200+ Bewafa Shayari, Dard Bhari, Sad Shayari (बेवफा शायरी)

Bewafa Shayari: आप यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं, इसका मतलब आपको किसी ने धोखा दिया है। मोहब्बत में धोखा खाने वाले लोग अपने बेवफा सनम को Bewafa dard bhari shayari भेजकर अपने दिल को तसल्ली देते हैं। इन्हें dhoka shayari, bewafa sad shayari, dard bhari shayari, bewafai sms, status भी कहते हैं। यहाँ हम प्यार में धोखा खाने वाले आशिकों के लिए 2, 4 नहीं बल्कि Bewafa shayari in hindi का huge collection  लेकर आए हैं जिन्हें आप अपने bewafa yaar के साथ शेयर कर सकते हैं।

Bewafa Shayari

Bewafa shayari वे प्रेमी लिखते हैं जिनका प्यार से विश्वास टूट जाता है। ऐसे बहुत से लोग है जिन्हें प्यार, मोहब्बत में bewafai मिलती हैं। वे अपने दिल की दास्तान बयां करने के लिए bewafa shayari का सहारा ले सकते हैं यहाँ हम बेवफा शायरी का large collection लेकर आए हैं, latest shayari on bewafa, bewafa shayari, status, sms & messages in hindi. आप इन बेवफा शायरी को अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ SMS, message के रूप में साझा कर सकते हैं।

2022 Bewafa Shayari in Hindi, Bewafa Dard Bhari Shayari, Bewafa Sad Shayari (बेवफा शायरी)

महान शायरों द्वारा चंद शब्दों में लिखी गई बेवफाई पर शायरी दिल के तमाम दर्द को समेटे हुए हैं। महसूस कीजिए इन शयरियों में कितना दर्द भरा हुआ है: latest Bewafa shayari collection, Bewafa shayari hindi, Bewafa dard bhari shayari, Bewafa sad shayari, Bewafai shayari, Shayari on bewafa.

Bewafa Shayari

वादे भी उसने क्या खूब निभाए हैं,
जख्म और दर्द तोहफे में भिजवाये है,
इस से बढ़कर वफ़ा की मिसाल क्या होगी,
मौत से पहले मौत का सामान ले आये है।

Bewafa Shayari Hindi

कितना और दर्द देगा बस इतना बता दे,
ऐसा कर ऐ खुदा मेरी हस्ती मिटा दे,
यूं घुट घुट के जीने से तो मौत बेहतर है,
मैं कभी न जागूं मुझे ऐसी नींद सुला दे।

Bewafa Shayari in Hindi

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे।

Bewafa Sad Shayari

आंसुओं की बूँदें हैं या आँखों की नमी है,
न ऊपर आसमां है न नीचे ज़मी है,
यह कैसा मोड़ है ज़िन्दगी का,
उसी की ज़रूरत है और उसी की कमी है।

Shayari Bewafa

वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,
हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।

Dard Bhari Bewafa Shayari

क्यों जिंदगी इस तरह तुम दूर हो गए,
क्या बात है जो इस तरह मगरूर हो गए,
हम तरसते रहे तुम्हारा प्यार पाने को,
बेवफा बनकर तुम तो मशहूर हो गए।

Bewafa Shayari image

साथ रोती थी और साथ हँसा करती थी,
एक परी थी वो जो मेरे दिल में बसा करती थी,
किस्मत थी हम जुदा हो गए वरना वो,
मुझे अपनी जान और तकदीर कहा करती थी।

Bewafa Shayari photo

पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम,
गलती हुई क्यू के इंसान थे हम,
आज जिन्हे हमसे नजरें मिलाने मे तकलीफ़ होती है,
कभी उसी शख्स की जान थे हम।

Bewafa Shayari urdu

जहां याद न आये तेरी वो तन्हाई किस काम की,
बिगड़े रिश्ते न बने वो खुदाई किस काम की,
बेशक अपनी मंजिल तक जाना है हमें,
लेकिन जहां से अपने न दिखें वो ऊंचाई किस काम की।

Bewafa Shayari in English

हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहूँचा हम तक, बेवफा इल्जाम आया।

Bewafai Shayari

कभी जो हम से प्यार बेशुमार करते थे,
कभी जो हम पर जान निसार करते थे,
भरी महफ़िल में हमको बेवफा कहते हैं,
जो खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार करते थे।

