बीएड (B.Ed Course) क्या है और कैसे करें? योग्यता, सैलरी (B.Ed full form)

हर छात्र पढ़-लिख कर एक अच्छा मुकाम हासिल करना चाहता है। कई छात्र शिक्षक बनना चाहते हैं। आज शिक्षक को समाज में सर्वोच्च स्थान दिया जाता है। शिक्षक होना सभी के लिए गौरव की बात है। ऐसे कई डिग्री कोर्स हैं जिनसे आप शिक्षक बन सकते हैं, उनमें से एक है बी.एड। अगर आप भी टीचर बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम बात कर रहे हैं कि B.Ed क्या है और B.Ed Course कैसे करें।

B.ed course kaise kare

टीचिंग लाइन में करियर बनाने के लिए ज्यादातर युवा बी.एड कोर्स का रास्ता अपनाते हैं। कई ऐसे युवा हैं जो टीचिंग के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं लेकिन उन्हें टीचिंग लाइन कोर्स जैसे बी.एड कैसे करें के बारे में पता नहीं होता है।

उनके लिए जानना जरूरी होता है कि, B.ed क्या है, बी.एड कोर्स कैसे करें, इसके लिए योग्यता, बी.एड करने के बाद रोजगार के अवसर, करियर विकल्प क्या है आदि।

ऐसे छात्रों की मदद के लिए हम इस आर्टिकल में बीएड के बारे में विस्तार से बात कर रहे हैं। आइये जानते हैं।

बीएड कोर्स क्या है? What is B.Ed Course in Hindi

बीएड का पूरा नाम बैचलर ऑफ़ एजुकेशन (Bachelor of education) होता है, जो अभ्यर्थी के अनुरूप शिक्षा के क्षेत्र में टीचिंग कार्य करने के हेतु सरकारी विद्यालय में टीचर बनने के लिए एक B.Ed डिग्री हासिल होना अनिवार्य है।

B.Ed full form - Bachelor of Education

जिसके अंतर्गत छात्रों को टीचर बनने के लिए तैयार किया जाता है बीएड शिक्षण फिल्ड के लिए एक प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है, जिसे कोई भी ग्रेजुएट अभ्यर्थी कर सकते है, जो बीएड के रूप में पूरा दो वर्ष का कोर्स होता है।

बीएड कोर्स कैसे करे? How to Do B.Ed Course in Hindi

अगर आपने एक शिक्षक बनने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया है तो अभ्यर्थी सबसे पहले किसी भी सब्जेक्ट अनुसार 12वीं पास करना होगा।

बारहवीं कक्षा के बाद आपको स्नातक (Graduation) की पढ़ाई करनी होगी, जिसमे विद्यार्थी कम फ़ीस के लिए सरकारी कॉलेज में काउंसिलिंग के आधार पर प्रवेश ले सकते है।

ग्रेजुएशन पूरा होने के पश्चात आपको बीएड कोर्स (B.Ed Course) के लिए अप्लाई करना होगा, जिसमे अभ्यर्थी को काउंसिलिंग अनुसार प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर कॉलेज मिलती है।

वैसे तो बीएड कोर्स करने के लिए अनेक प्राइवेट और सरकारी विश्वविद्यालय है, लेकिन न्यूनतम फ़ीस को देखते हुए गवर्नमेंट महाविद्यालय का चुनाव करना सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है।

बीएड के लिए योग्यता (Qualification for B.Ed)

अभ्यर्थी को बीएड में प्रवेश लेने के लिए आवश्यक योग्यता कोर्स बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (बीए) या बैचलर ऑफ़ साइंस (बीएससी) या बैचलर ऑफ़ कॉमर्स (बीकॉम) या अन्य कोई स्नातक मान्यता प्राप्त बोर्ड से न्यूनतम 50 प्रतिशत मार्क्स के साथ किसी यूनिवर्सिटी से पास होना चाहिए।

यदि हमारे द्वारा बताई गई योग्यता विद्यार्थी के पास है तो वह बीएड में प्रेवश पाने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी में अप्लाई कर सकते है।

बीएड की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for B.Ed in Hindi

अगर आप शिक्षा के फिल्ड में बीएड की तैयारी करना चाहते है तो कोर्स में दाखिला लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है। तो आपको कुछ Prepare tips के बारे में जानना आवश्यक है।

