5G क्या है और इंडिया में इसकी शुरुआत कब होगी?

क्या आप जानते हैं 5G क्या है और यह कैसे काम करती है, 5G की हाई स्पीड इंटरनेट सेवा कब तक आएगी और इंडिया में इसकी शुरुआत कब होगी? 5G टेक्नोलॉजी आने पर क्या हमें फिर से नया फोन खरीदना होगा जैसे 3G 4G के आने पर खरीदना पड़ा था? 5G की इंटरनेट स्पीड कितनी होगी और यह 4G से कितना बेहतर होगा। इस पोस्ट में आपको 5G के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में मिलेगी। यहां पर हम आपको 5G के हर एक पहलू के बारे में बताएंगे What is 5G and when will it start in India?

5G Network Kya Hai

हमारी दुनिया में 5G दस्तक देने वाला है और अगले साल की शुरुआत तक कई देशों में 5G हाई स्पीड इंटरनेट सर्विस की शुरुआत हो जाएगी। इन देशों का दावा है कि इस सेवा के आने के बाद इंटरनेट की स्पीड 10 से 20 गुना तक बढ़ जाएगी।

हर कोई इसके बारे में जानने को उत्सुक है और उनके मन में 5जी को लेकर बहुत सारे सवाल है जैसे कि 5G के आने के बाद हमारे जीवन में क्या बदलाव आएगा और यह 4G टेक्नोलॉजी से कितना बेहतर होगा।

इन सभी सवालों के जवाब जानने से पहले 5G से जुड़े कुछ बुनियादी सवालों का जवाब जानना बहुत जरूरी है ताकि आपको सबकुछ सही से समझ आ सके। सबसे पहला सवाल है आखिर क्या है 5G तो सबसे पहले हम इसी के बारे में जान लेते हैं।

5G क्या है? What is 5G in Hindi

5G की फुल फॉर्म है Fifth Generation यानी पांचवी पीढ़ी। ये सेल्यूलर मोबाइल संचार (cellular mobile communications) की नवीनतम पीढ़ी (latest generation) है। यह wireless नेटवर्क तकनीक की पांचवी पीढ़ी (5th Generation) है और यह 4G, 3G और 2जी टेक्नोलॉजी से काफी ज्यादा बेहतर है।

5G प्रदर्शन उच्च डेटा दर, कम विलंबता , ऊर्जा बचत, लागत में कमी, उच्च प्रणाली क्षमता और बड़े पैमाने पर डिवाइस कनेक्टिविटी को लक्षित करता है और इसकी स्पीड बहुत ही फास्ट होगी।

इसकी इंटरनेट स्पीड 20 Gbps से भी ज्यादा होगी जिससे बड़े डाटा को आसानी से डाउनलोड और अपलोड किया जा सकेगा। इससे HD Movie को 1 मिनट में डाउनलोड किया जा सकेगा।

इस सेवा में आपको सुपर फास्ट हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी और साथ ही आप एक साथ कई डिवाइस को बिना इंटरनेट स्पीड कम हुए ही कनेक्ट कर सकोगे, जिससे इंटरनेट पर हैवी ट्रैफिक से छुटकारा मिल जाएगा।

यह एक अल्ट्रा स्पीड नेटवर्क होगा जिसमें 20 गीगाबाइट प्रति सेकंड की स्पीड मिलेगी। आपके मोबाइल पर टच करते ही 1 सेकंड के हजार विभाग में यानी 1 मिली सेकंड से भी कम समय में वेब पेज ओपन हो जाएगा।

इस सर्विस को व्यवसायिक तौर पर शुरू करने और यूजर्स को इसे स्वीकारने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाना दूरसंचार कंपनियों के लिए चुनौती होगा और स्मार्टफोन एवं डिवाइस निर्माता कंपनियों को भी 5जी वायरलेस को अपनाने के लिए अपनी तकनीक को अपग्रेड करना होगा।

5G काम कैसे करता है?

इसमें कई नई तकनीक इस्तेमाल की जाएंगी और यह हाई फ्रिकवेंसी बैंड 3.5GHz से 26GHz या उससे भी ज्यादा पर काम करेगा।  जहां 4G में signals को radiate करने के लिए बड़े high-power cell towers की जरूरत होती है वहीं 5G wireless signals को transmit करने के लिए बहुत सारे small cell stations का इस्तेमाल करेगा। जिन्हें छोटी-छोटी जगह जैसे light poles या बिल्डिंग पर लगाया जा सकता है।

यहां पर multiple small cell से उसका इस्तेमाल किया जाएगा, क्योंकि यह millimeter wave spectrum हमेशा 30GHz से 300GHz के भीतर ही होती है और 5G में हाई स्पीड पैदा करने की ही जरूरत है जो कि केवल short distances से ही travel कर सकते है।