Bewafa Status

वो छोड़ के गए हमें, न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका,
कोई कसूर नहीं,
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।

2 line Bewafa Shayari

कई बार ये सोच के दिल मेरा रो देता है,
कि तुझे पाने की चाहत में मैंने खुद को भी खो दिया।

Shayari on Bewafa

अब कभी हम ना मिलेंगे एक बार जुदा होने के बाद,
अब बता देना मुश्किलों को भी,
नया घर तलाश कर लो क्योंकि अब आपकी,
सारी मुश्किलें ख़त्म हो जाएँगीहमसे बिछड़ने के बाद।

Dard Bhari Shayari

उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उसमे वफ़ा होती तो न जाने क्या होता खुदा जाने।

Dhoka Shayari

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है।

Bewafai SMS

उन्होंने हमें आजमाकर देख लिया,
इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया,
क्या हुआ हम हुए जो उदास,
उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया।

Bewafai Hindi Shayari

सुना है प्यार करने वाले बड़े अजीब होते है,
खुशी के बदले गम नसीब होते है,
मेरे दोस्त मोहब्बत ना करना कभी,
क्योकि प्यार करने वाले बड़े बदनसीब होते है।

Bewafa Yaar Shayari

उन्होंने हमें आजमाकर देख लिया,
इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया,
क्या हुआ हम हुए जो उदास,
उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया।

Very Sad Bewafa Shayari in Hindi

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है.
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

Bewafa Shayari in Hindi for love

बिखरा वज़ूद, टूटे ख़्वाब, सुलगती तन्हाईयाँ,
कितने हसींन तोहफे दे जाती है ये अधूरी मोहब्बत।

Bewafa Shayari in Hindi for Girlfriend

तेरी बेवफाई का सौ बार शुक्रिया,
याद रख खुदा तुमसे हिसाब लेगा मेरे दर्द का।

Bewafa Shayari 2 line

मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।

Bewafa Poetry

वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली।

Bewafa Shayari for lovers

वो चैन से बैठे हैं मेरे दिल को मिटा कर,
ये भी नहीं अहसास के क्या चीज़ मिटा दी।

Bewafa Shayari in hindi for girlfriend

दिल की तमन्ना इतनी है कुछ ऐसा मेरा नसीब हो,
मैं जहाँ जिस हाल में रहुँ बस तू ही तू मेरे करीब हो।

Bewafa Shayari in Hindi boyfriend

मुहब्बत में क्यों बेवफ़ाई होती है,
सुना था प्यार में गहराई होती है,
टूट कर चाहने वाले के नसीब में,
क्यों सिर्फ तन्हाई होती है।

Bewafa Shayari for girls

बेवफाई का मौसम भी अब यहाँ आने लगा है,
वो फिर से किसी और को देख कर मुस्कुराने लगा है।

Bewafa Shayari for Boys

सारी भूलें तेरी माफ़ की, सब खताओं को तेरी भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफा बनके सिला दिया।

Bewafa ki shayari

बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं।

Bewafa Sanam Shayari

जानते हो मोहब्बत किसे कहते है,
किसी को दिल से प्यार करना,
उसे हार जाना उसके बाद भी उसी की याद में,
जिंदगीभर खामोश होकर जिंदगी गुजार देना।

Bewafa Yaar Tha Shayari

नादान है दिल मेरा कैसे समझाऊं की,
तु जिसे खोना नहीं चाहता.. वो तेरा होना नहीं चाहता।

Bewafa par Shayari

फिर से निकलेंगे तलाश-ए-ज़िन्दगी में,
दुआ करना इस बार कोई बेवफा न निकले।

Bewafai ki Shayari hindi mein

आपके ज़िक्र के बिना कैसे अपनी पूरी कहानी लिखूँ,
बताइये आपको वफ़ा लिखूँ या अपनी जिन्दगानी लिखू।

Two Line Bewafa Shayari

मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना।

Latest Shayari on Bewafa love

अल्फाज़ तो बहुत है मोहब्बत को जताने के लिए,
मगर जो हमारी खामोशी नहीं समझ सका, वो मोहब्बत कैसे समझेगा।

New Bewafa Shayari

वो बेवफा,वफा की कीमत क्या जाने,
वो बेवफा गम-ए-मोहब्बत क्या जाने,
जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर,
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने।

