बचपन की 10 गलतियां जिनका एहसास हमें बाद में होता है

बचपन की कुछ गलतियाँ ऐसी होती है जो हमारी जिंदगी बर्बाद कर देती है जिनका एहसास हमें 30 की उम्र के बाद होता है और हम बहुत पछताते है। इस पोस्ट में मैं बचपन की 10 गलतियां बता रहा हूं अगर आप ये गलती कर रहे है तो समझो आप भी अपनी लाइफ बर्बाद करने में लगे हैं।

Bachpan Ki In 10 Galtiyo Ka Ehsaas Hume Bad Me Hota Hai

हम अपना बचपन भुला नहीं पाते है हर किसी को अपना बचपन याद आता है क्योंकि हम सभी ने बचपन जिया है। बचपन एक ऐसी उम्र है जिसमे बिना किसी चिंता के मस्ती से जिंदगी का आनंद लिया जाता है। इस छोटी सी उम्र में किसी को भी सही और गलत का फर्क पता नहीं होता हैं।

हमसे बचपन में अनजाने में कुछ गलतियाँ हो जाती है। उस वक्त हमें पता नहीं होता है की इन गलतियों से क्या समस्या हो सकती है लेकिन जब हम बड़े होते है तो हमे बचपन की गलतियां याद आती है एक गलती से हमारी जिंदगी बर्बाद हो जाती है।

इस पोस्ट में हम बचपन की ऐसी गलतियों के बारे में जानेंगे जिनका एहसास हमें सारी उम्र होता है और जिनसे हमारी जिंदगी बर्बाद हो जाती हैं।

बचपन की गलतियाँ जिनका एहसास हमें बाद में होता है

बचपन में खेलने कूदने के साथ - साथ अगर हम थोड़ी सावधानियां बरतें तो हमारा भविष्य संवर सकता है। आपका आज आपके कल को पूरी तरह से बदल सकता हैं।

1. माँ-बाप की इज्जत न करना

बचपन में माता-पिता की कद्र न करना और उनसे बदतमीजी से पेश आने की सजा हमे सारी उम्र किसी का प्यार ना पा कर चुकानी पड़ती है। दुनिया में शायद ही कोई माँ-बाप होंगे जो अपने बच्चों को गलत रास्ता दिखायेंगे। हर इंसान अपनी संतान को सही रास्ता दिखाना चाहता हैं।

बचपन में जब हमें अपने माँ-बाप जब भी डांटते है या किसी गलत काम को करने से मना करते है तो उसमें हमारा ही भला होता है। हमें कभी भी माँ-बाप की बेइज्जती नहीं करनी चाहिए और उनकी हर बात मान लेनी चाहिए ये सोच कर की वो जो भी सोचेंगे हमारे लिए सही ही होगा।

2. समय पर पढ़ाई न करना

बचपन में खेलने-कूदने के साथ पढाई करना भी जरुरी है। अगर पढोगे नहीं तो आने वाले टाइम में बड़े कैसे बनोगे। अगर आपने समय पर स्टडी नहीं की तो आप इस दुनिया से पीछे रह जाओगे क्युकी आपके सामने बहुत ज्यादा पढ़े-लिखे लोग होंगे, जिनसे बात करना आपके लिए मुश्किल होगा।

अगर आप पीछे मुड़कर देखोगे तो आपको आप पर हँसने वाले लोगों के अलावा और कुछ दिखाई नहीं देगा। इसलिए बड़े होकर कामयाब होने के लिए बचपन से ही पढ़ना जरुरी है। आप खेलों-कूदो कोई मना नहीं है पर अपना होमवर्क और पढ़ाई समय - समय पर करो।

3. समय बर्बाद करना

समय बर्बाद करना बचपन की सबसे बड़ी गलतियों में से एक है। जो समय निकल गया वो दोबारा कभी नहीं आएगा ये जानते हुए भी हम बचपन में समय बर्बाद कर रहे है। इसका एहसास हमें जवानी के बाद होता है और हम सोचते है की काश में अपना काम समय पर कर लेता।

समय को कोई रोक नहीं सकता। हमे हर काम समय पर करना चाहिए। बचपन सिर्फ खेलने-खुदने के लिए नहीं है। हमारी जिंदगी के लिए सिर्फ हमारे माँ-बाप की नहीं हमारी भी जिम्मेदारी होती है और हम उन सब पर खरा उतरना चाहिए ताकि हम भविष्य में इसकी समस्या से बच सकें।