पहले जनरेशन में wireless technology के लिए spectrum की lower-frequency bands का इस्तेमाल होता था जिससे कि distance और interference ज्यादा होती है। इससे जूझने के लिए wireless industry ने 5G नेटवर्क में lower-frequency spectrum इस्तेमाल करने के बारे में सोचा है।

जिससे नेटवर्क ऑपरेटर सिस्टम का इस्तेमाल कर सके जो कि उनके पास पहले से ही मौजूद है। इसकी इंटरनेट स्पीड पहले के जनरेसन से 10 से 20 गुना ज्यादा होगी जो अपने आपमें बहुत ही fast होगी।

4G से 5G कितना अलग होगा?

5G पूरी तरह से 4G तकनीक से अलग होगी। वीडियो technique पर काम करेगा। शुरुआत में अपने ओरिजिनल स्पीड में काम करेगा या नहीं यह भी तय नहीं है क्योंकि यह सब कुछ टेलीकॉम कंपनियों का निवेश और इन्फ्रास्ट्रक्चर पर निर्भर करता है।

फिलहाल 4G पर सर्वाधिक 45 एमबीपीएस मुमकिन है लेकिन एक चीप बनाने वाली कंपनी का अनुमान है कि 5G टेक्नोलॉजी इससे 10 से 20 गुना तक अधिक speed हासिल कर सकती है।

अगर ऐसा होता है तो आप एक हाई डेफिनेशन (full HD) फिल्म को एक minute से भी कम time में पूरा डाउनलोड करने की कल्पना कर सकते हैं।

गर्मी की बात करें तो फौजी से 1 मई को डाउनलोड होने में 5 से 10 मिनट तक का समय लग जाता है, 5G के आने के बाद आपके क्लिक करते ही मूवी डाउनलोड हो जाएगी।

5G की शुरुआत कब होगी?

अमेरिकी देशों में यह सेवा इस साल के अंत शुरू हो सकती है। दक्षिण कोरिया के लिए साल तक इसकी शुरुआत कर सकता है अधिकतर देशों में 5जी साल 2022 तक लॉन्च हो जाएगा और आने वाले कुछ सालों में यह सर्विस दुनिया भर के कई देशों में शुरू हो चुकी होगी।

अमेरिकी दूरसंचार कंपनी AT&T ने पहले से ही 5G के नाम से सेवा की टेस्टिंग शुरू कर दी है वही एक और दूरसंचार अमेरिकी कंपनी Sprint भी इस सेवा को शुरू करने की तैयारी में है।

दक्षिण कोरिया और जापान में 4जी नेटवर्क इसलिए वहां 5G का आना आसान होगा। चीन तो इसका ट्रायल भी शुरू कर चुका है। आने वाले समय में जल्दी आपको 5जी सर्विस शुरू होने की खुशखबरी मिल सकती है।

इंडिया में 5G कब आएगा?

आप सोच रहे होंगे कि 5G भारत में कब आएगा? तो चलिए मैं आपको इसके बारे में बता देता हूं। सरकार ने 5G स्पेक्ट्रम के लिए ऑक्शन की तैयारी शुरू कर दी है सरकार ने ट्राई से कहा है कि 3400 से 3600 MHz bands की नीलामी के लिए शुरुआती दाम सुझाए।

ट्राई ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है और डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम जल्द ही इस संबंध में एक पॉलिसी भी ला सकता है।

अगर भारतीय दूरसंचार कंपनियों की बात करें तो Reliance Jio और Airtel भी इस सेवा के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट की तैयारी में है। एक बार नेटवर्क सेट होने के बाद यूजर्स को 5G compatible devices की जरूरत होगी उसके बाद इस 5जी वायरलेस सेवा का लाभ उठाया जा सकेगा।

भारत में इस साल की आखिरी छह माही में या फिर 2022 की शुरुआत तक 5G सेवा को लॉन्च किया जा सकता है। तब तक स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां भी अपने 5G support smartphone को बाजार में पेश कर सकती हैं।

आपको मैं बता दूं कि भारतीय टेलीकॉम बाजार बहुत प्रतिस्पर्धी हो गया है कंपनियां मुनाफा नहीं कमा पा रही है ऐसे में नई तकनीक में निवेश करना कंपनियों के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है और वह भारी निवेश करने से बच सकती हैं।

भारतीय टेलीकॉम कंपनियां जानती है कि बाजार में इस समय ग्राहकों को 4G डाटा बहुत सस्ते दामों पर मिल रहा है ऐसे में वो 5G पर अधिक खर्च क्यों करेंगे?

