हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? इतिहास, महत्व और शुरुआत

यह तो आप जानते ही होंगे की 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है लेकिन क्या आपको पता है कि हम 14 सितंबर को हिंदी दिवस क्यों मनाते हैं? अगर नहीं तो, इस पोस्ट में हम आपको यही बताने वाले हैं की, भारत में 14 सितंबर को हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? हिंदी दिवस का उद्देश्य, महत्व। Hindi Diwas Kyu Manaya Jata Hai? Why Celebrate Hindi Diwas in Hindi 2022.

Why Celebrate Hindi Diwas in Hindi

हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा है लेकिन हम हिंदी को भूलते जा रहे हैं। हम खुद हिंदी का पतन कर रहे हैं। आजादी के इतने सालों बाद भी हम हिंदी को वह दर्जा और सम्मान नहीं दिला पाए जो उसे मिलना चाहिए। हमारी युवा पीढ़ी हिंदी से ज्यादा अंग्रेजी बोलने में ज्यादा गर्व महसूस करते हैं।

अगर आपको हिंदी दिवस पर भाषण चाहिए तो नीचे वाले आर्टिकल में जाएं। इस आर्टिकल में आपको हिंदी दिवस पर आसान और सरल भाषण मिल जाएंगे जिन्हें आप अपने स्कूल में हिंदी दिवस के अवसर पर बोल सकते हैं।

इस पोस्ट में आज हम आपको बताएंगे कि, हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? भारत में 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में क्यों मनाया जाता है? हिंदी दिवस का महत्व, हिंदी दिवस की जानकारी।

14 सितंबर को हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है? Why Celebrate Hindi Diwas in Hindi

Hindi diwas celebration in india, Hindi diwas kyu manaya jata hai, Hindi diwas kyu manate hai, Hindi diwas importance in hindi, Hindi diwas history in hindi, Hindi diwas ki jankari hindi mein, About 14 september hindi diwas in hindi 2022.

जब सन 1947 में भारत अंग्रेजों से आजाद हुआ था तो उसके सामने भाषा को लेकर एक बड़ा सवाल था। क्योंकि भारत में अनेकों भाषाएं और बोलियां बोली जाती हैं। तो, उनमें से कौन सी भाषा भारत की राष्ट्रभाषा चुनी जाए, यह मुद्दा काफी उलझा हुआ था लेकिन बहुत महत्वपूर्ण भी था।

इस मुद्दे पर काफी सोच विचार हुए और 14 सितंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा ने यह निर्णय लिया की हिंदी ही भारत की राज्य भाषा होगी। लेकिन कुछ राज्य इससे सहमत नहीं थे, उन्होनें अंग्रेजी को राज्य भाषा का दर्जा देने की मांग की। इसलिए हिंदी के साथ अंग्रेजी को भी राज्य भाषा का दर्जा दिया गया।

आखिरकार, देवनागरी लिपि में लिखी हिंदी को भारत की संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को अंग्रेजी के साथ भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया था।

जब भारत की विधानसभा ने 14 सितंबर 1949 को यह निर्णय लिया की भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी होगी तो देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने कहा की इस दिन के महत्व को देखते हुए 14 सितंबर के दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाए।

इसलिए, इस दिन लिए गए निर्णय को महत्व देने के लिए और हिंदी को प्रसारित करने के लिए हर साल 14 सितंबर के दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

क्या आप जानते हैं, सर्वप्रथम हिंदी दिवस कब मनाया गया था? नहीं तो बता दें की, पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था।

निष्कर्ष,

हम उम्मीद करते हैं कि अब आपको पता चल गया होगा की 14 सितंबर को हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है।

अगर आपको हिंदी दिवस पर शायरी चाहिए तो नीचे वाले आर्टिकल में जाएं।

यह भी पढ़ें:-

अगर आपको इस पोस्ट में हिंदी दिवस की जानकारी अच्छी लगे तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Leave a Comment

×