Large Collection of Bewafa Shayari in Hindi

वो तेरे खत तेरी तस्वीर और सूखे फूल,
उदास करती हैं मुझ को निशानियाँ तेरी।

Best Bewafa Shayari

तुमने कहा था आँख भर कर देख लिया करो मुझे,
पर अब आँख भर आती है और तुम नज़र नहीं आते हो।

Bewafa Shayari Collection in Hindi

कितना बुरा लगता है, जब बादल हो और बारिश ना हो,
जब आंखे हो और ख़्वाब ना हो, जब कोई अपना हो और कोई पास ना हो।

Bewafa Shayari for broken aashiq

सारी भूलें तेरी माफ़ की, सब खताओं को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफा बनके सिला दिया।

Bewafa Shayari for Broken heart

जिनकी शायरियों में दर्द होता है,
वो शायर नही किसी बेवफा का दीवाना होता है।

200+ Bewafa Shayari in Hindi

यूँ नाराज़ मत हुआ करो हमसे इतना मेरे सनम,
बदकिस्मत ज़रूर हैं हम मगर बेवफा नहीं।

Bewafa shayari status

इश्क में डूबी हुई कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो वाह-वाह करते हैं।

Bewafa Shayari pic

ऐसे कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है।

Bewafa Shayari dp

मालूम है अब भी मोहब्बत करता है वो मुझसे,
वो थोड़ा सा जिद्दी है लेकिन बेवफा नहीं।

Bewafa Shayari fb

छू गया जब कभी ख्याल तेरा,
दिल मेरा देर तक धड़कता रहा,
कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में,
और घर देर तक महकता रहा।

Bewafa Shayari gulzar

बिखरे थे जो अल्फ़ाज इस कायनात में,
समेंटा है उन्हें चंद पन्नों की किताब में,
अब दुआ नहीं मांगता बस पूंछता हुं खुदा से,
अभी कितनी सांसे और हैं हिसाब में।

वो रो रो कर कहती रही मुझे नफरत है तुमसे,
मगर एक सवाल आज भी,
परेशान कर देता है, अगर उनको हमसे,
नफरत ही थी तो वो मेरे सामने रो क्यों रही थी।

हम तो तेरे दिल की महफ़िल सजाने आए थे,
तेरी कसम तुझे अपना बनाने आए थे,
किस बात की सजा दी तुने हमको बेवफा,
हम तो तेरे दर्द को अपना बनाने आए थे।

हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो ठीक पर हम को भी तबाह किया,
अर्ज़ किया जब ग़ज़लों मे उनकी बेवफ़ाई को तो,
औरों ने तो ठीक उन्होने भी वा वा किया।

काश वो समझते इस दिल की तड़प को,
तो हमें यूँ रुसवा न किया जाता,
यह बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें,
बस एक बार हमें समझ तो लिया होता।

इस मोहब्बत की किताब के, बस दो ही सबक याद हुए,
कुछ तुम जैसे आबाद हुए, कुछ हम जैसेबर्बाद हुए।

दिल मे आरज़ू के दिये जलते रहेगे,
आँखों से मोती निकलते रहेगे,
तुम शमा बन कर दिल में रोशनी करो,
हम मोम की तरह पिघलते रहेंगे।

यूँ है सबकुछ मेरे पास बस दवा-ए-दिल नही,
दूर वो मुझसे है पर मैं उस से नाराज नहीं।

तेरी मासूमियत में इतना फ़रेब था,
कि मैं अपनी जान को बेवफ़ा भी न कह सका।

मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से अश्क,
पूछ रहे है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

जाते-जाते उस बेवफा के आखिरी अल्फाज़ यही थे,
जी सको तो जी लेना मर जाओ तो बेहतर है।

बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,
यहाँ मोहब्बत का दिखावा करने वाले लोग बहुत है।

रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को, ए दुनिया वालो,
मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो इश्क़ का क्या गनाह।

तू भी आईने की तरह बेवफा निकला,
जो सामने आया उसी का हो गया।

महबूब अगर बेवफा हो इश्क अगर सच्चा हो,
मेरे यारों कहानी कुछ अधूरी-सी लगती है।

बेवफा तेरा मासूम चेहरा भूल जाने के काबिल नही,
है मगर तू बहुत खुबसूरत दिल लगाने के काबिल नही।