  • अभ्यर्थी सबसे पहले बीएड कोर्स पूरा करने के लिए टाइम-टेबल बनाकर तैयार करें।
  • अभ्यर्थी बीएड के आधार पर एक टीचर बनने के लिए अच्छा कम्युनिकेशन कौशल होना चाहिए।
  • नियमित रूप से सामान्य ज्ञान, दैनिक समाचार और प्रतिदिन नवीनतम जानकारी पढ़ते रहें।
  • आपको इतिहास, संस्कृति, भूगोल, अर्थशास्त्र और सामान्य नीतियों आदि जानकारी होनी चाहिए।
  • अभ्यर्थी अतरिक्त ज्ञान बढ़ाने के लिए विभिन्न पुस्तकों का उल्लेख कर सकते है।
  • बीएड परीक्षा पैटर्न या परीक्षा के स्तर को समझने के लिए पिछलें वर्ष के प्रश्न पत्रों को देखते रहें।
  • बीएड से आधारित सिलेबस को समझें और पर्याप्त रिविजन करते रहना चाहिए।
  • अपनी परीक्षा के अनुसार एक स्ट्रेटेजी बनाकर पुस्तकों का इस्तेमाल करें।
  • बीएड कोर्स से रिलेटेड एलिमिनेशन मेथड का प्रयोग कर शोर्टकट के बारे में जाने।
  • किसी भी एंट्रेंस एग्जाम को कैक्र करने के लिए अभ्यर्थी को स्लॉट बनाकर नोट्स हल करने का अभ्यास करना चाहिए।

बीएड के बाद नौकरी कैसे पाएं? How to Get Job After B.Ed in Hindi

अगर आपने बीएड कोर्स 50 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तर्ण कर लिया है, तो अभ्यर्थी टीजीटी या पीजीटी के अनुरूप नौकरी प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा बी.ए, बी.कॉम, बी.एससी या स्नातक स्तर की परीक्षा में भी 50% अंक है, तो उम्मीदवार ट्रेंड ग्रेजुएट (टीजीटी) के आधार पर कक्षा 1 से लेकर कक्षा 10 तक टीचिंग कर सकते है।

अभ्यर्थी को सरकारी टीचर बनने के लिए बीएड के पश्चात टी.ई.टी (TET) परीक्षा को पास करना होता है, यदि अभ्यर्थी TET Exam उत्तर्ण नहीं कर पाते है। तो, इसके अलावा किसी भी सरकार या निजी स्कूल में कक्षा 12 तक अध्यापन करा सकते है।

बीएड कोर्स फीस (B.Ed Fees)

अगर बीएड फ़ीस की बात कर तो, इस पाठ्यक्रम की अवधि 2 वर्ष निर्धारित होती है, अभ्यर्थी चाहे तो बीएड Distance या Regular के माध्यम से कर सकते है, लेकिन दोनों पाठ्यक्रमों का फ़ीस शुल्क भिन्न होता है।

अभ्यर्थी नियमित रूप से बीएड करते है तो उन्हें पाठ्यक्रम शुल्क लगभग 50,000 से 70,000 देना होता है या अभ्यर्थी बीएड डिस्टेंस से करते है तो उन्हें भुगतान शुल्क कम देना होता है।

यदि आप बीएड कोर्स किसी सरकारी कॉलेज से करते है तो आपको न्यूनतम फ़ीस औसतन लगभग 16,500-32,000 प्रति वर्ष देनी होगी, लेकिन राज्य एवं कॉलेज अनुसार गवर्नमेंट फ़ीस अलग-अलग हो सकती है।

वेतन (Salary)

यदि आप बीएड कर लेते हैं तो आपका प्रारंभ वेतनमान टीजीटी शिक्षक अनुसार लगभग 2.5 लाख से 3.5 लाख रूपये होता है, जबकि पीजीटी शिक्षक के रूप में औसतन 4 से 5 लाख रूपये वार्षिक वेतन होता है।

इसके अलावा, आप प्राइवेट कोचिंग केंद्र, शिक्षा परामर्शदाता, स्कूल और कॉलेज के क्षेत्र में टीचिंग के आधार पर अच्छी आय प्राप्त कर सकते है। तो, शिक्षा के फिल्ड में सरकारी और प्राइवेट के रूप में अनेक रोजगार अवसर होते है।

निष्कर्ष,

तो दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको बी.एड के बारे मे बताया। जैसे, बीएड क्या है और B.Ed course कैसे करें, बी.एड करने के लिए योग्यता, इसके बाद करियर विकल्प आदि।

इसके अलावा, हमने आपको बीएड करने के बाद शिक्षक की सैलरी के बारे में भी बात की। यदि अभी भी आपका इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेन्ट में बता सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

अगर आपको बीएड कैसे करें? की जानकारी अच्छी लगे तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Avatar for Jamshed Khan

मुझे लिखने का बहुत शौक है। इस ब्लॉग पर मैं एजुकेशन और फेस्टिवल से रिलेटेड आर्टिकल लिखता हूँ।

Comments ( 1 )

  1. I am doing graduation from art side. How I can become a government teacher

    Reply

Leave a Comment

×