गुस्सा करने के नुकसान जानकर हैरान रह जाओगे

मैं पिछली पोस्ट में अपने क्रोध को कंट्रोल करने के टिप्स बता चूका हूं पहले उस पोस्ट को पढ़ें और अपने गुस्से पर काबू पाना सीखें। इस पोस्ट में मैं आपको गुस्सा करने के नुकसान बताऊंगा ताकि आप इसकी हानि जानकर गुस्सा करना छोड़ दो और कुछ बातें ऐसी बता रहा हूं जो आपको क्रोध करना भुला सकती हैं।

गुस्सा करने के नुकसान

जो व्यक्ति बदले की भावना रखता है दरअसल वो अपने ही घाव हरे रखता है। एक इंसान गुस्से में अपना मुंह खोल लेता है और आंखें बंद कर लेता है जिससे उसे कुछ दिखाई नहीं देता है और वो काले अंधेरे में कुछ भी कर बैठता है लेकिन ध्यान रहें ये अंधेरा आपके साथ भी कुछ भी कर सकता हैं।

गुस्सा एक तरफ का पागलपन है जो बेवकूफों के दिल में ही बसता है ये एक ऐसी हवा है जो बुद्धि के दिया को बुझा देती है। कोई भी गुस्सा हो सकता है ये करना आसान है। लेकिन सही इंसान पर सही सीमा में सही समय पर और सही वजह से और सही तरीके के साथ क्रोधित होना आसान नहीं हैं।

गुस्सा करने के नुकसान Loss of anger in Hindi

गुस्से के कारण की तुलना में उसके परिणाम ज्यादा जोखिम भरे होते है। क्रोध को पाले रखना किसी और पर फेकने की नियत से पकड़े रहने के जैसा है इससे आपका ही हाथ जलता हैं।

गुस्से पर अगर काबू (control) न किया जाए तो वो जिस चोट के कारण आया हो उससे कही ज्यादा नुकसान पहुंचा सकता है। जैसे माचिश की तिल्ली किसी दुसरे को जलाने से पहले खुद को जलाती है इसी तरह गुस्सा पहले आपको बर्बाद करता है उसके बाद दुसरे को।

मतलब, क्रोध गुस्सा करने वाले को हमेशा ज्यादा नुकसान पहुंचाता है बजाय उसके जिस पर आप गुस्सा होते है। क्रोध आने पर चिल्लाने के लिए ताकत चाहिए लेकिन क्रोध आने पर चूप रहने के लिए उससे भी ज्यादा ताकत चाहिए।

गुस्से में बोला गया हर एक शब्द इतना ज्यादा जहरीला बन जाता है की आपकी जिंदगी की हर प्यारी बातों को एक मिनट में खत्म कर सकता है ये एक बहुत चालाक चीज है और ये हमेशा कमजोर लोगों पर ही निकलता है।

अगर आप सही है तो आपको क्रोधित होने की जरूरत नहीं है और अगर आप गलत है तो आपको गुस्सा होने का कोई हक़ नहीं है। क्रोध एक भयानक आग की तरह है जो इंसान इस आग को वश में कर लेता है वो इसे बुझा देता है।

और जो इसे वश में नहीं कर पाता है वो इस आग में खुद जल जाता है। क्रोध एक ऐसी परिस्थिति है जिसमे जीभ दिमाग से ज्यादा तेज चलती है। गुस्से में किसी को कोई जवाब न दो, बहुत खुश होने पर किसी से कभी वादा मत करो और दुखी मन से कोई फैसला मत करो।

जैसे उबलते हुए पानी में परछाई नहीं दिखती है वैसे ही गुस्से में कोई भी इंसान सच नहीं देख सकता। इसलिए 2 कोड़ी की बात पर 2 करोड़ का गुस्सा करना फायदे की बात नहीं हैं।

आओ छोड़ दे हम गुस्सा हो जाए हम आबाद, गुस्से से गिरे नीचे सब हो गए सब बर्बाद, भावनाओं का कारागार है लड़ो ना जिससे तुमे प्यार है, गुस्सा न पूछे पानी मिलती नहीं पनाह, किसी का भला न होता इससे ऐसा है ये गुनाह, जिसकी सजा भुगतते है सब गुस्सा थूक दो प्यारे अब. जब तुम सोचो प्यार से तो मिल जाएगा रब।

मेरी जिंदगी में एक इंसान है जिसे बहुत गुस्सा आता है तो ये पोस्ट उसको समर्पित है और सिर्फ उसी को नहीं ये पोस्ट हर उस इंसान को समर्पित है जिसे गुस्सा आता है और उस गुस्से की वजह से वे बहुत सारे अवसरों को छोड़ देते है।

इसकी वजह से उनके रिश्तों में कड़वाहट आ जाती है और अपनी जिंदगी में बहुत कुछ खो देते है। अगर आप भी किसी इंसान को जानते है जिसे बहुत गुस्सा आता है तो उसके साथ इस पोस्ट को जरूर शेयर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 3 )

  1. Ajkal mujhe bahut jod gussa ata he. Pahle me bahut sant hua karta tha. Kaise thk karu

    Reply
  2. Mera nam Kundan h..Bhai mujhe bahut gussa aata h or unnecessary worry rhta hu hamesa ...soch Kar ush aadmi ke bare..Bhai sahi advice do ..ishe kaise dur kare

    Reply
    • 4 din ki jindagi hai mere bhai kisi se bair rakhna nahi, dushman ke sath bhi pyar se raho aur kisi ki bat ka bura mat mano.

      Reply

Leave a Comment

×