New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

रक्तदान (Blood Donate) कैसे करें? हिंदी जानकारी

रक्तदान (Blood Donation) एक छोटा सा सैक्रिफाइस है, लेकिन ये बड़ा बदलाव लाता है। आपके Blood Donate करने से किसी की जिंदगी बच सकती है। इसकी प्रोसेस बहुत ही आसान है और इसके लिए आपको केवल कुछ तैयारियां करने की जरूरत होती है। यहां पर हम आपको ब्लड डोनेशन कैसे करें? रक्तदान क्यों करें? रक्तदान करने के क्या फायदे हैं यानी रक्तदान करने की पूरी जानकारी बता रहे हैं। आइए जानते हैं, Blood Donation कैसे करें - How to Donate Blood in Hindi.

Blood Donation

हमारे देश में समय पर खून ना मिलने की वजह से हर साल 15 लाख मरीज अपनी जान गवा देते है और इनमें उन बच्चों की तादाद ज्यादा होती है जिन्हें thalassemia रक्त रोग के कारण बार-बार blood की जरूरत होती है।

इसके अलावा दुर्घटना के शिकार, कुपोषण, मलेरिया और प्रेग्नेंट महिलाओं को भी खून की जरूरत पड़ती है। अगर हम लोग blood donation करें तो कई लोगों की जिंदगियां बचाई जा सकती है।

एक सामान्य और स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 5 से 6 लीटर blood होता है, वह हर 3 महीने के बाद 1 unit blood donate कर सकता है, एक यूनिट में लगभग 400 ml blood होता है।

अगर हमारे देश भारत (India) का हर healthy आदमी रक्त दान करे तो तो कभी किसी की खून की कमी की वजह से मौत नहीं होगी।

इसलिए आज 14 June 2022 यानी विश्व रक्तदाता दिवस (World Blood Donor Day) के मौके पर आपसे एक दान करने के लिए आग्रह करता हूं।

Blood Donate करने से पहले क्या करें?

रक्तदान करने से पहले आपको कुछ जरूरी बातों का ख्याल रखना पड़ता है, ताकि रक्तदान करने के बाद आपको किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े।

  • खाना खायें: आप भूखे पेट रह कर रखता नहीं कर सकते। इसलिए रक्तदान करने जाने से पहले अच्छे से खाना या फल-फ्रूट खा ले।
  • खूब पानी पियें: ब्लड डोनेशन से पहले कम से कम 500 मिलीलीटर पानी पीना चाहिए। अगर पानी की जगह जूस मिल जाए तो और भी बेहतर है।
  •  उचित कपड़े पहने: रक्तदान करने जाते समय सामान्य कपड़े पहन कर जाएं। रक्तदान करने के बाद हो सकता है आपको थोड़ी ठंड लगे। क्योंकि इससे शरीर का तापमान कम हो जाता है।
  • अपनी आईडी साथ ले जायें: रक्तदान करने जाने से पहले अपनी कोई आईडी साथ ले ले। क्योंकि ब्लड बैंक में आपकी आईडी चेक की जाएगी।

शरीर में पानी की पूर्ति रहने की वजह से रक्तदान करने पर आपको चक्कर नहीं आएंगे। आपको महसूस तक नहीं होगा कि आप ने रक्तदान किया है।

 Blood Donate कैसे करें?

रक्तदान करना बहुत ही आसान है। अगर आप पहली बार blood donate कर रहे हो तो आपको थोड़ी सी हिचकिचाहट होगी। लेकिन रक्तदान के बाद आपको लगेगा कि यह तो बहुत आसान था।

यहां पर मैं आपको blood donation की पूरी प्रोसेस स्टेप बाय स्टेप बता देता हूं।

  • सबसे पहले आपको अपनी बेसिक मेडिकल इंफॉर्मेशन देने के लिए एक फोरम भरना होगा। जिसमें आपसे संबंधित मेडिकल हिस्ट्री पूछी जाएगी।
  • उसके बाद आपका थोड़ा सा फिजिकल एग्जामिनेशन किया जाएगा जिसमें आपकी हाइट, वेट, सेक्स और उम्र का रिकॉर्ड लिया जाएगा।
  • उसके बाद आपकी फिंगर टिप को प्रिक करके आपके ब्लड ड्रॉपलेट को test करेंगे, यह जानने के लिए कि आप रक्तदान कर सकते हैं या नहीं और आपका कौन सा ग्रुप है।
  • उसके बाद आपको blood donation chair पर लिटा दिया जाएगा, उसके बाद आप जिस हाथ से ब्लड देना चाहते हैं उसे ब्लड डोनेशन के लिए तैयार किया जाएगा।
  • अब आप रिलैक्स हो जाएं और आरामदायक स्थिति में आ जाएं। घबराएं नहीं, आपके हाथ में स्विच ऑफ आने पर थोड़ा सा दर्द होगा उसके बाद आपको आराम महसूस होगी।
  • अब 2-5 मिनट में blood donation process complete हो जाएगी। उसके बाद आपके हाथ से इंजेक्शन सुई को हटा लिया जाएगा, यह सुई सामान्य सुई से थोड़ी मोटी होती है।
  • एचडी पॉर्नअब थोड़ी देर आराम करें उठे नहीं। 5-10 तक आराम करें, उसके बाद आप उठ सकते हैं ।

बस इतना ही करना है और आप ब्लड डोनेशन कर चुके होंगे। देखा कितना आसान है, आपको जरूर करना चाहिए। Blood donate करने पर आपको donor कार्ड मिलता है, जिसे जरूरत पढ़ने पर आपको फ्री में blood मिलेगा।

Blood Donation कौन कर सकता है?

