New Year OFFER | Win OPPO Reno7 Pro 5G Mobile for FREE! (
)

शाहरुख खान की सफलता की कहानी - Shah Rukh Khan Success Story

आज मैं बात कर रहा हूँ अपनी शानदार एक्टिंग की बदौलत भारत के सिनेमा जगत में दशकों से राज कर रहे और लोगों में अपने रोमांटिक रोल्स के लिए पहचाने जाने वाले मशहूर एक्टर शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के बारे में, जिन्हें उनकी काबिलियत की वजह से King Of Bollywood भी कहा जाता हैं।

Shahrukh Khan Ki Safalta Ki Kahani

एक समय था जब दिल्ली में रहने वाला ये आम लड़का, जिसको ना कोई जानता था और ना ही कोई पहचानता था और आज इतना मशहूर हो चूका है की इसे भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में इनकी एक्टिंग का लोहा माना जाता हैं।

हम आपको बता दें की शाहरुख खान (Shahrukh Khan) अब तक 80 से भी ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके है और अब तक शाहरुख 14 Filmfare Awards भी जीत चुके हैं।

आज उनकी गिनती दुनिया के सबसे अमीर एक्टर्स (World's Richest Actors) में की जाती हैं। आइये जानते है की किस तरह से एक आम लड़का अपने जुनून और काबिलियत के दम पर आज करोड़ों (लोगों के दिलों) पर राज कर रहा हैं। (Shahrukh Khan Ki Safalta Ki Kahani)

Shahrukh Khan Success Story in Hindi

इस प्रेरणादायक कहानी की शुरुआत 2 November 1965 से होती हैं। दिल्ली के एक मुस्लीम परिवार में शाहरुख खान का जन्म हुआ। उनके पिता का नाम मीर ताज मोहम्मद था जो एक स्वतंत्रता सेनान्नी थे और उनकी माँ का नाम लतीफ फातिमा था।

वैसे तो भारत पाकिस्तान के अलग होने से पहले उनका परिवार पेशावर में रहता था लेकिन 1948 में जब विभाजन हुआ तो उनके पिता अपने परिवार के साथ दिल्ली में आकर बस गये। शाहरुख का बचपन दिल्ली के राजेंद्र इलाके में बिता, जहाँ उनका परिवार एक किराये के घर में रहती थी।

शाहरुख खान के पिता एक रेस्टोरेंट चलाया करते थे। शाहरुख खान ने अपनी शुरुआती पढ़ाई दिल्ली के St. Columba School से की और पढ़ाई में अच्छे होने की वजह से शाहरुख ने स्कूल का सबसे बड़ा अवार्ड Sword of Honour भी जीता था।

लेकिन सिर्फ 16 साल की उम्र में shahrukh khan के जीवन में एक दुखद पल जब आया जब उनके पिता ने दुनिया को अलविदा कहा, हालाँकि इतनी कम उम्र में पिता को खोने के बाद भी शाहरुख के अन्दर परेशानीयों से लड़ने का जज्बा कभी भी खत्म नहीं हुआ था।

उन्होंने 1950 में हंसराज कॉलेज में एडमिशन ले लिया, जहाँ पर उन्होंने एक ग्रुप ज्वाइन किया और उस ग्रुप में रहते हुए उन्होंने बैरी जॉन के अंतर्गत एक्टिंग सीखी।

इसके बाद शाहरुख खान Mass Communications में मास्टर डिग्री लेने का फैसला लिया लेकिन एक्टिंग के लिए पढ़ाई अधूरी छोड़ दी और इसी बीच उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा में भी एडमिशन लिया।

जहाँ पर उन्होंने एक्टिंग के रोल्स सीखें। Shahrukh khan का पहला रोल टीवी सीरीज दिल दरिया में था लेकिन कुछ production परेशानीयों के चलते ये टीवी सीरिज एक साल के बाद रिलीज हुआ और इसी बीच शाहरुख खान ने फौजी नाम के एक सीरीयल में काम किया।

इस तरह से उनकी टेलीविजन में प्रथम एंट्री फौजी नाम के एक टीवी सीरियल से हुई, उसके बार उन्होंने कई और टीवी सीरीज जैसे सर्कस, Wagle ki duniya, Idiot और उम्मीद में काम किया।

उस समय शाहरुख खान की एक्टिंग को देखकर लोगों ने उनकी तुलना दिलीपकुमार से करनी शुरू कर दी थी और फिर 1991 में उन्होंने अपनी प्रेमिका गौरी के साथ शादी कर ली।

गौरी और शाहरुख के बीच पिछले कई सालों से प्रेम संबंध थे लेकिन बहुत सारी रुकावट और परेशानीयों का सामना करने का बाद ये दोनों एक हो पाये थे।

शाहरुख खान का अभी एक्टिंग करियर शुरू ही हुआ था की उन्हें एक और बड़ा सदमा लगा, जब 1991 में उन्होंने अपनी माँ को खो दिया और इस दुख को भुलाने के लिए वे मुंबई चले गये और अपने आप को पूरी तरह से एक्टिंग में झोंक दिया।

मुंबई जाकर उनकी किस्मत ने उनका साथ दिया और उनकी एक्टिंग को देखते हुये उन्हें कई सारी फिल्मों में काम मिल गया। जैसे की सबसे पहले उन्हें हेमा मालिनी डायरेक्शन में "दिल आशना है" फिल्म में साइन किया गया।