अगर ऐसा होता है तो भारत में 5G सर्विस आने में और भी ज्यादा टाइम लग सकता है और हो सकता है इंडिया में 5जी सर्विस 2022 या 2023 तक आ पायें।

5G आने पर क्या फोन बदलना होगा?

शायद, क्योंकि जब 4G आया था तो फोन बदलने पड़े थे इसलिए हो सकता है कि 5जी आने पर हमें 5G सपोर्ट स्मार्टफोन लेना पड़े।

स्मार्टफोन कंपनियों ने इसके बारे में अभी कुछ भी नहीं बताया है लेकिन इतना तो हम कह सकते हैं कि 5जी सर्विस का लाभ उठाने के लिए हमें 5G सपोर्ट मोबाइल की जरूरत होगी।

हालांकि कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि हम 4G सपोर्ट डिवाइस में ही 5G नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकेंगे। लेकिन इस बात की कोई पुष्टि नहीं हुई है।

अब देखना यह है कि मोबाइल कंपनियां क्या करती हैं। 4G डिवाइस में ही 5G काम कर पाएगा या फिर इसके लिए नए स्मार्टफोन लॉन्च किए जाएंगे यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

5G के फायदे - Advantages क्या है?

5G नेटवर्क का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन मिलेगा नेटवर्क प्रॉब्लम की वजह से देरी से होने वाले काम जल्द होने में आसानी होगी।

  • 5G वाले सेवा से सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि लोगों को हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी का लाभ मिलेगा।
  • 5G से 3 घंटे की फिल्म 1 से 5 सेकंड में ही डाउनलोड हो जाएगी।
  • शहरों को नेटवर्क कनेक्टिविटी के माध्यम से स्मार्ट बनाया जा सकेगा।
  • ऑनलाइन वीडियो स्ट्रीम प्लेटफॉर्म्स (YouTube, Hotstar, Netflix इत्यादि) पर यूजर्स बिना बफरिंग के वीडियो देख सकेंगे।
  • ऑनलाइन कंटेंट या वीडियो डाउनलोड अपलोड करने में कम समय लगेगा।
  • इसके माध्यम से सभी नेटवर्क्स को एक ही प्लेटफार्म पर लाया जा सकता है।
  • इसे previous generation के साथ आसानी से मैनेज किया जा सकता है।
  • इस टेक्नोलॉजी से पूरी दुनिया में uniform, uninterrupted और consistent तरीके से कनेक्टिविटी प्रदान किया जा सकता है।
  • अंतरिक्ष, गैलेक्सी और दूसरे ग्रह को देखने बहुत ही आसान हो जाएगा।
  • भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं के बारे में पहले से ही पता लगाया जा सकेगा।
  • इससे एजुकेशन बहुत ही आसान हो जाएगा क्योंकि कोई भी स्टूडेंट बिना किसी परेशानी के दुनिया के किसी भी छोर से ज्ञान प्राप्त कर सकेगा।
  • आप के लिंक पर क्लिक करने के बाद पलक झपकते ही वेबसाइट ओपन हो जाएगी।
  • सबसे बड़ा फायदा यह है कि हाई स्पीड की जरूरत वाले काम आसान हो जाएंगे।

5G के नुकसान - Disadvantages क्या है?

यह तो हम सबको पता है कि अगर किसी चीज से फायदा होता है तो उसके नुकसान भी होते हैं। आइए जानते हैं भाई जी से होने वाले नुकसान के बारे में,

  • 5G में जो स्पीड प्रदान करने की बात की जा रही है उसे अचीव करना मुश्किल प्रतीत होता है
  • इससे infrastructures को डाउनलोड करने में बहुत ज्यादा पैसा लगेगा।
  • इसमें के सिक्योरिटी और प्राइवेसी से रिलेटेड issue है जिन्हें अभी तक solve नहीं किया गया है।
  • बहुत सारे पुराने डिवाइस इस नई टेक्नोलॉजी के साथ कंफर्टेबल नहीं है जिसके चलते उन्हें बदलना पड़ेगा जिस से बहुत नुकसान होगा।
  • अगर आपका मोबाइल 5G सपोर्ट नहीं करता है तो आपको नया मोबाइल खरीदना होगा।
  • 5G की टेक्नोलॉजी अभी भी अंडर प्रोसेस है और इसके पीछे रिसर्च जारी है पता नहीं इस को आने में कितना टाइम लगेगा।

आज के समय में ऐसे बहुत से देश है जहां की अभी तक 2G और 3G टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है और लोगों को अभी वहां 4G के बारे में भी नहीं पता है।

डेवलपमेंट का कोई भी क्षेत्र हो उसके सामने बहुत सारे चैलेंज होते हैं। 5G टेक्नोलॉजी के सामने भी बहुत सारे technology challenges और common challenges है।

