global Positioning System", यह एक ऐसा ग्लोबल नेविगेशन सेटेलाइट सिस्टम है जिसके ज़रिए हम लोकेशन का पता कर सकते हैं। ये सिस्टम धरती पर मौजूद किसी भी GPS receiver को geolocation और समय की जानकारी देता है।

GPS का इतिहास

आपको जानकारी हैरानी होगी कि GPS टेक्नोलॉजी काफी पुरानी है। इस सिस्टम को 1960 में पहली बार अमेरिका के डिफेंस डिपार्टमेंट ने बनाया था। डिफेंस डिपार्टमेंट ने इसे यूएस आर्मी की सिक्योरिटी के बनाया था ताकि वो दुश्मन की लोकेशन को ट्रैक कर सकें।

लेकिन उसके बाद साल 1995 में इस टेक्नोलॉजी को हर किसी के लिए ओपन कर दिया गया। जिसका नतीजा है कि आज हर किसी के मोबाइल फोन में जीपीएस होता है।

जीपीएस के ज़रिए हम कोई भी रास्ता और उसकी दूरी जान सकते हैं।

जीपीएस ट्रैकिंग क्या है? (What is GPS Tracking in Hindi)

GPS, सैटेलाइट के साथ मिलकर काम करता है। अमेरिका ने इसके लिए 50 से भी ज़्यादा जीपीएस सैटेलाइट्स को धरती से बाहर भेजा हुआ है जो लगातर सिग्नल भेजती हैं।

जीपीएस सैटेलाइट के ज़रिए भेजे गए सिग्नल्स को रिसीव करने के लिए एक रिसीवर का इस्तेमाल किया जाता है। वो रिसीवर आपको फोन भी हो सकता है।

जब आपका फोन रिसीवर की तरह काम करता है तो 4 सैटेलाइट आपकी लोकेशन को चेक करते हैं और आपकी ACCURATE LOCATION बताने के साथ साथ स्पीड, डिस्टेंस आदि भी ट्रैक कर पाते हैं।

इसीलिए हम जब भी अपने फोन में GPS ऑन करते हैं तो सारी जानकारी हमें मिल जाती है क्योंकि उस वक्त हमारा फोन एर रिसीवर की तरह काम करता है।

GPS कैसे काम करता है?

जीपीएस कैसे काम करता है ये बताने से पहले इसके बारे में थोड़ी सी डिटेल और जान लेते हैं। दरअसल, जीपीएस 30 सैटेलाइट्स का एक नेटवर्क होता है जो कि धरती से 20,000 किमी की दूरी पर ORBIT में REVOLVE करती हैं।

जैसा हमने ऊपर बताया कि 4 सैटेलाइट आपकी लोकेशन को चेक करती हैं। तो इन चारों में से हर एक सैटेलाइट समय समय पर अपनी पॉजिशन और रियल टाइम की जानकारी सिग्नल्स के जरिए ट्रांन्समिट करती है। ये सिग्नल लाइट की स्पीड से ट्रैवल करते हैं।

जीपीएस डिवाइस इन सिग्नल्स को रिसीव करता है तो कैलकुलेट करता है कि सैटेलाइट कितनी दूर है। ऐसे ही आपको लोकेशन का पता लगाया जाता है।

GPS का इस्तेमाल कहा होता है?

  • Location (अपनी लोकेशन पता करने के लिए)
  • Timing (सही समय जानने के लिए)
  • Navigation (एक जगह से दूसरी जगह जाने लिए )
  • Mapping (दुनिया का नक्शा बनाने के लिए)
  • Tracking (किसी को track करने के लिए)

जीपीएस का कैसे इस्तेमाल करें?

GPS का इस्तेमाल करना बहुत आसान है, कोई भी व्यक्ति बड़ी आसानी से अपने mobile smartphone में GPS का इस्तेमाल कर सकता है। आप इसका उपयोग करने के लिए निम्न तरीका फॉलो करे।

1. गूगल मैप्स डाउनलोड करें

आप प्ले स्टोर से गूगल मैप्स को इंस्टॉल कर सकते हैं। हालांकि ज़्यादातर स्मार्टफोन्स में गूगल मैप्स पहले से ही इंस्टॉल्ड होता है।

2. गूगल मैप्स ओपन करें

इंस्टॉल करने के बाद गूगल मैप्स को ओपन करें।

3. सर्च बॉक्स

अपने डिवाइस में जीपीएस ऑन करने के बाद सर्च बॉक्स में जाएं जो अपनी डेस्टिनेशन डालें।

4. डेस्टिनेशन पर क्लिक करें

डेस्टिनेशन सर्च बॉक्स में डालने के बाद आपको उस पर टैप करना है।

5. डायरेक्शन पर क्लिक करें

इसके बाद आपको स्क्रीन पर Direction का बटन दिखेगा उस पर क्लिक करें।

6. स्टार्ट प्वॉइंट

अब अपना स्टार्टिंग प्वॉइंट सिलेक्ट करें।

7. स्टार्ट बटन दबाएं

अब आप स्टार्ट बटन पर क्लिक करें। दी गए रास्ते के मुताबिक आप अपनी डेस्टिनेशन पर पहुंच जाएंगे।

इस तरह से अप बड़ी आसानी से जीपीएस का इस्तेमाल कर सकते हो।

Conclusion

तो दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने GPS के बारे में जाना। जीपीएस क्या है, कैसे काम करता है और आप अपने मोबाइल में इसका इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पढ़ने के बाद जीपीएस के बारे में समझ आ गया होगा। अगर अभी आपके मन में इसको ले कर कोई confusing है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में अपने सवाल पूछ सकते हो।

ये भी पढ़े,

अगर आर्टिकल पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें।

Avatar for भावना गुप्ता

मैं भावना पेशे से एक न्यूज़ रिपोर्टर हु, साथ ही मुझे लिखने का भी शौक है। इस ब्लॉग पर मैं Howto, हेल्थ और एजुकेशन वाले आर्टिकल शेयर करती हु।

Comments ( 2 )

  1. Sir, location me kisi ko track kse kr skte hai.? Ke wo kaha hai?or kaun sa jagah me sthit hai?

    Reply
  2. Sir, jaisa CID Waale Dikhaate hain, kya waastaw me waisa ho sakta hai....

    Reply

Leave a Comment

×