रक्तदान करने से पहले आपको यह जानना होता है कि आप एक योग्य blood donor है या नहीं? रक्तदान करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए।

  • कोई भी हेल्दी व्यक्ति जिसकी उम्र 18-68 साल की हो।
  • जिसका वजन 55 किलोग्राम या उससे अधिक हो।
  • जिसके blood में hemoglobin 12% से ज्यादा हो।
  •  Blood donate करते समय कोई antibiotic ना ले रहा हो।
  • जिसका पिछले 3 वर्षों से कोई बड़ा ऑपरेशन ना हुआ हो।
  • जिसको किसी प्रकार की कोई गंभीर बीमारी ना हो।
  • जिसने पिछले 3 महीनों से blood donate ना किया हो।
  • एक blood donor 1 साल में 4 बार यानी 3 माह के अंतराल में रक्तदान कर सकता है।

Blood Donate कौन नहीं कर सकता?

हर व्यक्ति ब्लड डोनेट नहीं कर सकता। केवल ऊपर बताए गए स्वस्थ व्यक्ति ही ब्लड डोनेट कर सकते हैं। कौन-कौन लोग नहीं कर सकते हैं वह इस प्रकार है।

  • जो व्यक्ति शराब का सेवन करता है।
  • जो व्यक्ति किसी प्रकार का नशा करता हो।
  • जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो।
  • जो महिला पीरियड में हो।
  • जो महिला अपने बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग करा रही हो।
  • जिसका वजन 47 किलोग्राम से कम हो।
  • या जो पिछले 3 महीने के भीतर रक्तदान कर चुका है।

Blood Donation करने के फायदे

Blood donate करने के क्या-क्या फायदे हैं? एक blood donor को इसके बारे में जरूर पता होना चाहिए। रक्तदान करने से शरीर को निम्न फायदे होते हैं।

  • Blood purify हो जाता है। आपको केवल 300 ml blood देना होता है जिसकी पूर्ति शरीर 24-48 घंटे में कर लेता है, और खून शुद्ध हो जाता है।
  • इससे शरीर के blood cells तेजी से बनने लगते हैं, शरीर में खून बनने की स्पीड बढ़ जाती है।
  • Blood donate करने पर heart disease में 7% की कमी आ जाती है।
  • रक्तदान करने से bone-marrow लगातार active रहता है।
  • Blood donor को donor card दिया जाता है, जिससे जरूरत पड़ने पर free blood मिलता है।
  • अगर आपके blood का group O है तो आप किसी को भी रक्तदान कर सकते हैं।
  • 1 unit blood से 3 लोगों की जान बचाई जा सकती है। यानी एक बार में निकाला गया (300-400 ml) blood 2-3 लोगों को दिया जा सकता है।

Blood Donate करने के नुकसान

रक्तदान करने से आपके शरीर को कोई बड़ा नुकसान नहीं होता है। रक्तदान महादान है, रक्तदान करने से आपके शरीर को नुकसान होने की बजाय उल्टा फायदा होता है।

अगर आप रक्तदान करने के बाद अच्छा खा-पी लेते हो तो आपकी सेहत पहले से भी बेहतर हो जाएगी। क्योंकि blood donation के बाद आपके शरीर में खून बनने की रफ्तार तेज हो जाती है।

जिससे आपका शरीर शुद्ध हो जाता है, इससे आपके शरीर को फायदा मिलता है और यह आपको और ज्यादा स्वस्थ रहने में मदद करता है।

Blood Donate करने के बाद Recover कैसे करें?

सामान्यत: रक्तदान करने के बाद आपका शरीर निकाले गए 300-400 ml blood को खुद-ब-खुद 24 से 48 घंटे में खून की पूर्ति कर लेता है।

आपको इसकी पूर्ति करने के लिए कुछ विशेष करने की जरूरत नहीं है, आप रक्तदान करने के बाद थोड़ा सा ज्यादा पानी पियें, हो सके तो 2-3 गिलास जूस पी ले।

हां अगर आप मौसमी का जूस, गन्ने का जूस, अनार का जूस और सेव जैसे फल खा लेते हो तो आपको और ज्यादा फायदा होगा।

  • रक्तदान करने के बाद आप पहले जैसी दैनिक कार्य कर सकते हैं।
  • लेकिन अगर आप को रक्तदान करने के बाद चक्कर आए तो आपको थोड़ा आराम करने की जरूरत होगी।

फिर से रक्तदान करने के लिए आप को कम से कम 8 सप्ताह का इंतजार करना होगा। यानी आप 3 महीने से पहले दोबारा blood doantion नहीं कर सकते हैं।

निष्कर्ष,

रक्तदान (Blood Donation) करना महादान है और बहुत आसान है। भाग्यवश, इससे हमारे शरीर को नुकसान होने की बजाय उल्टा फायदा होता है।

इसलिए आप भी रख दान करें और अपने दोस्तों, प्रियजनों में से जो blood donation कर सकता है उसे blood donate करने के लिए प्रोत्साहित करें।

अगर आपके मन में ब्लड डोनेशन प्रोसेस को लेकर कुछ दुविधा हो तो आप नजदीकी blood bank या किसी डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

ये भी पढ़ें,

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Leave a Comment

×