5G को लेकर पूछे जाने वाले कुछ सवाल (5G FAQs)

5G के बारे में कुछ आम सवाल जो सबसे ज्यादा पूछे जाते हैं। जिनको हम जवाब के साथ यहां बता रहे हैं।

Q. 5G की शुरुआत कब होगी?

Ans. - इस साल के अंत तक अमेरिका जैसे कुछ देशो में 5जी की शुरुआत हो सकती है।

Q. भारत में 5G कब शुरू होगा?

Ans. - भारत में 5G इंटरनेट 2022 तक लांच कर दिया जाएगा।

Q. क्या 5G मोबाइल भारत में अवेलेबल है?

Ans. - भारत में 5G सर्विस के ऊपर इस साल या 2022 से काम शुरू हो जाएगा और 5G फोंस 2022 तक लोगों को उपलब्ध करवा दिए जाएंगे।

Q. क्या 4G हैंडसेट को 5G में अपग्रेड किया जा सकेगा?

Ans. - इस बारे में अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता लेकिन कुछ जानकारों के अनुसार हम 4जी मोबाइल में 5G नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Q. 5G का फ्यूचर क्या होगा?

Ans. - जैसा कि मैंने ऊपर बताया है कि अभी भी बहुत सारे countries में 4G भी available नहीं है और कुछ कंट्रीज में तो 3GB भी अंडर प्रोसेस है। ऐसे में 5G के फ्यूचर के बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

निष्कर्ष,

5G के बारे में जानने के बाद हम आसानी से समझ सकते हैं कि यकीनन यह 4जी टेक्नोलॉजी से काफी ज्यादा बेहतर होगा और हम कल्पना कर सकते हैं कि 5जी के आने के बाद दुनिया कैसी होगी और कितना कुछ बदल जाएगा।

इस पोस्ट में हमने 5G क्या है, 5G काम कैसे करता है, 5G की शुरुआत कब होगी, भारत में 5G कब लॉन्च होगा और 5G के फायदे और नुकसान के बारे में जाना। मैं आशा करता हूं कि आप लोगों को ये 5G की जानकारी पसंद आई होगी।

यह भी पढ़ें,

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वह भी 5G टेक्नोलॉजी के बारे में जान सकें।

Avatar for Jumedeen Khan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक पेशेवर ब्लॉगर हूं। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। ❤️

Comments ( 9 )

  1. इस उपयोगी और अद्भुत पोस्ट को साझा करने के लिए धन्यवाद। हम वास्तव में आपकी कड़ी मेहनत की सराहना करते हैं। यह मेरे लिए बहुत उपयोगी और ज्ञानवर्धक है।
    हमारे साथ साझा करने के लिए धन्यवाद। बहुत – बहुत धन्यवाद।
    सादर

  2. hellow sir mi ankur kumar soni hu sir aap bahot accha likhate hin aur logo ke gyan me vradhi karte hin
    . sir mujhe vigyan tatha anya chetro me likhne ki behad ruchi hi. mi apne vigyan ke lekh duniya ke saamne lakar logon me vigyanik soch ko badhava dena chahta hu isiliye mine blogging karne suru ki hi. par durbhagyawash mera lekh logon tak nahi pahoch pa raha hi. isliye mi aapse madad maag raha hu. yadi aap mere blog ko host karenge to mi aapka bahot bahot aabhari rahonga. mera uddeshya sirf logon me vigyanik soch ko vikshit karna hin. yadi aap meri is kaam me madad kardenge to mujhe bahot khusi hogi aur mi aaka kritagya hounga

    • इसके लिए आप हमारे ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट कर सकते हो

  3. 5 जी आने को अभी बहुत वक़्त है पर इसकी टेस्टिंग हो चुकी है, जिओ टेलिकॉम कंपनी ही इंडिया में पहली बार 5 जी लाएगी, ऐसा कहा जा रहा है की ये 4 जी से भी सस्ती होने वाली है.

    • "4 जी से भी सस्ती होने वाली है" थोडा सोचो अगर ऐसा है तो इससे company को क्या फायदा, जब 4G से ही ज्यादा मुनाफा होगा तो

      • बिल्कुल सोचने वाली बात है ये, यदि कोई नई कंपनी होगी तो ही संभव है, जैसा कि जियो में हुआ था।

  4. अभी तो 4G की कंडीशन 2.5 G जैसी है, इंडिया में यदि 5G लांच हो भी जाती है तो भी इसकी कैसी स्पीड हम कस्टमर्स को मिलेगी इसका कोई पोजेटिव आसार मालूम नहीं पड़ते.

  5. Helpful post for me BHOT SANDAR post

  6. informative information, thanks for sharing everyone will be excited for 5G

Comments are closed.

×