4. कुछ नया न सीखना

बचपन में एक आदत सी हो जाती है जब हम पढ़ाई या किसी भी जरुरी काम के वक्त खेलने या तबियत सही न होने की वजह से सीखना बंद कर देते है। इस उम्र में हमें ऐसा महसूस होता है जैसे हम पूरी दुनिया के बारे में जानते हो और हमे अब और कुछ सीखने या जाने की जरुरत नहीं हैं।

ये गलती कभी न करें। इस दुनिया में सीखने के लिए बहुत कुछ है साथ ही जिंदगी जीने के लिए कुछ जरूरी जानकारी होना जरूरी है। अगर आपके पास वो जानकारी नहीं होगी तो बड़े होने पर आपको दूसरों के दरवाजे खटखटाने पड़ेंगे। इसलिए क्यों ना इतना सीख लिया जाए की लोग आपका दरवाजा खटखटाने आये।

5. फिजूल खर्च करना

जब हम बचपन से जवानी की तरफ जाने लगते है तो हमारी कई तरह के लोगों से दोस्ती हो जाती है जिनमे कुछ अमीर तो कुछ गरीब भी होते है। हम अमीर बच्चों की तरफ आकर्षित होते है और उनकी तरह बनने की कोशिश करते है। उनकी तरह खिलोने लेने के लिए माँ-बाप से जिद्द करते हैं।

हर बच्चा अमीर घर में जन्म ले और उसे हर एशो-आराम मिले ऐसा जरूरी नहीं है दूसरों को देखकर फिजूल खर्च न करे और अपने माता-पिता की स्तिथि देखकर ही पैसे खर्च करें। ये बात 16 से 20 साल की उम्र के लड़के और लड़कियों के लिए जरुरी हैं।

6. शारीरिक आकर्षण

हर बच्चा चाहता है की उसकी बॉडी सबसे ज्यादा मजबूत हो और वो सबसे ज्यादा खुबसूरत हो लेकिन सिर्फ सुंदर और अच्छी बॉडी ही जिंदगी जीने के लिए काफी नहीं है। मजबूत बॉडी के साथ - साथ मजबूत दिमाग भी जरूरी हैं।

इसलिए शारीरिक फिटनेस के साथ - साथ अपने दिमाग को भी मजबूत बनाने की कोशिश करें। अच्छी बातें सीखें और अपने दिमाग को ज्ञान से भरें।

7. अच्छे दोस्त न बनाना

अच्छे बचपन के पीछे अच्छे दोस्त जरूर होते है। जिसके अच्छे दोस्त नहीं होते है उससे बचपन में कई गलती होती है। माता-पिता के बाद अच्छे दोस्त ही होते है जो आपको हर जगह सही और गलत की पहचान कराते हैं।

कहते है हर सफल इंसान के पीछे किसी औरत का हाथ जरुर होता है ठीक वैसे ही अच्छे बचपन के पीछे किसी अच्छे दोस्त का साथ जरूर होता है। 10 बुरे दोस्त बनाने से अच्छा 1 अच्छा दोस्त बना लें।

8. बुरी संगत में फसना

कुछ बच्चे बचपन में ऐसी संगती में फंस जाते है जो उनका भविष्य बर्बाद कर देती है। उनके गलत कामों से माँ-बाप को निचा देखना ही पड़ता है साथ ही उनने गाँव, आस-पास के लोग नफरत करने लग जाते है। इस बुरी लत में लड़की, शराब, सिगरेट, जुआ, यौन आकर्षण जैसी कई बुरी आदत आ जाती हैं।

मैं ये नहीं कहता की गलती करके इंसान सुधर नहीं सकता पर इतना गारंटी से कह सकता हूं की जिस पेड़ की जड़ कट जाए उसे फिर से हरा-भरा होने में बहुत समय लग जाता है। इसलिए बुरी आदतों से बचें और इज्जत की जिंदगी जिए ताकि दुनिया आपसे प्यार करें।

9. धूम्रपान करना

आज के समय में नशा करना जैसे युवाओं का शौक बन गया है गुटका चबाना, सिगरेट पीना, शराब का सेवन करना आदि आज की सबसे छोटी पीढ़ी की पहचान बन गई है। स्कूल हो या कॉलेज स्टुडेंट के लिए नशा करना शान बन गया हैं।