दोस्तो आज पीने के लिये मना मत करना,
आज किसी बेवफा का जन्मदिन है।

इंसान के कंधों पर इंसान जा रहा था,
कफन में लिपटा हुआ अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली मोहब्बत में बेवफाई की सजा,
वो वफ़ा की तलाश में समशान जा रहा था।

टूट कर बिखर जाते है वो लोग,
मिट्टी की दीवारों की तरह,
जो खुद से भी ज्यादा किसी ओर से,
मोहब्बत किया करते है।

चलो छोड़ो ये बहस कि वफ़ा किसने की,
और बेवफा कौन है,
तुम तो ये बताओ कि आज तन्हा कौन है।

ठीक है बदल जाओ तुम, लेकिन ये याद रखना,
जिसे दिन हम बदल गए, तो तुम करवटे बदलते रह जाओगे।

कभी - कभी जिंदगी इस कद्र तनहा कर देती है,
फिर जिन्दगी से भी प्यारी इंसान को मौत लगने लगती है।

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता,
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।

बेबस निगाहों में है तबाही का मंज़र,
और टपकते अश्क की हर बूंद वफ़ा का इज़हार करती है।

आपकी नशीली यादों में डूबकर,
हमने इश्क की गहराई को समझा,
आप तो दे रहे थे धोखा और,
हमने जानकर भी कभी आपको बेवफा न समझा।

रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,
ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो।

अब तो शायद ही मुझसे मुहब्बत करेगा कोई,
तुम्हारी तस्वीर जो मेरी आखों में साफ़ नजर आती है।

मुझको ढूंढ लेती है रोज़ एक नए बहाने से,
तेरी याद वाक़िफ़ हो गयी है मेरे हर ठिकाने से।

मुस्कुराती पलको पे सनम चले आते हैं,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे गम आते हैं,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं,
जहाँ किसी ने कहा था कि ठहरो हम अभी आते है।

अगर नींद आ जाये तो, सो भी लिया करो.
रातों को जागने से, मोहब्बत लोटकर वापस नहीं आती।

इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद,
जैसे हक़ीक़त मिली हो ख़यालों के बाद,
मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी,
वो बहुत रोई मेरे सवालों के बाद।

जिस किसी को भी चाहो वो बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है।

ज़हर देता है कोई, कोई दवा देता है,
कमबख्त जो भी मिलता है मेरा दर्द बढ़ा देता है।

जहां याद न आये तेरी वो तन्हाई किस काम की,
बिगड़े रिश्ते न बने वो खुदाई किस काम की,
बेशक अपनी मंजिल तक जाना है हमें,
लेकिन जहां से अपने न दिखें वो ऊंचाई किस काम की।

कितना बुरा लगता है, जब आसमान में बादल हों मगर बारिश ना हो,
जब आंखे हों और ख़्वाब ना हो, जब कोई अपना हो मगर करीब ना हो।

बेवफाई उसकी दिल से मिटा के आया हूँ,
ख़त भी उसके पानी में बहा के आया हूँ,
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को,
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

तुम नफरत का धरना कयामत तक जारी रखो,
मैं प्यार का इस्तीफा जिंदगी भर नहीं दूंगा।

जब नफरत करते करते थक जाओ,
तब एक बार हमारी तरफ बस प्यार से देख लेना।

उँगलियाँ आज भी इसी सोच में गुम हैं,
कि कैसे उस बेवफा ने नए हाथ को थामा होगा।

कुछ इस अदा से निभाना है किरदार मेरा मुझको,
जिन्हें मुहब्बत ना हो मुझसे वो नफरत भी ना कर सके।

बेरहम लोग हैं किसी से कभी दिल मत लगाना,
बिना बताए चले जाते है दिल किसी का तोड़कर।

मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली दोस्तो,
वरना हम करके बताते नफरत किसको कहते हैं।

कहती है दुनिया जिसे प्यार, नशा है, खता है,
हमने भी किया है प्यार , इसलिए हमे भी पता है,
मिलती हैं थोड़ी सी खुशियाँ और ज्यादा गम,
मगर मोहब्बत में ठोकर खाने का अलग ही मज़ा है।

नफरतों के जहां में हमको प्यार की बस्तियां बसानी हैं,
दूर रहना कोई कमाल नहीं, पास आओ तो कोई बात बने।