ये हेमा मालिनी का एक डायरेक्टर के तौर पर एक डेब्यू फिल्म था लेकिन 1992 में रिलीज हुई "Deewana" मूवी शाहरुख खान की डेब्यू फिल्म बनी।

इस मूवी में उस समय के स्टार एक्टर ऋषि कपूर ने भी काम किया था। दीवाना पोस्ट ऑफिस पर एक हिट फिल्म साबित हुई और इसने शाहरुख खान के बॉलीवुड करियर को एक अच्छी शुरुआत दी।

इस मूवी के लिए उन्हें फिल्मफेयर का "Best Male Debut Award" से नवाजा गया था। 1992 में उनकी इसके अलावा तीन और भी फ़िल्में आई जैसे चमत्कार, दिल आशना है और राजू बन गया जेंटलमैन।

1993 में शाहरुख खान ने अपनी लीग से हटकर रोल किये और इसी साल उनकी 2 फिल्म डर और बाजीगर आई जिनमें वे हीरो की जगह खलनायक की भूमिका निभाते नजर आये और लोगों को उनकी एक्टिंग खूब पसंद आई।

बाजीगर में उनके अलग किरदार और शानदार एक्टिंग की वजह से उनको फिल्मफेयर अवार्ड फॉर दे बेस्ट एक्टर मिला और इस तरह से बॉलीवुड़ में कदम रखकर सिर्फ 2 साल में ही शाहरुख खान ने अपनी एक्टिंग के जरिये पूरी दुनिया में लोहा मनवाया।

आगे भी शाहरुख खान कई फिल्मों में खलनायक का रोल निभाते नजर आये। कोई भी अपनी शुरुआत समय में खलनायक वाले किरदार करने से बचता है पर शाहरुख खान उनके विपरीत काम कर रहे थे और वो हर मुश्किल से मुश्किल रोल को करके लोगों के बीच मशहूर होते जा रहे थे।

1995 में शाहरुख खान ने ६ से ७ फिल्मों में काम किया जिनमें से उनकी सफल फिल्म "करण अर्जुन" और "दिल वाले दुल्हनियाँ ले जायेंगें" साबित हुई और यही वो मूवी थी जिसके बाद शाहरुख खान के एक रोमांटिक छवि बन गई।

इस फिल्म ने कूल १० filmfare awards जीते थे जिसमें शाहरुख खान को दूसरी बाद बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला। जिसके बाद शाहरुख ने अलग - अलग फिल्मों में अहम भूमिका निभाई।

1998 में करण जोहर के डायरेक्शन में आई फिल्म "Kabhi Khushi Kabhi Gham" में एक्टिंग के लिए उन्हें  फिर से फिल्मफेयर का बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला और इस तरह से शाहरुख खान ने अभी तक कूल 14 फिल्मफेयर अवार्ड जीते हैं।

आगे भी शाहरुख खान बहुत सारी फिल्मों में काम करते रहे जिनमें से कुछ सुपरहिट रही तो कुछ फ्लॉप भी रही। 1999 में शाहरुख खान ने जूही चावला के साथ एक प्रोडक्शन हाउस खोला जिसकी बदौलत वो एक प्रोडूसर भी बने।

उनके प्रोडक्शन द्वारा बनाई गई पहली फिल्म "Phir Bhi Dil Hai Hindustani" बॉक्स ऑफिस पर फेलियर साबित हुई। इसके बाद 2001 में शाहरुख खान के प्रोडक्शन हाउस की दूसरी फिल्म "Asoka" भी बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह पीटी और बतौर एक्टर काफी सफल रहे शाहरुख खान एक प्रोडूसर के तौर पर कमाल करने में नाकाम रहे थे।

तभी 2001 December में उनको "Shakti: The Power" फिल्म की सूटिंग जके दौरान पीठ में चौट लग गई जिसकी वजह से उनकी पीठ में काफी दर्द रहने लगा था जब इसका इलाज भारत में ना हो सका तो उन्होंने लंदन जाकर इलाज करवाया और फिर भारत वापसी के बाद उन्होंने कम से कम दबाव में काम करने का फैसला लिया।

हालाँकि इसी दौर में "Mohabbatein, कभी ख़ुशी कभी गम, और Devdas जैसी उन्होंने लगातार कई सारी हिट फ़िल्में की और फिर आगे भी उन्होंने Swades, Veer-Zaara, Paheli, Don, Chak De India, My Name Is Khan, Ra. one, Chennai Express, Happy New Year और Raees की तरह बहुत सारी हिट मूवीज में काम किया और अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया।

इतना ही नहीं शाहरुख खान एक अच्छे एक्टर होने के साथ - साथ एक बिजनेसमैन भी है वे Red Chillies Entertainment production कंपनी के मालिक है।

साथ ही वे जूही चावला और उनके पति के साथ पार्टनरशिप में आईपीएल की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के मालिक है और फ़िलहाल शाहरुख की कूल संपति लगभग 5 हजार करोड़ के आसपास है जिस वजह से वे दुनिया के सबसे अमीर एक्टर्स में शुमार किये जाते हैं।

उम्मीद करता हूँ आपको बॉलीवुड़ के किंग शाहरुख खान (Shahrukh Khan) की सफलता की कहानी पसंद आई होगी और आपको इससे बहुत प्रेरणा मिली होगी अगर हाँ तो इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. Wow Yaar Great Story... Shahrukh Khan Sir Always Inspire us to do hard work and be the best version of yourself.. No one can be compared to him.

    Reply

Leave a Comment

×