इसका परिणाम क्या है मौत या अपाहिज जिंदगी। अगर आपके साथ बुरा हो रहा है तो इसका फैसला सिर्फ आप नहीं कर सकते। आप पर आपके माँ-बाप और आपको बनाने वाले का अधिकार है। जिंदगी जीने के लिए मिली है बर्बाद करने के लिए नहीं और सिगरेट, शराब पीने से आपकी लाइफ बर्बाद ही होगी आबाद कभी नहीं।

10. यौन संबंध बनाना

बिंदु 8 में मैं बताया था की बुरी संगत में पड़ने से हमारी जिंदगी बर्बाद हो जाती है। ये दसवां बिंदु उसका ही हिस्सा है और सबसे ज्यादा खतरनाक है। अधिकतर लोगों की जिंदगी इसी की वजह से बर्बाद हो जाती है। इसकी वजह बुरे दोस्त बनाना और बुरी संगत में फसना।

बुरे लोग हमें अशलील फिल्मों, अश्लील बुक और यौन संबंध के बारे में बताते है। बचपन में हमे इन बातों का ज्ञान नहीं होता है और हम अनजाने में कई गलतियाँ कर बैठते है जिसकी वजह से हमें बाद में पछताना पड़ता हैं।

निष्कर्ष

बचपन की कुछ गलतियाँ ऐसी होती है जिनकी वजह से हमें मरते दम तक पछताना पड़ता है परिवार, समाज, रिश्तेदार, पति पत्नी के रिश्तों में दरार आती है और हमें निचा देखना पड़ता है। इस सब से बचें और सर उठा के जीना सीखें।

बचपन में खेलने-कूदने के साथ बुरे कामों से बचें और अपने भविष्य को महान बनाने के लिए तत्पर रहें। आपके बचपन में उठाये गये कुछ सही कदम आपकी जिंदगी को बदलकर रख सकते हैं।

ये भी पढ़ें:-

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगे तो इसे सोशल मीडिया पर अपने ऐसे दोस्तों के साथ शेयर करें जो बुरी संगत में पड़ें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 19 )

  1. realy brother nice article and aap ne aabhi tak mere mail ka jwab nhi diya hai main kab se wait kar rha hu

    Reply
    • Mujhe aapka mail milega to jarur reply karunga.

      Reply
  2. Sahi baat kahi aap ne. Lakin kya kare ye umar hi yesi hoti hai ki. Ish time acchi baat buri aur buri baat acchi lagti hai. Aur jab samajh me aati hai. To kafi der ho chuka hota hai.

    Thanks for sharing.....

    Reply
  3. Wow thanks you sir its really helpful post for me

    Reply
  4. hakiqat baat batai hai, agar aisi hi bate padhne ko mile to bahut kuch seekhne ko milega. thanks

    Reply
  5. Sir ji aap ki har motivational post me ek dum real fact wali baat hoti hai. Mujh aap ki asi post kafi achi lagti hai jis se mujhe kafi help milti hai.
    Thanks sir ji

    Reply
  6. Love This Post ...Bro Kamal kardiya...Bohat dino baad aya apki website pe bohat khushi hui

    Reply
  7. something different. i have learn so many things from this blog, your blog is awesome and also these motivation and life changing article helpful

    Reply
  8. Jume Deen bhai, Kaise hain aap?

    Sach kahu to ek TECH Experts se mujhe itne emotional or inspirational post ki ummid nahi thi....Agar koi pahli baar aapko padhega to usey vishwas hi nahi hoga ki aap itne bade Tech Expert bhi hain...

    Waise aapka ye post bahut hi behatarin hai.. Aapka ye post under 16 ke bachcho ke liye bahut hi helpful sabit hoga...

    Reply
    • Yes ye tips under 16 bachho ke liye important hai.

      Reply
  9. Nice Article Bro...
    Really bahut se log bachpan me kuch esi hi galtiya kr jate h..

    Reply
  10. Sir aap har article awosome tarike se likhte he mene aapke bohot article padhe he Jo ek se badh kar ek he
    Mene aapki seo post and blogging se related post padhi he Jo aapne bohot acchi likhi he aapki writing skills bohot acchi he and aap har choti choti cheez detail ma Bata dete ho

    Reply
    • Thanks and wlkm

      Reply

Leave a Comment

×