बहुत अजीब सिलसिले है मोहब्बत इश्क मैं,
कोई वफ़ा के लिए रोता है, तो कोई वफ़ा करके रोता है।

महोब्बत और नफरत सब मिल चुके हैं मुझे,
मैं अब तकरीबन मुकम्मल हो चुका हूँ।

तुम समझ लेना बेवफा मुझको, मै तुम्हे मगरूर मान लूँगा,
ये वजह अच्छी होगी, एक दूसरे को भूल जाने के लिये।

बड़ी अजीब मुलाकाते होती थी हमारी,
वो मतलब से मिलते थे. और हमें तो अपनी मोहब्बत से मतलब था।

जिस जिस ने मुहब्बत में, अपने महबूब को खुदा कर दिया,
खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए, उनको जुदा कर दिया।

जुल्मो सितम सहते रहे, एक बेवफा की आस में,
डुबो दिया मुझे दरिया ने, बस दो घूट की प्यास में।

हो सके तो मुड़ कर देख लेना जाते जाते,
तुम्हारे आने के भरम में हम अपनी ज़िन्दगी गुज़ार लेंगे।

सुकून की तलाश में हम दिल बेचने निकले थे,
खरीददार दर्द भी दे गया और हमारा दिल भी ले गया।

टूटे हुए दिलो की जरुरत बहुत हैं,
वरना महफ़िल में रंग जमायेगा कौन,
जब टूटेगा ही नहीं दिल किसी का,
तो मयखाने में पीने आएगा कौन।

हमेशा मेरे साथ रोती थी हँसा करती थी,
एक परी मेरे दिल में बसा करती थी,
किस्मत थी हम जुदा हो गए वरना वो,
मुझे अपनी तकदीर कहा करती थी।

दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है,
सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है,
उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता,
उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है।

हमें तो पहले से ही पता था की तू बेवफ़ा है,
तुझे चाहा इसलिए कि शायद तेरी फितरत बदल जाये।

सब कुछ मिला बस खुदाई के सिवा,
ज़िंदगी बहुत पसंद आई रुसवाई के सिवा,
मेरी चाहत का एहसास भी न होगा,
उसकी हर अदा पसंद आई बेवफ़ाई के सिवा।

बस इतनी सी ही कहानी थी मेरी मोहब्बत की,
मौसम की तरह तुम बदल गए, और फसल की तरह हम बर्बाद हो गए।

तुझे प्यार भी तेरी औकात से ज्यादा किया था,
अब बात नफरत की है तो नफरत ही सही।

देख कर उसको तेरा यूँ पलट जाना,
नफरत बता रही है तूने इश्क बेमिसाल किया था।

अगर इतनी ही नफरत है हमसे तो,
दिल से कुछ ऐसी दुआ करो,
की आज ही तुम्हारी दुआ भी पूरी हो जाये,
और हमारी ज़िन्दगी भी।

उसने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया,
कितने रिश्ते उसकी ख़ातिर यूँ ही तोड़ आया हूँ,
कितने धुंधले हैं ये चेहरे जिन्हें अपनाया है,
कितनी उजली थी वो आँखें जिन्हें छोड़ आया हूँ।

न मेरा एक होगा, न तेरा लाख होगा, तारिफ तेरी ,
न मेरा मजाक होगा, गुरुर न कर अपनी खूबसूरती पर,
मेरा भी खाक होगा, और तेरा भी खाक होगा।

मैंने कब कहा तू मुझे गुलाब दे,
या फिर अपनी मोहब्बत से नवाज़ दे,
आज बहुत उदास है मन मेरा,
गैर बनके ही सही तू बस मुझे आवाज़ दे।

याद बन कर मुझे सताओ ना तुम इस तरह,
तेरी याद में मेरा रो रो कर बुरा हाल है,
बस एक बार मेरी ज़िन्दगी में वापस आ जाओ,
मेरे दिल में बस अब तेरा ही ख्याल है।

उसकी बाहों में सोने का अभी तक शौक है मुझको,
मोहब्बत में उजड़ कर भी मेरी आदत नहीं बदली।

कभी उसने भी हमें मोहब्बत का पैगाम लिखा था,
सब कुछ उसने अपना हमारे नाम लिखा था।

सुना है आज उनको हमारे जिक्र से भी नफ़रत है,
जिसने कभी अपने दिल पर हमारा नाम लिखा था।

गुजरे हैं इश्क़ में हम इस मुकाम से,
नफरत सी हो गई है मोहब्बत के नाम से,
हम वो नहीं जो मोहब्बत में रो कर के जिंदगी को गुजार दे,
अगर परछाई भी तेरी नजर आ जाए, तो उसे भी ठोकर मार दें।

तुम नफरत करो या मोहब्बत, दोनों हमारे हक में बेहतर हैं,
नफरत करोगे तो हम तुम्हारे दिमाग में, मोहब्बत करोगे तो दिल में बस जायेंगे।

खुदा सलामत रखना उन्हें, जो हमसे नफरत करते हैं,
प्यार न सही नफरत ही सही, कुछ तो है जो वो हमसे करते हैं।

हमने वक़्त से बहुत वफ़ा की लेकिन,
वक़्त हमसे बेवफाई कर गया,
कुछ तो हमारे नसीब बुरे थे,
और कुछ लोगों का हमसे जी भर गया।

मुझसे मेरी वफ़ा का सबूत मांग रहा है,
खुद बेवफ़ा हो के मुझसे वफ़ा मांग रहा है।

आंसुओं की किम्मत क्या है, हम बखुबी समझते है,
वो कोई और होंगे बेवफा जो ओस को शबनम समझते है।

इजाज़त हो तो तेरे चहेरे को देख लूँ जी भर के,
मेरी जिंदगी में मैंने आप जैसा कोई बेवफा नहीं देखा।

कुछ जुदा सा है उस बेवफा का अंदाज,
नजर भी मुझ पर है और नफरत भी मुझसे ही।

एहसास बदल जाते हैं बस और कुछ नहीं,
वरना नफरत और मोहब्बत एक ही दिल में होती है।

हम तो बिछड़े थे तुमको अपना अहसास दिलाने के लिए,
मगर तुमने तो बेवफा हमारे बिना ही जीना सीख लिया।

प्यार में बेवाफाई मिले तो गम मत करना,
अपनी आँखे किसी के लिए नम मत करना,
वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे,
मगर तुम अपना प्यार कभी भी कम मत करना।

कैसे यकीन करें हम तेरी मोहब्बत का,
अब यहाँ पर बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से।

फिर नही बसते वो दिल जो एक बार उजड़ जाते हैं,
कब्रे जितनी भी सजा लो पर जिन्दा कोई नही होता।

काश की खुदा ने दिल शीशे के बनाये होते,
तोड़ने वाले के हाथों में जख्म तो आए होते।

बेवफा तेरा नाम था आज अजनबी की जुबान पर,
बात जरा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया।

आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करू तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करते वफ़ा न मिलती ये सजा,
शायद मेरी वफ़ा ने ही तुझे बेवफा बना दिया।

वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था,
खुदा जाने वो क्या लिख रहा था,
मोहब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद,
इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था।

ना वो सपना देखो जो टूट जाये, ना वो हाथ थामो जो छुट जाये,
मत आने दो किसी को करीब इतना, कि उससे दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये।

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको कहां तुम से शिकायत होगी,
ये तो बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।

होंठो ने मुस्कुराने से मना कर दिया आंसुओं ने बह जाने से मना कर दिया,
एक बार जो दिल टूटा प्यार में फिर इस दिल ने दिल लगाने से मना कर दिया।

अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है जमाना,
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो।

महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,
ये दुनिया की रस्म है मोहब्बत मत समझ लेना।

मेरी वफा के क़ाबिल नही हो तुम,
प्यार मिले ऐसे इन्सान नही हो तुम,
दिल क्या तुम पर ऐतबार करेगा,
प्यार मे धोखा दिया ऐसे बेवफा हो तुम।

ज़िन्दगी ये चाहती है कि ख़ुदकुशी कर लूँ,
मैं इस इन्तज़ार में हूँ कि कोई हादसा हो जाए।

हमसे मत पूछो जिंदगी के बारे में,
अजनबी क्या जाने अजनबी के बारे में।

मोहब्बत कर लीजिये किताबो से,
जिन्दगी के पन्ने इन्ही से मुक्कमल होते हैं।

मुहब्बत में क्यों बेवफ़ाई होती है, सुना था प्यार में गहराई होती है,
टूट कर चाहने वाले के नसीब में, क्यों सिर्फ तन्हाई होती है।

कहाँ ढूंढोगे मुझको, मेरा पता लेते जाओ,
बस एक कब्र नई होगी और उस पर कुछ गुलाब के फूल।

मेरे इश्क में कशिश तो बहुत है,
मगर वो पत्थर दिल पिघलता नहीं,
मिले खुदा तो माँगूंगी उसको,
लेकिन ख़ुदा मरने से पहले मिलता नहीं।

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

क्या कहूँ तुझे ख्वाब कहूँ तो टूट जायेगा,
दिल कहूँ, तो बिखर जायेगा।
आ तेरा नाम ज़िन्दगी रख दूँ,
मौत से पहले तो तेरा साथ छूट न पायेगा।

हमें क्या पता था मौसम ऐसे रो पड़ेगा,
हमने तो आसमान को बस अपनी दास्तां सुनाई थी।

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हम ने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हाँ मालूम है क्या चीज़ हैं मोहब्बत यारो,
अपना ही घर जला कर देखें हैं उजाले हमने।

चैन तो छिन चुका है अब बस जान बाकी है,
अभी मोहब्बत में मेरा इम्तेहान बाकी है,
मिल जाना वक़्त पर ऐ मौत के फ़रिश्ते,
किसी को गिला है किसी का फरमान बाकी है।

तेरी नजरों से कभी दूर हो जायेंगे हम,
दूर फिजाओं में कहीं खो जायेंगे हम,
मेरी यादों से लिपटकर रोने लगोगे,
जब ज़मीन को ओढ़ कर सो जायेंगे हम।

मौत की वादियों से,
मैं कभी खुद को बचा तो न पाऊँगी,
पर जब तक चली साँसे,
कसम तेरी ये मोहब्बत निभाऊंगी।

हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी,
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर।

दोस्ती दिल का हर गम भुला देती है,
बंद आँखों में सपने सजा देती है,
दोस्ती की दुनिया जरूर बनाए रखना,
क्योंकि मोहब्बत की दुनिया अक्सर रुला देती है।

नादान किसी की बातों का एतबार मत करना,
भूलकर भी इन जालिमो से प्यार मत करना,
वो क़यामत आने तक आपसे दूर रहेंगे,
किसी के लौटकर आने का कभी इंतजार मत करना।

Bewafa Shayari for gf

दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दिया,
जिस पर मरते थे उसने ही हमे भुला दिया,
हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे,
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया।

तुम दर्द भी हो मेरा और दर्द की दवा भी हो,
मेरी मौत का कारण भी हो तुम, जीने की वजह भी हो,
खुली नज़रो से तुम दूर हो बहुत मुझसे,
बंद आँखों में हर जगह मेरे पास भी हो तुम।

उसने मुझसे वादे तो हजारों किये थे ,
काश एक वादा ही उसने निभाया होता,
मौत का किसको पता कि कब आएगी,
पर काश उसने जिंदा जलाया न होता।

Bewafa Shayari jo dil ko chu jaye

इतनी शिद्दत से चाहा उसे की खुद को भी भुला दिया,
उनके लिए अपने दिल को कितनी ही बार रुला दिया,
एक बार ही ठुकराया उन्होंने,
और हमने खुद को मौत की नींद सुला दिया।

ये थी best bewafa shayari, यहाँ से आप dard bhari bewafa shayari प्राप्त कर सकते हैं। आप चाहे तो इन Bewafa sad shayari को fb, व्हाट्सप्प पर dp, status के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। हमें उम्मीद है कि, आपको इस कलेक्शन में अपनी feeling की बेवफा शायरी मिल गई होगी। I hope कि, bewafai par शायरी पढ़कर आपके दिल को सुकून मिलेगा।

यदि आप love shayari की तलाश कर रहे हैं जिन्हें आप अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ साझा कर सको, तो हमारे नीचे वाले आर्टिकल में आपको 500+ love shayari in hindi में मिल जाएंगी।

यह भी पढ़ें:

हम उम्मीद करते हैं कि, आपको इस आर्टिकल में Bewafa के ऊपर लिखी गई शायरी जरूर पसंद आएंगी। बेवफा शायरी के माध्यम से आप अपने धोखेबाज साथी को अपने दिल की बात समझा सकते हैं। साथी, इन्हें आप सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते हैं।

Avatar for Aslam Khan

Leave a Comment

×